• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

तालिबान का बड़ा ऐलान- अफगानिस्तान के पास जल्दी ही होगी पेशेवर और मजबूत सेना

|
Google Oneindia News

काबुल, 15 सितंबर: तालिबान की ओर से कहा गया है कि वो देश में एक पेशेवर और मजबूत सेना तैयार करने के लिए काम कर रहा है। देश की सेना को लेकर हुए सवाल पर तालिबान की ओर से कार्यवाहक सेना प्रमुख बनाए गए कारी फसीहुद्दीन ने कहा कि अफगानिस्तान के पास भी जल्दी ही सीमाओं की रक्षा के लिए एक नियमित और अनुशासित सेना होगी। बुधवार को काबुल में एक प्रेस वार्ता में उन्होंने ये बात कही है।

देश की सीमाओं की सुरक्षा के लिए तैयार होगी फौज

देश की सीमाओं की सुरक्षा के लिए तैयार होगी फौज

कारी फसीहुद्दीन ने कहा कि निकट भविष्य में एक नियमित, अनुशासित और मजबूत सेना के गठन पर निर्णय लेने के लिए चर्चा चल रही है। जल्दी ही इस पर निर्णय हो जाएगा। इसके बाद अफगानिस्तान की सीमाओं की रक्षा के लिए सैनिकों को प्रशिक्षित किया जाएगा। ये पूरी तरह से किसी देश की पेशेवर सेना की तरह ही होगी। देश में विरोध प्रदर्शनों पर उन्होंने कहा, हम गृहयुद्ध छिड़ने नहीं देंगे। सुरक्षा और स्थिरता को भंग करने वालों के साथ सख्ती की जाएगी और तालिबान का विरोध करने वालों को तुरंत गिरफ्तार किया जाएगा।

अफगान सेना अमेरिका के लौटने के साथ ही हो गई थी खत्म

अफगान सेना अमेरिका के लौटने के साथ ही हो गई थी खत्म

तालिबान के एक और नेता अहमदुल्ला मुत्तकी ने भी एक ट्वीट कर कहा है कि अफगानिस्तान के पास जल्द ही एक सुव्यवस्थित सेना होगी। बता दें कि अफगानिस्तान की फौज को अमेरिका ने ही ट्रेनिंग दी थी। अगस्त में जब अमेरिकी सेना अफगानिस्तान से लौटने लगी तो अफगान सेना ने तालिबान का सामना नहीं किया। कुछ सैनिक पड़ोसी देशों में भाग गए तो कुछ ने आत्मसमर्पण कर दूसरा काम शुरू कर दिया। फिलहाल अफगानिस्तान का शासन, सुरक्षा व्वयस्था और सारा इंतजाम तालिबान के लड़ाकों के हाथों में ही है।

अफगानिस्‍तान में तेजी से ताकत बढ़ा रहा अल कायदा, कर सकता है अमे‍रिका पर हमलाअफगानिस्‍तान में तेजी से ताकत बढ़ा रहा अल कायदा, कर सकता है अमे‍रिका पर हमला

 7 सितंबर को किया था तालिबान ने अंतरिम सरकार का ऐलान

7 सितंबर को किया था तालिबान ने अंतरिम सरकार का ऐलान

अफगानिस्तान से अमेरिकी फौज के लौटने के बाद बीते महीने तालिबान ने काबुल पर कब्जा कर लिया था। 15 अगस्त को तालिबान के काबुल में घुसकर कब्जा कर लिया था। इसके बाद तालिबान ने 7 सितंबर को अफगानिस्तान की कार्यवाहक सरकार का ऐलान किया था। जिसमें मुल्ला हसन अखुंद बना सर्वोच्च नेता बनाया गया है। मुल्ला अब्दुल गनी बरादर उप प्रधानमंत्री हैं। सिराजुद्दीन हक्कानी को गृहमंत्री, मुल्ला अमीर खान मुत्तकी को विदेश मंत्री, शेर मोहम्मद अब्बास स्तनिकजई को उप विदेश मंत्री बनाया गया है। मुल्ला याकूब को रक्षा मंत्री और मुल्ला हिदायतुल्ला बदरी को वित्त मंत्री बनाया गया है।

    Mullah Ghani Baradar Afghanistan: मौत की खबरों के बीच टीवी पर दिखा मुल्ला गनी बरादर | वनइंडिया हिंदी

    English summary
    Taliban says Afghanistan will have regular and discipline army soon
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X