• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

आपने इतने करीब से कभी नहीं देखा होगा सूरज, NASA ने शेयर किया खौलते SUN की वीडियो

|
Google Oneindia News

वाशिंगटन, 29 जुलाई: सूर्य से जुड़े रहस्यों को जानने के लिए इंसान काफी उत्सुक होते हैं। सूर्य सदियों से लोगों के लिए आकर्षण का केंद्र रहा है। अब एडवांस टेक्नोलॉजी के जरिए साइंटिस्ट सूरज से जुड़ी पहेलियों का खुलासा करने में सफलता हासिल करने लगे हैं। ऐसे में नासा ने एक अद्भुत वीडियो शेयर की है, जो सूरज की सतह से एक कोरोनल मास इजेक्शन (सीएमई) को दिखाती है। इस वीडियो में आप सूरज को काफी करीब से देख पाएंगे, जिस सूर्य को धरती से इंसान पांच मिनट तक टकटकी लगाए नहीं देख सकता। उसे इतने करीब से देखना काफी कमाल का अहसास है।

    आपने इतने करीब से कभी नहीं देखा होगा सूरज, NASA ने शेयर किया खौलते SUN की वीडियो
    NASA ने शेयर किया सूर्य का अद्भुत नजारा

    NASA ने शेयर किया सूर्य का अद्भुत नजारा

    अंतरिक्ष को लेकर हमारे वैज्ञानिक रोज नए-नए खुलासे करते हैं। धरती से दूर आकाशमंडल की नई-नई वीडियो से हमको रूबरू कराते हैं। विभिन्न स्पेस एजेंसियों की ओर से बनाए गए सोशल मीडिया हैंडल और पेजों के जरिए वो हमको इन घटनाओंं की जानकारी देते हैं। अब ऐसे ही सूर्य के अद्भुत नजारे को अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने अपने इंस्टाग्राम पेज पर शेयर किया है, जिसको देखने के बाद लोगों को यकीन नहीं हो रहा कि यह वाकई में रियल है।

    NASA ने किया सूरज की वीडियो शेयर

    NASA ने किया सूरज की वीडियो शेयर

    NASA ने सूर्य की वीडियो शेयर करते हुए लिखा किसौर मंडल की हमारी समीक्षा? वन स्टार। इसके साथ ही उन्होंने आगे की अपनी लाइनों में सीएमई के बारे में अधिक जानकारी साझा की, जिससे जुड़ा वीडियो उन्होंने शेयर किया। नासा ने बताया कि सौर प्लाज्मा की तरंगें अंतरिक्ष में अरबों कणों को लगभग 1 मिलियन मील या 1,600,000 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से शूट करती हैं।

    एसडीओ से देखी गई अत्यधिक UV Ray

    एसडीओ से देखी गई अत्यधिक UV Ray

    नासा ने अपने पोस्ट में बताया कि साल 2013 में हमारे सोलर डायनेमिक्स ऑब्जर्वेटरी (एसडीओ) की ओर से अत्यधिक पराबैंगनी प्रकाश (UV Ray) में देखा गया यह विशेष कोरोनल मास इजेक्शन (सीएमई) पृथ्वी की ओर नहीं गया। सूर्य पर भारी विस्फोट जैसे सौर फ्लेयर्स के विपरीत, विकिरण के शक्तिशाली विस्फोट हैं, जो अस्थायी रूप से कम्युनिकेशन और नेविगेशन ब्लैकआउट का कारण बन सकते हैं, अगर बिजली कंपनियां तैयार नहीं हैं तो इस तरह के सीएमई अस्थायी रूप से विद्युत प्रणालियों को ओव्हर लोडेड कर सकते हैं। इसके साथ ही नासा ने कहा कि शुक्र है। सौर वेधशालाओं का हमारा बेड़ा हमें अंतरिक्ष मौसम के इन आकर्षक घटकों को ट्रैक करने में मदद करता है, इसलिए पृथ्वी पर बाधा न्यूनतम हैं।

    क्या यह एक सच्ची फुटेज है? नासा ने दिया जवाब

    क्या यह एक सच्ची फुटेज है? नासा ने दिया जवाब

    वहीं खबर लिखने तक नासा की ओर से शेयर किए गए इस वीडियो को करीब 11 घंटे बीत चुके है, जिसमें अब तक इसे 3 करोड़ से ज्यादा बार देखा जा चुका हैं। साथ ही देखने वालों का आंकड़ा भी लगातार बढ़ रहा है। वहीं एकइंस्टाग्राम यूजर ने वीडियो के बारे में पूछा कि 'क्या यह एक सच्ची फुटेज है', जिसका नासा ने जवाब देते हुए कहा कि 'हां! हमारी सोलर डायनेमिक्स ऑब्जर्वेटरी ने इसे एक लाइट फिल्टर के साथ कैप्चर किया है। अंतरिक्ष यान सूर्य की परिक्रमा करता है और उसकी गतिविधि पर नजर रखता है ताकि हम इसे बेहतर ढंग से समझ सकें।

    सातों समुद्र में है जितना पानी, सूरज पर है उससे भी बड़ा विशालकाय सोने का भंडार, जानिए अद्भुत खोजसातों समुद्र में है जितना पानी, सूरज पर है उससे भी बड़ा विशालकाय सोने का भंडार, जानिए अद्भुत खोज

    English summary
    NASA shared amazing view of Sun video people asked is it real
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X