India
  • search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts
Oneindia App Download

भारत-अफगान संबंधों को एक बार फिर बिगाड़ने की तैयारी में पाकिस्तान

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली/ काबुल, 24 जून : भारत ने तालिबान शासन से कहा है कि वह कर्ते परवान गुरुद्वारा हमले की पूरी तरह से जांच करे और आतंकी हमले में शामिल आईएसकेपी आतंकवादी समूह के खिलाफ कार्रवाई करे। बता दें कि, भारत पड़ोसी देश अफगानिस्तान के साथ अपने रिश्तों को सुधारने की दिशा में काम कर रहा है, वहीं दूसरी तरफ पाकिस्तान अपने नापाक करतूतों को अंजाम तक पहुंचाने के लिए जी जान से लगा हुआ है। जानकारी के मुताबिक पाकिस्तान ने विदेशों में अपने राजनयिक मिशनों को भारत और इस्लामिक अमीरात के बीच कथित विरोधाभास को हवा देने के लिए निर्देश दिया है।

photo

पाकिस्तान की नापाक करतूत
अमेरिका और यूरोपीय संघ में स्थित राजनयिकों के अनुसार, इस्लामाबाद ने अपने राजनयिक मिशनों को 'भारत विरोधी विषयों' पर ध्यान केंद्रित करने के लिए कहा है, जिसमें कहा गया है कि तालिबान शासन के सशस्त्र बलों को नई दिल्ली में प्रशिक्षण देने की बात में कोई सच्चाई नहीं है। पाकिस्तान कह रहा है.. इससे पहले अफगान राष्ट्रीय सेना के सैनिकों को उसी सुन्नी पश्तून बल के खिलाफ लड़ने के लिए प्रशिक्षित किया गया था।

भारत के खिलाफ जहर उगलता पाकिस्तान
उसने अपने मिशन से पाक-मित्र देशों को यह याद दिलाने के लिए भी कहा है कि भारत ने अतीत में तालिबान को पाकिस्तान का एक खतरनाक आतंकवादी समूह करार दिया था और पूर्ववर्ती अफगान सरकार का समर्थन किया था। वह चाहता है कि उसके राजनयिक यह संदेश दें कि भारत अफगानिस्तान में अपना राजनीतिक प्रभाव बनाए रखने के लिए हमेशा गैर-जातीय पश्तून नेताओं पर निर्भर है।

भारत-अफगानिस्तान के संबंध मजबूत रहे हैं
बता दें कि, भारत और अफगानिस्तान के बीच के संबंध काफी अच्छे रहे हैं। भले ही सत्ता में कोई भी हो भारत हमेशा अफगानिस्तान के नागरिकों और काबुल की भलाई के विषय में ही सोचता रहा है। भारत ने अमेरिका के नेतृत्व वाले गठबंधन के हिस्से के रूप में 9/11 के बाद अफगानिस्तान में अपने सैनिकों को भेजने से इनकार कर दिया था, यह दशकों से उस देश में सड़क, बिजली, बांधों, बुनियादी ढांचे के निर्माण परियोजनाओं में लगातार शामिल रहा है।

भारत ने हमेशा अफगानिस्तान की मदद की है
भारत ने गुरुवार को अफगानिस्तान में भूकंप प्रभावित लोगों के लिए मानवीय सहायता से भरा एक रूसी आईएल-76 हेवी लिफ्ट विमान भेजी थी और भूकंप पीड़ितों के प्रति संवेदना भी प्रकट की थी। लेकिन पाकिस्तान भारत के खिलाफ हमेशा ही जहर उगलता रहा है।

ये भी पढ़े: Modi to visit UAE: विवादों से दूर भारत-UAE का रिश्ता अटूट कैसे बनता जा रहा है?ये भी पढ़े: Modi to visit UAE: विवादों से दूर भारत-UAE का रिश्ता अटूट कैसे बनता जा रहा है?

Comments
English summary
Caught unaware by India sending an official delegation to Kabul for resumption of bilateral ties with the ruling Taliban, Pakistan has decided to play a spoilsport by directing its diplomatic missions abroad to point out alleged contradictions between India and the Islamic Emirate.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X