• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

8 साल की लड़की को सेक्‍स गुलाम बना रखा था ISIS आतंकियों ने, जानिए जुल्‍म की दर्द भरी दास्‍तान

|

बगदाद। वैसे तो दहशतगर्दों का काम ही खौफ फैलाना है लेकिन आतंकी संगठन आईएसआईएस के आतंकियों ने महिलाओं पर जुल्‍म की इंतहा कर दी है। आईएसआईएस के लड़ाके पहले तो लड़कियों को सेक्‍स गुलाम बनाकर महीनों तक बलात्‍कार करते हैं फिर जब उनका मन भर जाता है उन्‍हें जिस्‍म की मंडी में बेच देते हैं। आईएसआईएस के चंगुल से ऐसी ही एक यजीदी लड़की आजाद करायी गई है जिसे लड़ाकों ने गुलाम बनाकर रखा था। हैरान करने वाली बात ये है कि आतंकी जब उस लड़की को उठाकर ले गए थे तब उसकी उम्र मात्र 5 साल थी। वो तीन साल उन हैवानों के कैद में रही। आईए आपको उस लड़की की दर्द भरी दास्तान बताते हैं।

काली ड्रेस में गुलाम बनकर रहती थी लड़की

काली ड्रेस में गुलाम बनकर रहती थी लड़की

सीरियन डेमोक्रेटिक फोर्स द्वारा आईएसआईएस के चंगुल से छुड़ाई गई 8 साल की लड़की काली ड्रेस में थी। फोर्स के जवानों ने जब उसे आजादा कवाया उसके बाद भी उसने उस कपड़ों को अपने पास ही रखा। आपको बता दें कि आईएसआईएस की कैद से अबतक हजारों लड़कियों को बचाया जा चुका है।

कुर्दिश महिलाएं हुईं ISIS के टॉर्चर का सबसे ज्‍यादा शिकार

कुर्दिश महिलाएं हुईं ISIS के टॉर्चर का सबसे ज्‍यादा शिकार

यजीदी कम्युनिटी आईएस आतंकियों के निशाने पर सबसे ज्यादा रही। ज्यादातर कुर्दिश महिलाएं इस्लाम को मानते हैं, जबकि यजीदी कम्युनिटी का अलग ही धर्म है। अलग धार्मिक मान्यताओं के चलते आतंकियों ने इनके खिलाफ नरसंहार छेड़ा और इस कम्युनिटी की लड़कियों को अपना सबसे ज्यादा शिकार बनाया। इस कम्युनिटी की लड़कियों की खूबसूरती के दुनियाभर में चर्चे हैं। इन्होंने दुनिया के अलग-अलग हिस्सों में सिंगिग और एक्टिंग की क्षेत्र में शोहरत हासिल की है।

लड़की का भाई अभी भी आईएसआईएस की कैद में

लड़की का भाई अभी भी आईएसआईएस की कैद में

8 साल की इस लड़की की कहानी जेनन मोउसा नाम की एक पत्रकार ने शेयर की है। मोउसा ने एक के बाद एक कई ट्वीट कर बताया कि उस लड़की का भाई अभी भी आईएसआईएस की कैद में है। मोउसा ने बताया कि वह लड़की टोयटा हीलक्‍स कार को देखकर डर जाती है क्‍योंकि वो उसे आईएसआईएस के उन आतंकियों की याद दिलाता है। आलम यह है कि इस लड़की को पुरुष जाति से डर हो गया है।

अब रंगीन कपड़े पहनना चाहती है

अब रंगीन कपड़े पहनना चाहती है

कैद से आजाद होने के बाद मोउसा उस लड़की को शॉपिंग कराने अपने साथ ले गई। उस लड़की पर काले रंग का खौफ इसकदर सवार था कि रंगीन कपड़ों को देखकर वो डरने लगी। काफी देर तक उस डर को दिमाग से निकालने की कोशिश करने के बाद लड़की ने रंगीन कपड़े पहनने की इच्‍छा जताई।

जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
She was five when she was taken as a slave by ISIS. Now, at the age of eight, even after being rescued from the so-called Islamic State, she keeps her black clothes thinking "maybe Dawla (ISIS) comes back (sic)".
For Daily Alerts

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more