• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

रूस की नेवी को मिलने वाला है अंडरवॉटर ड्रोन और खतरनाक हाइपरसोनिक मिसाइलें

|

मॉस्‍को। हर साल जुलाई के आखिरी रविवार को रूस की नेवी अपना नौसेना दिवस मनाती है। और इस वर्ष भी 26 जुलाई को नेवी ने दुनिया के सामने अपनी ताकत का प्रदर्शन किया है। इस मौके पर राष्‍ट्रपति व्‍लादिमिर पुतिन ने नौसेना परेड का जायजा लिया। इस मौके पर पुतिन ने कहा है कि रूस की नेवी को हाइपरसोनिक परमाणु हमला कर सकने में सक्षम हथियारों से लैस किया जाएगा। इसके अलावा अंडरवॉटर ड्रोन भी पहली बार किसी देश की नेवी को मिलेंगे। रक्षा मंत्रालय की तरफ से बताया गया है कि अंडरवॉटर ड्रोन की टेस्टिंग अपने अंतिम चरण में है।

यह भी पढ़ें-रूस ने चीन को S-400 सिस्‍टम की डिलीवरी रोकी

कहीं भी निशाना लगा सकेंगे हथियार

कहीं भी निशाना लगा सकेंगे हथियार

पुतिन जो अक्‍सर यह कहते हैं कि वह हथियारों की होड़ नहीं चाहते हैं। लेकिन वह अक्‍सर ही नई पीढ़ी के ऐसे रूसी हथियारों की बात करते हैं जो परमाणु क्षमता से लैस हों। पुतिन के मुताबिक रूस की सेनाओं के पास ऐसे हथियार हों जो दुनिया में कहीं भी निशाना लगा सकते हों। जिन हथियारों पर इस समय सबकी नजरें हैं उनमें पोसायडन अंडरवॉटर न्‍यूक्लियर ड्रोन सबसे अहम है। इसे इस तरह से डिजाइन किया गया है कि कोई भी पनडुब्‍बी इसे कैरी कर सकती है।

ऐसी मिसाइलें जिन्‍हें ट्रैक करना मुश्किल

ऐसी मिसाइलें जिन्‍हें ट्रैक करना मुश्किल

इसके अलावा हाइपरसोनिक क्रूज मिसाइज सिरकॉन पर भी नजरें टिकी हैं जिसे जहाज पर तैनात किया जा सकता है। ये ऐसी मिसाइलें होंगी जो आवाज से पांच गुना ज्‍यादा की स्‍पीड में हमलें करने में सक्षम हैं। इसकी वजह से इन्‍हें ट्रैक करना भी काफी मुश्किल होगा। सेंट पीटर्सबर्ग में आयोजित नेवी परेड में पुतिन ने कहा कि नौसेना की क्षमताओं में इजाफा हो रहा है। इस वर्ष उसे करीब 40 नए जहाज मिलेंगे।पुतिन ने कहा कि 200 युद्धपोत और 4 हजार सैनिक हमारी नौसेना की बढ़ती ताकत को दिखाते हैं।

युद्धक क्षमताओं में होगा इजाफा

युद्धक क्षमताओं में होगा इजाफा

उन्‍होंने इस बात की जानकारी नहीं दी कि नेवी को हाइपरसोनिक हथियार कब मिलेंगे। लेकिन इस तरफ इशारा जरूर किया कि जल्‍द ही वह दिन आने वाला है। पुतिन ने कहा कि बड़े स्‍तर पर एडवांस्‍ड डिजिटल टेक्‍नोलॉजीज को तैनात किया जा रहा है जिसकी बराबरी दुनिया को कोई भी देश नहीं कर सकता है जिसमें हाइपरसोनिक हथियारों से लेकर अंडरवॉटर ड्रोन्‍स शामिल हैं। ये हथियार देश की युद्धक क्षमताओं को आगे बढ़ाएंगे।

पनडुब्‍बी की टेस्टिंग जारी

पनडुब्‍बी की टेस्टिंग जारी

रूस के रक्षा मंत्रालय की तरफ से कहा गया है कि पहली सबमरीन जो पोसायडन ड्रोन को कैरी कर सकती है, उसकी टेस्टिंग बेलगोरोड में जारी है। वेपन सिस्‍टम की टेस्टिंग पूरी होने के करीब है। पुतिन ने पिछले साल हाइपरसोनिक मिसाइल को जहाजों और पनडुब्बियों पर तैनात करने की धमकी दी थी। पुतिन ने कहा था कि अगर अमेरिका ने यूरोप में अपने परमाणु हथियार तैनात किए तो फिर उन्‍हें भी यह फैसला लेना पड़ेगा।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
President Vladimir Putin says Russian Navy to get hypersonic nuclear strike weapons.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X