• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

कैपिटल हिल हिंसा पर बड़ा खुलासा: रैली बुलाने वाले ऑर्गेनाइजर्स को डोनाल्ड ट्रंप कैम्पेन ने दिए थे करोड़ों डॉलर

|

Capitol Hill Riot big Breaking: वाशिंगटन: अमेरिकी संसद पर 6 जनवरी को हुई रैली और हिंसक झड़प को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है। खुलासा हुआ है कि जिन इवेंट कंपनियों और ऑर्गेनाइजर्स ने कैपिटल हिल पर ट्रंप के समर्थन में रैली का आयोजन किया था, उन कंपनियों और ऑर्गेनाइजर्स को डोनाल्ड ट्रंप की चुनावी कैम्पेन ने पिछले दो सालों में 2.7 मीलियन डॉलर दिए थे।

CAPITOL RIOT

रैली बुलाने वाले ऑर्गेनाइजर्स को अरबों दिए

खुलासा हुआ है कि डोनाल्ड ट्रंप के चुनावी कैंपेन ने पिछले दो सालों से डोनाल्ड ट्रंप के प्रचार प्रसार के लिए ऑर्गेनाइजर्स और इवेंट कंपनियों से करार किया था और उन्हीं ऑर्गेनाइजर्स ने 6 जनवरी को भी डोनाल्ड ट्रंप के समर्थन में लोगों की भीड़ को कैपिटल हिल पर जमा किया था, जिस भीड़ ने बाद में जाकर अमेरिकी संसद पर हमला कर दिया था, जिसमें पांच लोगों की मौत हुई थी। सेंटर फॉर रिस्पॉंसिव पॉलिटिक्स की रिपोर्ट में दावा किया गया है कि ट्रंप की कैंपेन और रैली बुलाने वाले ऑर्गेनाइजर्स के बीच वित्तीय लेनदेन किया गया था। इस रिपोर्ट के खुलासे के बाद डोनाल्ड ट्रंप के लिए मुसीबतें और बढ़ सकती हैं। अमेरिकन चुनाव आयोग की रिपोर्ट के मुताबिक सबसे आखिरी बार डोनाल्ड ट्रंप की कैम्पेन ने रैली बुलाने वाले ऑर्गेनाइजर्स को 23 नवंबर को भुगतान किया था।

8 ऑर्गेनाइजर्स को दिए गये 2.7 मीलियन डॉलर

रिपोर्ट में कहा गया है कि डोनाल्ड ट्रंप के चुनाव प्रचार के लिए आठ ऑर्गेनाजर्स को ट्रंप की कैम्पेन ने अपने साथ जोड़ा था। जिनमें मैगी मुलवेने कंपनी को ट्रंप कैम्पेन ने 23 नवंबर को एक लाख 38 हजार डॉलर का भुगतान किया था। खुलासा हुआ है कि 6 जनवरी को कैपिटल हिल पर लोगों की भीड़ को बुलाने वाली कंपनियों में एक कंपनी मैगी मुलवेने की भी थी। मैगी मुलवेने, डोनाल्ड ट्रंप के पूर्व चीफ ऑफ स्टाफ मिक मुलवेने के भतीजे हैं, जिन्होंने कैपिटल हिल हिंसा के बाद अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। आपको बता दें कि ट्रंप के समर्थन में इन कंपनियों ने लोगों की भीड़ को कैपिटल हिल के पास उस वक्त जमा किया था, जब कैपिटल हिल के अंदर इलेक्टोरेल कॉलेज वोटों की गिनती हो रही थी। ठीक उसी वक्त डोनाल्ड ट्रंप ने भड़काव बयान दिया था और उनके समर्थकों ने अमेरिकी संसद पर हमा कर दिया।

कैम्पेन एडवाइजर ने आरोपों से किया इनकार

इस खुलासे पर डोनाल्ड ट्रंप के कैम्पेन एडवाइजर ने कहा कि कैम्पेन ने कैपिटल हिल पर भीड़ जमा करने वाली कंपनी और ऑर्गेनाइजर्स को इस रैली के लिए कोई पैसे नहीं दिए थे। इस रैली को बुलाने के लिए कैम्पेन कमेटी ने एक रुपये भी खर्च नहीं किए हैं। कैम्पेन कमेटी का कोई भी स्टाफ इस रैली को बुलाने में शामिल नहीं था।

डोनाल्ड ट्रंप कैम्पेन ने सबसे ज्यादा भुगतान 'इवेंट स्टेटजिक इंक' को किया । इस कंपनी को डोनाल्ड ट्रंप कैम्पेन ने 1.7 मीलियन डॉलर का भुगतान किया। और सबसे चौंकाने वाली बात ये है कि 'इवेंट स्टेटजिक इंक' का एक मालिक जस्टिन कैपरोल कैपिटल हिल रैली का प्रोडक्शन मैनेजर था, जबकि दूसरा मालिक टिम उंस कैपिटल हिल रैली का स्टेज मैनेजर था।

8 फरवरी को अमेरिकन सीनेट में ट्रंप का ट्रायल होना है उससे पहले ये खुलासा निश्चित तौर पर डोनाल्ड ट्रंप के लिए मुश्किलें बढ़ाने वाला होगा। अगर 8 फरवरी को डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ सीनेट में महाभियोग पारित हो जाता है, तो उनके ऊपर कैपिटल हिल हिंसा मामले में गिरफ्तारी की भी तलवार लटक सकती है।

डोनाल्ड ट्रंप को मिलेगी सजा! 8 फरवरी को सीनेट में चलेगा ट्रायल, पार्टी के कई सांसद ट्रंप के खिलाफ

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Big Reveal on Capitol Hill Violence: Trump's Campaign gave millions of dollars to rally organizers
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X