• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

अंतरिक्ष में NASA को मिलीं ऐसी धातु, जिससे धरती का हर आदमी बन सकता है करोड़पति

|

वाशिंगटन। अंतरिक्ष को लेकर वैज्ञानिक कई बार ऐसे खुलासे कर देते हैं, जिनके बारे में इंसानों ने कभी कल्पना भी नहीं की होती। अब ऐसी ही एक हैरान कर देने वाली खबर सामने आई है। अमेरिका की अंतरिक्ष एजेंसी नासा (नैशनल एरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन) का कहना है कि अंतरिक्ष में उसे खजाना मिला है, जो इतना कीमती है कि अगर हर व्यक्ति को भी बांटा जाए तो वो करोड़पति बन सकता है। इस खजाने में सोने के अलावा, हीरे और प्लैटिनम भी शामिल हैं। ये कीमती धातु यहां अंतरिक्ष में मौजूद मलबे के भीतर है।

वैज्ञानिकों को इसमें इतनी दिलचस्पी क्यों?

वैज्ञानिकों को इसमें इतनी दिलचस्पी क्यों?

नासा के इस नए मिशन का नाम Psyche है, जिसके जरिए मेटल-रॉक एस्टेरॉइड 16 साइकी (16 Psyche) का अध्ययन किया जाएगा। 16 साइकी असल में एक क्षुद्रग्रह (छोटा तारा) है, जिसे 16 साइकी नाम दिया गया है। ये क्षुद्रग्रह करीब 226 किलोमीटर चौड़ा है। जो मंगल और बृहस्पति के बीच सौर मंडल के क्षुद्रग्रह बेड पर स्थित है। अब सवाल ये उठता है कि भला वैज्ञानिक इस क्षुद्रग्रह में इतनी दिलचस्पी क्यों ले रहे हैं? ऐसा इसलिए क्योंकि क्षुद्रग्रह में इतनी बेदह मूल्यवान धातु हैं, जो पूरे विश्व की वैश्विक अर्थव्यवस्था की कुल लागत से भी अधिक कीमती हो सकती हैं।

कितनी कीमती हैं धातु?

कितनी कीमती हैं धातु?

विशेषज्ञों के मुताबित, क्षुद्रग्रह पूरी तरह से एक ठोस सोने की कोर के साथ निकल और लोहे की धातु से बना है। क्षुद्रग्रह का अनुमानित मूल्य करीब 10,000 क्वाड्रिलियन डॉलर हो सकता है। जिससे धरती का हर इंसान करोड़पति बन सकता है। नासा ने कहा है कि उसके नए उपकरण का उद्देश्य '16 साइकी' का अध्ययन करना है। जिससे धरती के निर्माण के बारे में भी पता चल सके। इससे पहले जुलाई में नासा ने कहा था इस क्षुद्रग्रह के अध्ययन से हमें पता चलेगा कि हमारा ग्रह और अन्य ग्रह किस तरह से निर्मित हुए हैं।

कब हो सकती है मिशन की शुरुआत?

कब हो सकती है मिशन की शुरुआत?

इन उद्देश्यों को पूरा करने के लिए अंतरिक्ष एजेंसी ने साइकी नामक अंतरिक्षयान को डिजाइन किया है। जो क्षुद्रग्रह के चुंबकीय क्षेत्र का अध्ययन करेगा। साथ ही क्षुद्रग्रह की स्थलाकृति और संरचना के बारे में तस्वीरों और डाटा को भी एकत्रित करेगा। इससे पिछली रिपोर्ट में नासा ने एलन मस्क की कंपनी स्पेस एक्स को मिशन में सहयोग करने को कहा था। अगर सब ठीक रहता है तो नासा/स्पेस एक्स मिशन की शुरुआत साल 2022 में हो सकती है।

7 वर्षीय बच्चे की नाक से निकला 2 साल पहले गुम हुआ खिलौने का टुकड़ा, इस तरह आया बाहर

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
spacecraft of nasa will study 16 psyche asteroid in space who made up with nickel metallic iron gold
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X