• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

सऊदी के शाही परिवार के खिलाफ लिखने वाले पत्रकार की तुर्की कॉन्‍सुलेट में हत्या

|

इस्तानबुल। तुर्की में सऊदी अरब के प्रसिद्ध जर्नलिस्ट की मौत हुई है, जिसे एक साजिश के तहत हत्या बताई जा रही है। तुर्की ने कहा कि पिछले सप्ताह जमाल खाशोग्गी की मौत इस्तानबुल में सऊदी कॉन्‍सुलेट में ही हुई, जिसे सऊदी के 'मर्डर ग्रुप' ने ही इस घटना को अंजाम दिया है। तुर्की की इन्वेस्टिगेशन टीम ने कहा कि खाशोग्गी को मारने के लिए सऊदी से ही 15 लोगों की एक टीम पहुंच गई थी, जिसे पूरी साजिश के तहत अंजाम दिया गया है। हालांकि, तुर्की के जांचकर्ताओं ने ऐसा कोई सबूत नहीं दिया, जिससे यह पता चल सके कि खाशोग्गी की मौत सऊदी के ही किसी मर्डर ग्रुप ने की है।

सऊदी के शाही परिवार के खिलाफ लिखने वाले पत्रकार की हत्या

तुर्की का कहना है कि खाशोग्गी की हत्या सऊदी कॉन्‍सुलेट में ही हुई है, लेकिन सऊदी अरब इसे मानने से इनकार कर दिया है। पिछले सप्ताह क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने ब्लूमबर्ग को दिए इंटरव्यू में कहा था कि मंगलवार (2 अक्टूबर) को कॉन्‍सुलेट पहुंचने से कुछ ही घंटे बाद खाशोग्गी ने वह जगह छोड़ दी थी। वहीं, इस्तानबुल में सऊदी कॉन्सुल-जनरल ने न्यूज एजेंसी रॉयटर्स को कॉन्‍सुलेट में आने की अनुमति दी थी, जिससे सभी को यह पता चल कि जर्नलिस्ट अंदर नहीं है।

सऊदी अरब ने वॉशिंगटन पोस्ट के ग्लोबल सेक्शन से खाशोग्गी के लिंक होने की खबरों से भी इनकार किया है। उधर अमेरिका ने अभी तक इस मुद्दे पर कुछ नहीं कहा है। अगर हत्या की पुष्टि सही निकली तो सऊदी अरब में असंतोष को वृद्धि को दर्शायेगी। क्राउन प्रिंस सलमान भले कुछ मॉडर्न काम किए हो, लेकिन उन्हीं के राज में हाल ही में सैकड़ों लोगों को गिरफ्तारियां हुई हैं, जिसमें कई व्यापार अधिकारी, क्लेरिक्स और वीमन एक्टिविस्ट्स भी शामिल है।

वॉशिंगटन पोस्ट के संपादकीय पृष्ठ के निदेशक ने एक बयान में कहा, 'अगर जमाल की हत्या की रिपोर्ट सच है, तो यह एक राक्षसी और अवांछित कार्य है।' उन्होंने कहा कि जमाल एक बहुत ही साहसी और प्रसिद्ध पत्रकार था। उन्होंने कहा कि जमाल ने अपने देश के लिए प्यार की भावना, मानव गरिमा और स्वतंत्रता में गहरी विश्वास से लिखता था। वॉशिंगटन पोस्ट के मुताबिक, जमाल ना सिर्फ उन्हीं के देश में बल्कि पूरे मिडिल ईस्ट और दुनिया में प्रसिद्ध थे।

विश्लेषकों ने कहा कि खाशोग्गी को सऊदी नेतृत्व से विशेष रूप से खतरनाक माना जा सकता है, जो अपनी कलम से अक्सर शाही परिवार और विशाल शक्तियों पर अटैक करता था। खाशोग्गी लंबे समय से अमेरिका में ही रह रहा था।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Saudi Journalist murdered in Turkey who was writing against the Royal Family
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X