• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

टेस्ट के लिए आंसू गैस के गोले सरकारी कर्मचारियों पर दागे, लंबे वक्त से नहीं हुआ था इस्तेमाल- पाकिस्तानी मंत्री

|

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के 'जोकर' मंत्री शेख राशिद अहमद ने सरकारी कर्मचारियों को लेकर बेहद अजीबोजरीब बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि सरकारी कर्मचारियों के ऊपर आंसू गैसे के गोले छोड़ना बेहद जरूरी था, क्योंकि आंसू गैस के उन गोलों का लंबे वक्त से इस्तेमाल नहीं हुआ था ऐसे में आंसू गैस के गोले सही हैं या नहीं उनका टेस्ट करना जरूरी था।

SHEIKH RASHID

टेस्ट के लिए छोड़ा आंसू गैस के गोले

दरअसल, पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद में सरकारी कर्मचारी अपनी मांगों को लेकर सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे। प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए पाकिस्तानी पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े थे, जिसे सही ठहराते हुए पाकिस्तान के मंत्री शेख राशिद अहमद ने कहा है कि सरकारी कर्मचारियों पर आंसू गैस के गोले दागना बेहद जरूरी था। क्योंकि आंसू गैस के गोले काफी लंबे वक्त से रखे हुए थे और उनका इस्तेमाल नहीं हुआ था। ऐसे में आंसू गैस के गोले सहीं हैं या खराब हो चुके हैं, उसका टेस्ट करना भी जरूरी था, इसीलिए सरकारी कर्मचारियों पर आंसू गैसे को गोले दागे गये। पाकिस्तानी मंत्री ने यह भी कहा कि थोड़े मात्रा में ही आंसू गैस के गोलों का इस्तेमाल हुआ है, ज्यादा नहीं।

PAK MIN

पिछले हफ्ते दागे गये थे आंसू गैस के गोले

दरअसल, पिछले हफ्ते सरकारी कर्मचारियों के प्रदर्शन के दौरान इस्लामाबाद पुलिस ने एक हजार से ज्यादा आंसू गैस के गोलों का इस्तेमाल प्रदर्शनकारियों की भीड़ को हटाने के लिए किया था। सरकारी कर्मचारी सरकार से महंगाई बढ़ने की वजह से वेतन बढ़ाने की मांग कर रहे थे। सरकारी कर्मचारियों ने ऐलान किया था कि जबतक पाकिस्तान सरकार उनकी सैलरी नहीं बढ़ाती है तबतक वो पाकिस्तानी सचिवालय के पास धरना देंगे। जिसके बाद पिछले बुधवार को इस्लामाबाद पुलिस और प्रदर्शनकारी सरकारी कर्मचारियों के बीच दिनभर गुत्थमगुत्थी होती रही। इसी दौरान प्रदर्शनकारियों को हटाने के लिए पुलिस ने एक हजार से ज्यादा आंसू गैस के गोले प्रदर्शनकारी सरकारी कर्मचारियों पर चलाए थे। हालांकि, अगले दिन पाकिस्तान सरकार की कमेटी में बैठक के दौरान सरकारी कर्मचारियों के साथ समझौता हो गया था मगर इस्लामाबाद पुलिस की अभी भी काफी आलोचना हो रही है।

TEAR GAS

शेख राशिद थे कमेटी का हिस्सा

पाकिस्तान के इंटीरियर मंत्री शेख राशिद भी उस कमेटी का हिस्सा थे जिसे पाकिस्तान सरकार ने सरकारी कर्मचारियों से बातचीत के लिए गठन किया था। बैठक के बाद जब उनसे सवाल पूछा गया तो उन्होंने जबाव देते हुए कहा है कि असली समस्या आंसू गैस के गोले नहीं हैं, वो तो टेस्ट करने के लिए इस्तेमाल किए गये थे, असली समस्या वेतन वृद्धि है क्योंकि वेतन बढ़ाने से सरकारी खजाने पर करोड़ों रुपये का अतिरिक्त भार आएगा और सरकार के पास उतने पैसे नहीं हैं। आपको बता दें कि शेख राशिद अपने अजीबोगरीब बयान के लिए मशहूर हैं।

Special Report: अफगानिस्तान पर फंसा अमेरिका, जो बाइडेन हुए विकल्पहीन, अमेरिकी फौज जाएगी तो भारत क्या करेगा?Special Report: अफगानिस्तान पर फंसा अमेरिका, जो बाइडेन हुए विकल्पहीन, अमेरिकी फौज जाएगी तो भारत क्या करेगा?

https://hindi.oneindia.com/photos/bollywood-couples-celebrate-valentines-day-beautiful-came-out-59519.html

English summary
Pakistan Minister Sheikh Rashid has made a weird statement said Fired a little tear gas on government employees to test it
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X