• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

बालाकोट हमले के बाद मदरसे का पहला आंखों देखा हाल

By Bbc Hindi
मदरसा
BBC
मदरसा

बालाकोट में ये वो जगह है जिसे भारत ने 26 फ़रवरी को अपनी वायुसेना के हमले में तबाह करने का दावा किया था.

भारत ने इसे चरमपंथियों का कैंप बताते हुए कहा था कि इस परिसर पर हमला करके उसने बड़ी संख्या में जैश-ए-मोहम्मद के 'आतंकवादियों' का 'ख़ात्मा' किया है.

पाकिस्तान का कहना था कि इस हवाई हमले में किसी की जान नहीं गई और जिस परिसर पर हमला करने का दावा भारत कर रहा है, वह मदरसा है और उसे कोई नुक़सान नहीं पहुंचा है.

ये जगह पाकिस्तान के ख़ैबर पख़्तूनख़्वा राज्य में है.

बालाकोट
BBC
बालाकोट

पाकिस्तान सरकार ने बीबीसी समेत पूरे मीडिया को आश्वस्त किया था कि अगले ही दिन उन्हें घटनास्थल पर ले जाया जाएगा. मगर यह बाद में सरकार अपने वादे से पीछे हट गई थी.

इसके बाद मीडिया प्रतिनिधियों को उस पहाड़ी की चोटी पर भी नहीं जाने दिया गया था, जहां मदरसा स्थित है.

10 अप्रैल, 2019 को यानी हमले के 43 दिन बाद पाकिस्तान सरकार ने इस्लामाबाद में मौजूद विदेशी मीडिया और कुछ विदेशी राजनयिकों को घटनास्थल का दौरा करवाया.

इनमें बीबीसी संवाददाता उस्मान ज़ाहिद भी मौजूद थे.

मदरसे का रास्ता
BBC
मदरसे का रास्ता

बीबीसी संवाददाता ने क्या देखा

जब हमारे संवाददाता ने पाकिस्तान के अधिकारियों से पूछा कि यह दौरा इतनी देरी से क्यों करवाया जा रहा है तो उन्होंने कहा कि हालात इतने अस्थिर थे कि लोगों को यहां लाना बहुत मुश्किल था.

अधिकारियों ने कहा कि अब जाकर उन्हें लगा कि यह मीडिया को यहां लाने का उपयुक्त समय है.

हालांकि, हमारे संवाददाता ने कहा कि यह बात सभी को मालूम है कि इससे पहले प्रशासन ने स्थानीय पत्रकारों और समाचार एजेंसी रॉयटर्स की एक टीम को मौक़े पर जाने से रोक दिया था. मगर पाकिस्तान सरकार अब इस बात से इनकार कर रही है.

मदरसे के बोर्ड पर लिखा था कि मदरसा 27 फ़रवरी से लेकर 14 मार्च तक बंद था.

मदरसे का बोर्ड
BBC
मदरसे का बोर्ड

हमारे संवाददाता ने एक अध्यापक और एक छात्र से इस बारे में बात की तो उन्होंने कहा कि हमले के बाद आपातकालीन क़दम उठाते हुए इसे बंद किया गया था और यह अब भी बंद है.

हमारे संवाददाता ने उनसे पूछा कि अगर ऐसा है तो इतने सारे छात्र यहां पर क्यो हैं? इस पर उन्होंने कहा कि मदरसा तो बंद ही है, यहां जो छात्र मौजूद हैं वो स्थानीय हैं.

मदरसे में मौजूद छात्र
BBC
मदरसे में मौजूद छात्र

हमारे संवाददाता ने कहा कि उन्हें वहां पर कुछ लोगों से बातचीत करने की इजाज़त दी गई थी मगर जब उन्होंने ऐसा करने की कोशिश की तो उनसे कहा गया- जल्दी करो और बहुत देर तक बात मत करो.

संवाददाता के मुताबिक़ यह काफ़ी स्पष्ट था कि उन पर बंदिशें डाली जा रही थीं और उन्हे सभी से बात नहीं करने दी जा रही थी.

BBC Hindi
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
The first sight of the madrasa after the Balakot attack

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X