• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

रूस अब दुनिया का सबसे अधिक-प्रतिबंधित देश बना, उसके बाद लिस्ट में हैं इन सबके नाम

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली, 8 मार्च: यूक्रेन पर हमले के बाद रूस के खिलाफ इतनी पाबंदियां लगाई गई हैं कि यह उत्तर कोरिया और ईरान जैसे देशों को भी पीछे छोड़ चुका है। यह सिलसिला थमा नहीं है और रूस के खिलाफ प्रतिबंधों की लिस्ट बढ़ती ही जा रही है। एक डेटाबेस के आधार पर कुछ आंकड़े जुटाए हैं, जिसके मुताबिक प्रतिबंधित राष्ट्रों की एक लिस्ट तैयार की गई है, जिसमें रूस तो नंबर एक पर है और बाकी देश कहां पर हैं, उसका पूरा ब्योरा भी दिया गया है। रूस के खिलाफ सिर्फ 22 फरवरी के बाद से ही 2,778 नई पाबंदियों की घोषणाएं की गई हैं।

22 फरवरी से ही रूस पर लग रहे हैं प्रतिबंध

22 फरवरी से ही रूस पर लग रहे हैं प्रतिबंध

मंगलवार को वैश्विक पाबंदियों को ट्रैक करने वाले एक डेटाबेस की लिस्ट जारी की गई है, जिससे पता चलता है कि यूक्रेन पर आक्रमण के बाद रूस दुनिया का सबसे ज्यादा-प्रतिबंधित देश बन गया है। यह डेटाबेस कास्टेलम डॉट एआई ने विभिन्न माध्यमों से जुटाया है। इसके मुताबिक रूस पर यूक्रेन पर हमले वाले दिन से दो दिन पहले से ही यानि 22 फरवरी से अमेरिका और उसके यूरोपीय सहयोगियों ने प्रतिंबंधों की बौछार शुरू कर दी थी।

प्रतिबंधित देशों की लिस्ट में रूस सबसे पहला

प्रतिबंधित देशों की लिस्ट में रूस सबसे पहला

कास्टेलम डॉट एआई के मुताबिक रूस 2,778 नई पाबंदियों का सामना कर रहा है, जिसके बाद उसकी कुल पाबंदियों की संख्या 5,530 से ज्यादा हो चुकी है। इसपर रोजाना ऐसी पाबंदियों का दवाब बरकरार है। नेटफ्लिक्स और अमेरिकन एक्सप्रेस समेत कई अमेरिकी कंपनियों ने रूस में अपने ऑपरेशन को रोक दिया है। पुतिन इन प्रतिबंधों को 'युद्ध की घोषणा की तरह' बता रहे हैं। कास्टेलम के दावों के मुताबिक रूस पहले से ही यानि 22 फरवरी, 2022 से पहले 2,754 प्रतिबंधों का सामना कर रहा था। लेकिन, यूक्रेन पर हमले के बाद उसपर उससे भी अधिक पाबंदियां लगा दी गईं।

प्रतिबंधों के मामले में नंबर-2 पर ईरान

प्रतिबंधों के मामले में नंबर-2 पर ईरान

कास्टेलम डॉट एआई की लिस्ट के मुताबिक पश्चिम एशिया का यह देश पाबंदियों के मामले में दुनिया में दुसरे नंबर पर है। ईरान के खिलाफ कुल 3,616 प्रतिबंध हैं। ये प्रतिबंध उसके विवादास्पद परमाणु कार्यक्रम और कथित तौर पर आतंकवाद को सहयोग देने की वजह से लगाए गए हैं।

सीरिया प्रतिबंधों के मामले में नंबर-3 पर

सीरिया प्रतिबंधों के मामले में नंबर-3 पर

सीरिया के खिलाफ आर्थिक प्रतिबंध यूरोपीयन यूनियन, अमेरिका, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया और स्विटजरलैंड जैसे देशों ने गृह युद्ध की वजह से लगा रखे हैं। इनमें से ज्यादातर आर्थिक प्रतिबंध साल 2011 के बाद लगाए गए हैं। आंकड़ों के मुताबिक सीरिया के खिलाफ कुल 2,608 प्रतिबंध हैं।

सनकी तानाशाह के उत्तर कोरिया का नंबर-4

सनकी तानाशाह के उत्तर कोरिया का नंबर-4

आमतौर पर दुनिया में अलग-थलग रहने वाला उत्तर कोरिया 2006 से ही संयुक्त राष्ट्र के प्रतिबंधों के दायरे में है। यह प्रतिबंध उसपर उसके संदिग्ध परमाणु और बैलिस्टिक मिसाइल कार्यक्रमों को लेकर लगाए गए हैं। इन प्रतिबंधों में निजी व्यक्तियों और कंपनियों के खिलाफ भी सजा का प्रावधान शामिल है। लिस्ट के अनुसार उत्तर कोरिया के खिलाफ 2,077 प्रतिबंध हैं।

प्रतिबंधों की लिस्ट में वेनेजुएला नंबर-5 पर है

प्रतिबंधों की लिस्ट में वेनेजुएला नंबर-5 पर है

दक्षिण अमेरिकी देश वेनेजुएला के खिलाफ कुल 651 प्रतिबंध हैं। ये सारे प्रतिबंध अमेरिका ने 2017 के बाद लगाए हैं। यह प्रतिबंध पूर्व के मादुरो शासनकाल के दौरान बिजनेस और तेल कंपनियों से जुड़े हैं।

प्रतिबंधों की लिस्ट में म्यांमार है नंबर- 6

प्रतिबंधों की लिस्ट में म्यांमार है नंबर- 6

म्यामांर के खिलाफ सैनिक तख्तापलट और मानवाधिकार उल्लंघन के चलते अमेरिका और दूसरे देशों ने प्रतिबंध लगा रखे हैं। इस साल जनवरी में जब म्यांमार की सेना लोकतांत्रिक ढंग से चुनी गई सरकार की तख्तापलट की पहली वर्षगांठ मना रही थी तो अमेरिका के ट्रेजरी विभाग के फॉरेन एसेट्स कंट्रोल ऑफिस ने यहां के सात व्यक्तियों और मिलिट्री शासन से जुड़े दो संगठनों को प्रतिबंधित कर दिया। कास्टेलम डॉट एआई के मुताबिक म्यांमार के खिलाफ 510 प्रतिबंध लगे हुए हैं।

प्रतिबंधों की लिस्ट में क्यूबा है नंबर-7

प्रतिबंधों की लिस्ट में क्यूबा है नंबर-7

कास्टेलम डॉट एआई के मुताबिक प्रतिबंधों वाली लिस्ट में क्यूबा आखिरी पायदान पर है। इसके खिलाफ कुल 208 प्रतिबंध हैं। क्यूबा सबसे पहले से अमेरिकी प्रतिबंधों के दायरे में है, जो 60 वर्ष से ज्यादा पुराना हो चुका है। इसकी वजह से इस द्वीपीय राष्ट्र के जीवन का हर पहलू प्रभावित हो चुका है। ये प्रतिबंध पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति जॉन एफ केनेडी ने ही लगाए थे, ताकि क्यूबा को लोकतंत्र अपनाने और मानवाधिकारों को सम्मान देने के लिए मजबूर किया जा सके।

इसे भी पढ़ें-अक्षर Z रूस के युद्ध का प्रतीक, जानिए क्या है पुतिन का सिद्धांतइसे भी पढ़ें-अक्षर Z रूस के युद्ध का प्रतीक, जानिए क्या है पुतिन का सिद्धांत

रूस के खिलाफ प्रतिबंधों का पूरा ब्योरा

कास्टेलम डॉट एआई की लिस्ट के मुताबिक रूस के खिलाफ नए प्रतिबंध लगाने वाले देशों की सूची में स्विटजरलैंड सबसे आगे है। गौरतलब है कि रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने अपनी कथित ओलंपियन जिम्नास्ट प्रेमिका और उसके साथ हुए 'अपने' चारों बच्चों को इसी देश के एक बंगले में छिपा रखा है। इस लिस्ट में 35 प्रतिंबंधों के साथ यूनाइटेड किंगडम सबसे नीचे है।

Comments
English summary
Russia has reached number one in terms of sanctions against any country, after the invasion of Ukraine, Switzerland is the first in the list of sanctions against it
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X