India
  • search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts
Oneindia App Download

टूट रहा है पूर्वी यूक्रेन, लाखों लोगों से फौरन क्षेत्र खाली करने की अपील, पांचवें महीने जीतने वाला है रूस?

|
Google Oneindia News

कीव, 6 जुलाई : रूस और यूक्रेन के बीच 24 फरवरी से जंग जारी है। कीव जंग की आग में अब पुरी तरह से झुलस चुका है। हालांकि उसे अमेरिका और यूरोप से जो सैन्य सहायता मिल रही हैं, उससे कुछ वक्त के लिए रूस से मुकाबला तो कर रहा है, लेकिन वह विशालकाय पुतिन की सेना का सामना करने में असमर्थ है। जंग के मैदान में तब्दील हो चुके यूक्रेन में मानवीय संकट उत्पन्न हो गया है। जानकारी के मुताबिक, डोनेत्स्क प्रांत के गवर्नर ने वहां के निवासियों से तुरंत घर छोड़कर सुरक्षित स्थानों पर चले जाने का आह्वान किया है।

photo
खतरे में डोनेत्स्क प्रांत

खतरे में डोनेत्स्क प्रांत


खबर के मुताबिक, डोनेत्स्क प्रांत में 3 लाख 50 हजार लोग रहते हैं। अगर ये लोग यूक्रेन के इस क्षेत्र को छोड़कर भागते हैं तो यह युद्ध के समय का सबसे बड़ा पलायन होगा। मंगलवार को , डोनेत्स्क प्रांत के गवर्नर पावलो किरिलेंको ने अपने नागरिको से कहा कि, अगर जान बचानी है तो आप लोग तुरंत घर खाली करके यहां से कहीं दूर सुरक्षित जगहों पर चले जाए। बता दें कि, रूस के रक्षा मंत्री सर्गेई शोइगू ने टेलीविजन पर प्रसारित एक बैठक में सोमवार को पुतिन को बताया था कि रूस की फौज ने लुहांस्क पर कब्जा कर लिया है। लुहांस्क पूर्वी यूक्रेन में स्थित है और यह पड़ोसी डोनेत्स्क प्रांत यूक्रेन के औद्योगिक गढ़ डोनबास का हिस्सा हैं।

लुहांस्क पर रूस का कब्जा

लुहांस्क पर रूस का कब्जा

बता दें कि लुहांस्क पर रूस का कब्जा हो चुका है और अब खतरा डोनेत्स्क पर मंडरा रहा है। किसी भी वक्त पुतिन की सेना इस इलाके को पूरी तरह तहस-नहस कर सकते हैं। इसको देखते हुए गवर्नर ने लोगों से जान बचाने के लिए भागने की अपील की है।

जंग अपने अंजाम तक पहुंच रहा है

जंग अपने अंजाम तक पहुंच रहा है

बता दें कि, रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने यूक्रेन युद्ध को अपने अंजाम तक पहुंचाने का वादा किया था, वहीं यूक्रेन के राष्ट्रपति ने जेलेंस्की ने भी यूक्रेन से रूसी सेना को भगाने का प्रण लिया था। इन दोनों प्रण के एक साथ टकराने के कारण आज जंग 5वें महीने में प्रवेश कर चुका है और हालात और भी अधिक बिगड़ गए हैं।

डोनेत्स्क प्रांत भी हो जाएगा तबाह!

डोनेत्स्क प्रांत भी हो जाएगा तबाह!

अब लुहांस्क पर जीत हासिल करने के बाद रूसी सेना यूक्रेन के अंतिम मजबूत गढ़ डोनेत्स्क प्रांत को तबाह और बर्बाद करते हुए उसे अपने कब्जे में लेने के लिए आगे बढ़ चुका है। ऐसे में लोगों को वहां से जल्द से जल्द बाहर निकल जाने की अपील कर रहे हैं। यूक्रेन की सेना ने पुष्टि की है कि उनका पूर्वी शहर लिसिचांस्क अब रूसी बलों के नियंत्रण में चला गया है।

 रूस के आगे कमजोर पड़ा यूक्रेन

रूस के आगे कमजोर पड़ा यूक्रेन

आर्मी जनरल स्टाफ़ ने कहा, "लिसिचांस्क के लिए भीषण युद्ध के बाद यूक्रेन के रक्षा बलों को अपनी पोज़िशन से पीछे हटने पर मजबूर होना पड़ा।" इससे पहले रूस के रक्षा मंत्री सर्गेई शोइगू ने कहा था कि उनके बलों ने लिसिचांस्क पर कब्ज़ा कर लिया है और पूरे लुहांस्क क्षेत्र पर पूरी तरह नियंत्रण स्थापित कर लिया है। यूक्रेन के सैनिकों को वहां से हटा दिया गया है। यूक्रेनी सेना के जनरल स्टाफ़ ने कहा, "यूक्रेन के सैनिकों की जान बचाने के लिए, उनकी वापस बुलाने का फ़ैसला लिया गया।"

ये भी पढ़ें :अफ्रीकी देश जिम्बॉब्वे पर कब्जे की तैयारी में जुटा चीन, संसद बनाने में खर्च कर दिए 14 करोड़ डॉलरये भी पढ़ें :अफ्रीकी देश जिम्बॉब्वे पर कब्जे की तैयारी में जुटा चीन, संसद बनाने में खर्च कर दिए 14 करोड़ डॉलर

Comments
English summary
The governor of Donetsk province, the only province in the eastern Donbas region still under Ukrainian control after Russian troops on Monday said they had seized neighbouring Luhansk, has urged the more than 350,000 residents living there to flee Russia’s escalating bombing offensives.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X