• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

केमिकल से लदे जहाज में आग के बाद अब श्रीलंका में हो सकती है 'तेजाब' की बारिश, लोगों को किया गया अलर्ट

|
Google Oneindia News

कोलंबो, 29 मई। श्रीलंका में कोलंबो तट के करीब खड़े मालवाहक जहाज में 20 मई को आग लगने से हड़कंप मच गया था। हालांकि कड़ी मशक्कत के बाद काफी हद तक आग पर तो काबू पा लिया गया लेकिन उसकी वजह से अब श्रीलंका से 'तेजाब' की बारिश होने का डर बढ़ गया है। दरअसल, श्रीलंका की शीर्ष पर्यावरण संस्था ने सरकार को आगाह किया कि पिछले सप्ताह जिस जहाज में आग लगी थी, उससे उससे नाइट्रोजन डाइऑक्साइड के उत्सर्जन के कारण अम्लीय वर्षा हो सकती है।

    Sri Lanka पर Acid Rain का खतरा!, India ने दिया मदद का भरोसा, जानिए क्या है ये ? | वनइंडिया हिंदी
    जहाज में आग के बाद तेजाब की बारिश का खतरा

    जहाज में आग के बाद तेजाब की बारिश का खतरा

    पर्यावरण संस्था के अधिकारियों का कहना है कि कोलंबो तट पर सिंगापुर के ध्वज वाले जहाज में लगी आग की वजह से श्रीलंका के आसमान से अम्लीय वर्षा हो सकती है, जो लोगों और यहां रह रहे जीवों के लिए काफी हानिकारक होगी। अधिकारियों ने लोगों से मौसम खराब होने की स्थिति में सतर्क रहने के लिए कहा है। बता दें कि रसायन और कॉस्मेटिक्स के लिए आवश्यक कच्चे सामान से लोड मालवाहक जहाज एमवी 'एक्स-प्रेस पर्ल' गुजरात के हजीरा से कोलंबो बंदरगाह के लिए निकला था।

    जहाज पर लोड था टनों में नाइट्रिक एसिड

    जहाज पर लोड था टनों में नाइट्रिक एसिड

    20 मई, 2021 से जहाज में कोलंबो तट से करीब 18 किलोमीटर दूर उत्तर पश्चिम में भीषण आग लग गई। बताया जा रहा है कि जहाज बंदरगाह में प्रवेश का इंतजार कर रहा था। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक जहाज पर 325 मीट्रिक टन ईंधन और 25 टन हानिकारक नाइट्रिक एसिड लोड था। समुद्री पर्यावरण सुरक्षा प्राधिकरण (एमईपीए) के अध्यक्ष धर्शानी लहंदापुरा के हवाले से स्थानीय मीडिया ने कहा कि एक्स-प्रेस पर्ल से काफी ज्यादा मात्रा में नाइट्रोजन डाइऑक्साइड का उत्सर्जन हो रहा है।

    बारिश की चपेट में आने से बचें

    बारिश की चपेट में आने से बचें

    धर्शानी लहंदापुरा ने आगे कहा, 'नाइट्रोजन डाइऑक्साइड का उत्सर्जन की वजह से बारिश के मौसम में थोड़ी अम्लीय बारिश हो सकती है, लोगों को इसकी चपेट में आने से बचने की सलाह दी जाती है। खासतौर पर तटीय इलाकों में रहने वाले लोगों को बारिश के दौरान घरों से बाहर नहीं निकलना चाहिए।' आधिकारी ने आगे कहा, मालवाहक जहाज पर लगी आग पर काफी हद तक काबू पा लिया गया है, प्रदूषण से बचने के लिए जल्द से जल्द तटों की सफाई के लिए उचित कदम उठाए जाएंगे।

    भारत ने भेजी मदद

    भारत ने भेजी मदद

    बता दें कि जहाज पर लगी आग को बुझाने में मदद करने के लिए भारतीय तटरक्षक बल ने (आईसीजी) ने अपने दो जहाजों को वैभव और वज्र को मौके पर भेजा है। तटरक्षक बल के दोनों जहाज वैभव और वज्र, बाहरी फोम अग्निशमन और प्रदूषण प्रतिक्रिया क्षमताओं से लैस अपतटीय गश्ती जहाज हैं। रक्षा मंत्रालय ने बताया कि इन जहाजों को श्रीलंकाई अधिकारियों द्वारा आईसीजी की सहायता मांगने के बाद तैनात किया गया। इसके अतिरिक्त किसी भी तरह की तत्काल सहायता के लिए कोच्चि, चेन्नई और तूतीकोरिन में भारतीय तटरक्षक बल के जहाजों को स्टैंडबाई मोड पर रखा गया था।

    यह भी पढ़ें: अमेरिका: बाइडन लाए छह ट्रिलियन डॉलर का बजट प्रस्ताव, कहाँ-कहाँ होगा ख़र्च?

    English summary
    There may be acid rain in Sri Lanka reason for fire in chemical-laden ship X- Press Pearl
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X