• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

प्रत्यर्पण से बचने के लिए नीरव मोदी ने चला एक और दांव, लंदन हाई कोर्ट में दायर की अपील

|

लंदन, 1 मई। ब्रिटेन में रह रहे भगोड़े कारोबारी नीरव मोदी ने भारत में अपने प्रत्यर्पण के खिलाफ ब्रिटेन के उच्च न्यायालय में बुधवार को अपील की। नीरव मोदी की अपील उन दो आदेशों के खिलाफ है जिसमें से एक में 25 फरवरी को वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट अदालत ने उसे भारत को प्रत्यर्पित करने का आदेश दिया था और दूसरे में ब्रिटेन की गृह सचिव प्रीति पटेल ने 15 अप्रैल को उसके प्रत्यर्पण के आदेश को मंजूरी दी थी। प्रीति पटेल ने पंजाब नेशनल बैंक घोटाला और मनी लॉन्ड्रिंग मामले में दोषी पाए जाने के लगभग दो महीने बाद नीरव मोदी के प्रत्यर्पण को मंजूरी दी।

    PNB Scam: India आने से बचने के लिए Nirav Modi ने खटखटाया हाईकोर्ट का दरवाजा | वनइंडिया हिंदी

    Nirav Modi

    लंदन हाई कोर्ट के प्रशासनिक कोर्ट ने शुक्रवार को कहा कि नीरव मोदी की 28 अप्रैल को अर्जी मिली है जिसमें उसने कहा है कि उसके मामले पर भारत में निष्पक्ष सुनवाई नहीं होगी और उसे राजनीतिक कारणों से निशाना बनाया जाएगा। उसका यह भी कहना है कि भारतीय जेलों की स्थिति सही नहीं है और उसके खिलाफ सबूत भी पुख्ता नहीं हैं। वहीं उसने वेस्टमिंस्टर कोर्ट और प्रीति पटेल के फैसले के खिलाफ भी अपील की है।

    यह भी पढ़ें: कोरोना ने तोड़े सारे रिकॉर्ड: 24 घंटों के भीतर मिले 4 लाख से ज्यादा नए मरीज, 3523 लोगों की मौत

    मालूम हो की नीरव मोदी पर पंजाब नेशलल बैंक के साथ 14 हजार करोड़ की धोखाधड़ी करने का आरोप है। धोखाधड़ी करने के बाद वह लंदन भाग गया था, लेकिन भारत के अनुरोध पर उसे लंदन में गिरफ्तार किया गया और मार्च 2019 से वह वैंडवर्स्थ जेल में बंद है और वह भारत सरकार द्वारा लगाए गए धोखाधड़ी के आरोपों से इंकार करता रहा है।

    English summary
    Nirav Modi filed appeal in London High Court to avoid his extradition to india
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X