• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

कोरोना वायरस के इलाज में कितना कारगर है रेमेडिसविर इंजेक्शन, WHO ने किया खुलासा

|

नई दिल्ली, 13 अप्रैल। एंटीवायरल दवा रेमेडिसविर की बढ़ती मांग के बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन ने बेहद चौंकाने वाला खुलासा किया है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने रेमेडिसविर को लेकर कहा है कि अभी तक ऐसे कोई प्रमाण नहीं मिले हैं जिससे यह साबित हो सके कि यह दवा कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के इलाज में उपयोगी है।

Remdesivir
    Coronavirus India: Remdesivir के लिए मारामारी के बीच WHO ने दे दी ये सफाई | वनइंडिया हिंदी

    विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की मुख्य वैज्ञानिक डॉ. सौम्या स्वामीनाथन और कोरोना पर इसकी तकनीकी टीम की हेड डॉ. मारिया वान केरखोव ने सोमवार को इंडिया टुडे से बातचीत मे कहा कि हमारे द्वारा किए गए पांच परीक्षणों में हमने यह पाया कि रेमेडिसविर ने अस्पतालों में भर्ती मरीजों की मृत्यु दर को कम करने या उनकी यांत्रिक आवश्यकता को कम करने में कोई मदद नहीं की।

    यह भी पढ़ें: यूपी में बेकाबू हुआ कोरोना वायरस, एक दिन में कोविड से 72 की मौत, 13 हजार से ज्यादा नए मामले

    रेमेडिसविर को लेकर पूर्व में किये गए परीक्षणों के बारे में बताते हुए डॉ. स्वामीनाथन ने कहा, 'रेमेडिसविर को लेकर पूर्व में जो पांच परीक्षण किये गये वह आवश्यक रूप से दर्शाते हैं कि अस्पताल में भर्ती जिन मरीजों को यह दवा दी गई थी उनमें मृत्यु दर कम नहीं हुई और न ही ऐसे मरीजों के स्वास्थ्य में किसी प्रकार की प्रगति देखने को मिली और न ही अस्पताल में उनके भर्ती होन के समय में कमी आई।'

    नैदानिक परीक्षणों के आधार पर WHO ने पिछले साल अस्पताल में भर्ती मरीजों के खिलाफ रेमेडिसविर के इस्तेमाल को लेकर निर्देश जारी किए थे।

    WHO की तमनीकी विभाग की प्रमुख डॉ. वान केरखोव ने कहा कि इस दवा के परीक्षणों के आधार पर हमने केवल आपातकालीन परिस्थिति में इसके इस्तेमाल की मंजूरी दी है। क्योंकि दवा के इस्तेमाल से मरीजों के स्वास्थ्य में कोई सुधार देखने को नहीं मिला है। लेकिन अभी भी रेमेडिसविर पर हम लगातार परीक्षण कर रहे हैं।

    हालांकि डॉ. स्वामीनाथन ने यह भी कहा कि रेमेडिसविर को लेकर अभी उम्मीद बाकी है क्योंकि इसको लेकर किए गए कुछ छोटे मोटे अध्ययनों में यह सामने आया है कि इसके इस्तेमाल से बेहद कम मात्रा में लाभ हुआ है। लेकिन जिन मरीजों को इससे लाभ हुआ है उनकी संख्या बेहद कम है। उन्होंने आगे कहा कि विश्व के कई स्वास्थ्य संगठन अभी इस दवा के परिणामों को लेकर परीक्षण कर रहे हैं और कुछ ही हफ्तों में इन परीक्षणों के परिणाम समाने आएंगे।

    भारत ने रेमेडिसविर के निर्यात पर लगाया बैन

    भारत सरकार ने देश में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए रेमेडिसविर के निर्यात पर बैन लगा दिया था। भारत में कोरोना वायरस के उपचार के रूप में इस दवा के इस्तेमाल को मंजूरी मिली हुई है।

    English summary
    no evidence yet of Remdesivir being helpful in covid treatment said who
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X