• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Taiwan की सीमा में घुसे 18 चीनी जेट, ताइवान एयरफोर्स ने खदेड़ा, दोनों देशों में तनाव चरम पर

|

ताइपेई। चीन और उसके पड़ोसी ताइवान (Taiwan) के बीच रिश्ते बेहद तनाव भरे दौर में हैं। शुक्रवार को चीन के 18 लड़ाकू जहाजों ने ताइवान की सीमा में घुसकर उसे उकसाने की कोशिश की। चीन की इस हरकत का ताइवान भी चुप नहीं रहा। ताइवान ने चीन की मनमानी का मुंहतोड़ जवाब दिया है। चीन उकसावे की ये कार्रवाई ऐसे समय में कर रहा है जब ताइपे में एक वरिष्ठ अमेरिकी अधिकारी और ताइवान की राष्ट्रपति साइ-इंग-वेन के बीच बातचीत होनी है।

अमेरिकी अधिकारी की एंट्री से चीन नाराज

अमेरिकी अधिकारी की एंट्री से चीन नाराज

अमेरिकी अधिकारी के ताइवान में आने को लेकर चीन भन्नाया हुआ है। यही वजह है कि एक दिन पहले भी चीन के एंटी सबमरीन जेट्स ने ताइवान की सीमा में उड़ान भरी थी। शुक्रवार को एक साथ 18 चाइनीज फाइटर प्लेन ताइवान की सीमा में घुसकर उड़ान भरने लगे। चीन की कार्रवाई को देखते हुए ताइवान की वायु सेना तुरंत हरकत में आई और उसके विमानों ने चीन के विमानों को खदेड़ने के लिए उड़ान भरी।

चीन ने की थी युद्धाभ्यास की घोषणा

चीन ने की थी युद्धाभ्यास की घोषणा

चीन ने इससे पहले ताइवान के पास युद्धाभ्यास करने की घोषणा की थी। चीन का दावा है कि ताइवान उसके अधिकार क्षेत्र के तहत आता है और उसका भूभाग है। इसके चलते वह अपने क्षेत्र में ये अभ्यास कर रहा है। वहीं राष्ट्रपति साई-इंग-वेन ताइवान को चीन को एक संप्रभु राष्ट्र के तौर पर देखती हैं। वे ताइवान को वन चाइना पॉलिसी का हिस्सा नहीं मानती हैं। उनके इस रवैये से चीन नाराज रहता है और ताइवान को लेकर बल प्रयोग की बात करता रहा है।

    China ने भी किया कबूल, Galwan Clash में गई थी Chinese PLA के जवानों की जान | वनइंडिया हिंदी
    चार दशक में अमेरिका के सबसे बड़े अधिकारी का दौरा

    चार दशक में अमेरिका के सबसे बड़े अधिकारी का दौरा

    ये तनाव उस दौर में देखा जा रहा है जब अमेरिका के वित्त मामलों के अंडरसेक्रेटरी कीथ क्रैच तीन दिवसीय दौरे पर ताइपेई पहुंचे हुए हैं। कीथ पिछले चार दशक में अमेरिका से आने वाले सबसे ऊंचे अधिकारी हैं। चीन किसी भी देश द्वारा ताइवान से संबंध को लेकर अपना विरोध दर्ज कराता है। लेकिन चीन के विरोध के बावजूद अमेरिकी अधिकारी के पहुंचने से चीन बौखलाया हुआ है। इसके पहले पिछले महीने भी अमेरिका के एक प्रतिनिधि के पहुंचने का चीन ने विरोध किया था।

    ताइवान ने रक्षा मिसाइल प्रणाली भी तैनात की

    ताइवान ने रक्षा मिसाइल प्रणाली भी तैनात की

    ताइवान के रक्षा मंत्रालय ने कहा कि 18 चाइनीज फाइटर प्लेन उसकी सीमा में घुसे थे जो कि पिछली बार के मुकाबले में काफी ज्यादा है। रक्षा मंत्रालय के द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक दो H-6 बॉम्बर्स, 8 J-16 फाइटर्स, 4 J-10 फाइटर्स और 4 J-11 फाइटर्स जेट ने ताइवान स्ट्रेट दक्षिणी पश्चिमी अदीज क्षेत्र में घुसपैठ की। जिसके जवाब में रिपब्लिक ऑफ चाइना एयरफोर्स (ROCAF) ने लड़ाकू विमानों को पीछा करने भेजा। साथ ही हवाई रक्षा मिसाइल प्रणाली की तैनाती भी की है। बता दें कि ROCAF ताइवान की वायुसेना है। ताइवान खुद को रिपब्लिक ऑफ चाइना कहता है जबकि चीन पीपल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना कहता है।

    बीजिंग ने बताया जरूरी कदम

    बीजिंग ने बताया जरूरी कदम

    वहीं बीजिंग में रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता रेन गुओकियांग ने युद्धाभ्यास को एक उचित और आवश्यक कार्रवाई बताया है। रेन ने ताइवान को पूरी तरह से चीन का अंदरूनी मामला बताते हुए ताइवान की सत्तारूढ़ डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी पर अमेरिका के साथ मिलीभगत का आरोप लगाया। हालांकि चीनी रक्षा मंत्रालय ने युद्धाभ्यास के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं दी।

    ताइवान की सीमा में घुसे चीन के एंटी सबमरीन जेट्स, कुछ ही देेर में वापस भागने को हुए मजबूर

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    taiwan scrables jet as 18 chinese jets buzzed in taiwan airspace
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X