• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

हाफिज सईद पर ट्रंप प्रशासन का नया बयान, पाकिस्‍तान में गिरफ्तारी को बताया दिखावा

|
Google Oneindia News

वॉशिंगटन। अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप जो पाकिस्‍तान में आतंकी हाफिज सईद की गिरफ्तारी को लेकर खुश थे, अब उनके ही प्रशासन की ओर से उसकी गिरफ्तारी पर सवालिया निशान लगाए गए हैं। ट्रंप प्रशासन ने शुक्रवार को जमात-उद-दावा (जेयूडी) के मुखिया की पाकिस्‍तान में हुई गिरफ्तारी को लेकर कई तरह की आशंकाएं जाहिर की है। ट्रंप प्रशासन की मानें तो सईद को पहले भी अरेस्‍ट किया गया है और उस समय भी उसकी गिरफ्तारी से कोई ज्‍यादा असर नहीं पड़ा था। आतंकी संगठन लश्‍कर-ए-तैयबा की शुरुआत करने वाला हाफिज सईद मुंबई आतंकी हमलों 26/11 और साल 2001 में भारत की संसद हुए हमलों का मास्‍टरमाइंड है।

hafiz-saeed

यह भी पढ़ें- पाकिस्‍तान में फिर गिरफ्तार हुआ 26/11 का मास्‍टरमाइंड आतंकी हाफिज सईदयह भी पढ़ें- पाकिस्‍तान में फिर गिरफ्तार हुआ 26/11 का मास्‍टरमाइंड आतंकी हाफिज सईद

इस बार पाकिस्‍तान ठोस कार्रवाई करे

ट्रंप प्रशासन की तरफ से पाक पीएम इमरान खान की सोमवार से शुरू हो रही अमेरिका यात्रा को लेकर अहम बयान जारी किया गया है। एडमिनिस्‍ट्रेशन के एक सीनियर ऑफिसर ने कहा, 'हमने पहले भी देखा है कि ऐसा हुआ है। इस बात हम कोई दिखावा नहीं चाहते हैं बल्कि हमें कोई कंक्रीट एक्‍शन देखना है और हम देखना चाहते हैं कि क्‍या ठोस कार्रवाई की जाती है।' हाफिज सईद को यूनाइटेड नेशंस (यूएन) की तरफ से ग्‍लोबल टेररिस्‍ट घोषित किया जा चुका है। साल 2001 में जब संसद पर हमले के बाद से लेकर अब तक उसे सात बार अरेस्ट किया गया है । ट्रंप प्रशासन के इस अधिकारी ने आगे कहा, 'हम यह बात सुनिश्चित कर देना चाहते हैं कि अमेरिका इस बात से बखूबी वाकिफ है कि पहले क्‍या हुआ है। हमें इस बात पर कोई भी शक नहीं है कि पाकिस्‍तान की मिलिट्री इंटेलीजेंस किस तरह से इन आतंकी संगठनों की मदद कर रही है। इसलिए अब हम ठोस कार्रवाई होते देखना चाहते हैं।' इस अधिकारी ने यह भी कहा कि पाकिस्‍तान ने दबाव में आकर हाफिज सईद को गिरफ्तार किया है।

अमेरिकी कांग्रेस ने कहा पाक में आजाद हाफिज

गुरुवार को पाकिस्तान ने 26/11 के मास्‍टरमाइंड और लश्‍कर-ए-तैयबा के फाउंडर हाफिज सईद को गिरफ्तार किया है। उसकी गिरफ्तारी के बाद ट्रंप ने ट्वीट कर पाक के इस कदम की तारीफ की थी। उसके बाद अमेरिकी कांग्रेस की विदेश मामलों पर बनी कमेटी ने ट्रंप को याद दिलाया है कि हाफिज सईद की कोई तलाश नहीं कर रहा था बल्कि वह पूरी आजादी के साथ पाकिस्‍तान में रह रहा था। ट्वीट में लिखा, 'आपकी जानकारी के लिए बता दें कि कोई भी पिछले 10 वर्षों से उसकी तलाश नहीं कर रहा था। बल्कि वह आजादी के साथ रह रहा था।' इस ट्वीट में ट्रंप को यह भी याद दिलाया गया है कि किस तरह से हाफिज सईद को साल दर साल गिरफ्तार किया गया और फिर आजाद कर दिया गया। ट्वीट में लिखा गया, 'हाफिज सईद को दिसंबर 2001, मई 2002, अक्‍टूबर 2002, अगस्‍त 2006 (दो बार), दिसंबर 2008, सितंबर 2009 और जनवरी 2017 में गिरफ्तार किया गया और बाद में रिलीज भी कर दिया गया।'

English summary
President Donald Trump administration now says that Hafiz Saeed's arrest in Pakistan is just window dressing and made no difference.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X