• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

वैक्सीन की दोनों डोज ले चुके लोगों में कोविड संक्रमण का खतरा 3 गुना कम, स्टडी में दावा

|
Google Oneindia News

नई दिल्‍ली, 5 जुलाई। भारत ही नहीं दुनिया भर में कोरोना वैक्‍सीन की दोनों डोज लगवाने पर जोर दिया जा रहा है। वहीं हाल ही में हुए अध्‍ययन में ये खुलासा हुआ है कि जिन लोगों ने कोरोनावायरस वैक्सीन की दोनों खुराक लगवा ली है उनके COVID-19 से संक्रमित होने की संभावना तीन गुना कम है।

    Coronavirus India Update: Covid-19 Vaccine की दोनों डोज लेने वालों के लिए गुड न्यूज | वनइंडिया हिंदी
    covid

    ये खुलासा ब्रिटेन के एक नवीनतम अध्ययन में पाया गया है। देश में COVID-19 संक्रमणों में यूके के सबसे बड़े अध्ययनों में से एक, कम्युनिटी ट्रांसमिशन का रीयल-टाइम असेसमेंट (REACT-1) अध्ययन में बुधवार को खुलासा किया कि इंग्लैंड में संक्रमण 0.15 प्रतिशत से चार गुना बढ़कर 0.63 प्रतिशत हो गया है। पिछली REACT-1 रिपोर्ट के बाद से, जिसमें 20 मई से 7 जून तक की अवधि शामिल थी। हालांकि, इसके परिणामों ने 12 जुलाई के बाद से संक्रमण में कमी दिखाई है।

    इंपीरियल कॉलेज लंदन और इप्सोस मोरी द्वारा विश्लेषण, जिसमें 24 जून से 12 जुलाई के बीच इंग्लैंड में अध्ययन में भाग लेने वाले 97,००० से अधिक स्वयंसेवकों ने सुझाव दिया कि दोहरे टीकाकरण वाले लोगों में भी दूसरों क अपेक्षा संक्रमण होने की संभावना कम होती है।

    यूके के स्वास्थ्य सचिव साजिद जाविद ने कहा, "हमारा वैक्‍सीनेशन रोलआउट रक्षा की दीवार का निर्माण कर रहा है, जिसका अर्थ है कि हम प्रतिबंधों को सावधानी से कम कर सकते हैं और अपनी पसंदीदा जिंदगी में वापस जा सकते हैं, लेकिन हमें सतर्क रहने की आवश्यकता है क्योंकि हम इस वायरस के साथ रहना सीखते हैं।"

    "यह रिपोर्ट व्यक्तिगत जिम्मेदारी लेने के महत्व को दर्शाती है यदि आप संपर्क का पता लगाते हैं, यदि आपके लक्षण हैं तो परीक्षण करवाएं और फेस मास्‍क पहने। मैं किसी से भी आग्रह करता हूं जिसे अभी तक टीका प्राप्त नहीं हुआ है और दोनों को लें। टीके सुरक्षित हैं और वे काम कर रहे हैं।

    वायु प्रदूषण से बढ़ रहा लोगों में मानसिक बीमारी डिमेंशिया का खतरा,शोध में हुआ खुलासावायु प्रदूषण से बढ़ रहा लोगों में मानसिक बीमारी डिमेंशिया का खतरा,शोध में हुआ खुलासा

    पब्लिक हेल्थ इंग्लैंड (PHE) के डेटा से पता चलता है कि यूके में दिए जा रहे टीके COVID-19 के सभी वैरियंट के खिलाफ "अत्यधिक प्रभावी" हैं। फाइजर/बायोएनटेक वैक्सीन 96 फीसदी प्रभावी है और ऑक्सफोर्ड/एस्ट्राजेनेका वैक्सीन दोनों खुराक के बाद अस्पताल में भर्ती होने के खिलाफ 92 फीसदी प्रभावी है। पीएचई का अनुमान है कि इंग्लैंड में टीकाकरण कार्यक्रम ने 22 मिलियन संक्रमण, लगभग 52,600 अस्पताल में भर्ती होने और 35,200 से 60,000 मौतों को रोका है।

    यूके की स्वास्थ्य सेवा ने अब अपने COVID-19 टीकाकरण कार्यक्रम का विस्तार 16 वर्ष और उससे अधिक उम्र के सभी लोगों के लिए किया है, जो वर्तमान 18 और उससे अधिक उम्र के लोगों के पक्ष में औपचारिक वैज्ञानिक सलाह के बाद है।

    Mouni Roy ने साड़ी में करवाया बोल्‍ड फोटो शूट, पतली कमरिया ने लगाई आग https://hindi.oneindia.com/photos/mouni-roy-got-a-bold-photo-shoot-done-in-a-shaded-sari-pictures-oi65848.html

    English summary
    People who have Double Vaccinated are three times less likely to be infected with COVID-19 study
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X