• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

नेपाल पहुंचा अफ्रीकन स्वाइन फ्लू, 934 की मौत, बिहार पर खतरा बढ़ा

|
Google Oneindia News

काठमांडू, 20 मईः विश्व पशु स्वास्थ्य संगठन ने नेपाल में अफ्रीकी स्वाइन फ्लू के पहले प्रकोप की पुष्टि की है। काठमांडू पोस्ट अखबार के मुताबिक नेपाल की राजधानी में छह नगरपालिकाओं में अब तक बुखार से 934 सूअरों की जान गयी है। नेपाल में गुरुवार शाम तक अफ्रीकी स्वाइन फ्लू के 1426 अतिसंवेदनशील और 1346 सक्रिय मामले आए हैं। विश्व पशु स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक घटना का स्त्रोत या संक्रमण की उत्पत्ति स्वाइल फीडिंग थी। नेपाल में कृषि पशुधन विकास मंत्रालय के सूचना अधिकारी डॉ चंद्र ढकाल ने कहा कि हम इसके बारे में विस्तृत जानकारी देने के लिए जल्द ही एक प्रेस बैठक करेंगे।

दुनिया भर में फैल रहा अफ्रीकी स्वाइन फ्लू

दुनिया भर में फैल रहा अफ्रीकी स्वाइन फ्लू

सूअर कई देशों में घरेलू आय का एक प्राथमिक स्त्रोत है। दुनिया भर में अफ्रीकन स्वाइन फ्लू के प्रसार ने कई संचालित सूअर फार्मों को बर्बाद कर दिया है। अफ्रीकन स्वाइन फ्लू दुनिया भर में फैल रहा है जिससे सूअर के स्वास्थ्य और कल्याण को खतरा है। यह रोग एशिया, कैरिबियन द्वीप स्मूह, यूरोप औऱ प्रशांत क्षेत्र के कई देशों में फैल चुका है, जिससे घरेलू और जंगली दोनों सूअर दोनों प्रभावित होते हैं। विश्व स्तर पर 2005 से कुल 73 देशों में एएसएफ की सूचना मिली है।

बिहार में फैलने का खतरा बढ़ा

बिहार में फैलने का खतरा बढ़ा

नेपाल में अफ्रीकन स्वाइन फ्लू के मामले आने के बाद से इसकी सीमा से सटे बिहार में भी इसके फैलने का खतरा बढ़ता जा रहा है। नेपाल और भारत की सीमा खुली होने की वजह से बिहार में सूअरपालन कर रहे किसान इससे प्रभावित हो सकते हैं। बता दें कि भारत में दो साल पहले अफ्रीकी स्वाइन फ्लू का मामला सामने आया था। इससे उत्तर पूर्वी भारत के राज्य काफी प्रभावित हुए थे। असम, त्रिपुरा जैसे राज्यों में हजारों सूअर मारे गए।

क्या है अफ्रीकन स्वाइन फ्लू

क्या है अफ्रीकन स्वाइन फ्लू

बता दें कि अफ्रीकन स्वाइन फीवर सुअरों में पाई जाने वाली संक्रामक बीमारी है, यह काफी तेजी से सुअरों में फैलती है। यह बीमारी जब अपने चरम पर होती है तो मृत्यु दर काफी अधिक होती है। स्वाइन फ्लू और अफ्रीकन स्वाइन फ्लू दोनों अलग बीमारी हैं। राहत की बात यह है कि अफ्रीकन स्वाइन फ्लू का इंसानों पर असर नहीं होता है और उनका स्वास्थ्य इससे प्रभावित नहीं होता है लेकिन सुअरों में यह काफी तेजी से फैलता है और बड़ी संख्या में सुअरों की मौत हो जाती है।

Comments
English summary
Nepal has reported its first cases of African swine fever in pigs, according to the Paris-based World Organization for Animal Health.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X