• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Mumbai Terror Attack: मास्टरमाइंड लखवी को 15 साल की सज़ा, टेरर फंडिंग का दोषी

|

Mumbai Terror Attack: इस्लामाबाद। मुंबई आतंकी हमले के मास्टर माइंड और लश्कर-ए-तैयबा (Lashkar-e-Taiba) के ऑपरेशनल कमांडर जकीउर रहमान लखवी (Zaki Ur Rehman Lakhvi) को पाकिस्तान की एक अदालत ने 15 साल की सजा सुनाई गई है। लखवी को पिछले ही दिनों टेरर फंडिंग के आरोप में पाकिस्तान में गिरफ्तार किया गया था। लाहौर की एक आतंकवाद निरोधी कोर्ट ने लखवी की सजा का ऐलान किया है।

    Pakistan Court ने Zakiur Rahman Lakhvi को सुनाई 15 साल जेल की सजा | वनइंडिया हिंदी
    आतंकियों के लिए जुटाता था फंडिंग

    आतंकियों के लिए जुटाता था फंडिंग

    लाहौर की एक आतंकवाद निरोधी कोर्ट ने लखवी की सजा का ऐलान किया है। लखवी को आतंकी मसूद अजहर के खास लोगों में गिना जाता है। उस पर आरोप है कि वह स्वास्थ्य सेवा के नाम पर आतंकियों के लिए फंडिंग जुटाने का काम करता है। इन पैसों का इस्तेमाल करके आतंकियों की ट्रेनिंग और उनके लिए हथियार जुटाए जाते हैं।

    लखवी ने ही पाकिस्तान में मौजूद आतंकी सरगना हाफिज सईद के साथ मिलकर 2008 में मुंबई में हुए आतंकी हमले की साजिश रची थी। मुंबई हमले का पूरा प्लान लखवी ने ही बनाया था और इसे हाफिज सईद को दिया था। हाफिज सईद की मंजूरी मिलने के बाद भारी हथियारों से लैस 10 आतंकी 26 नवम्बर 2008 को मुंबई शहर में घुसे थे। इन आतंकियों ने शहर के प्रमुख स्थानों को निशाना बनाते हुए अंधाधुंध गोलियां चलाई थीं। इस हमले में 166 लोग मारे गए थे जबकि 300 से अधिक लोग घायल हुए थे।

    पाकिस्तान में सज़ा के मायने

    पाकिस्तान में सज़ा के मायने

    पाकिस्तान में ये सजा ऐसे समय में सुनाई गई है जब जल्द ही एफएटीएफ की बैठक होने वाली है जिसमें पाकिस्तान को लेकर फैसला होना है। पाकिस्तान के खिलाफ आतंकियों को लेकर अंतरराष्ट्रीय जगत में बहुत दबाव है। पाकिस्तान को आतंकियों को संरक्षण देने के चलते फाइनेंशियल एक्शन टाक्स फोर्स (FATF) ने ग्रे लिस्ट में डाल रखा है जिसके चलते पाकिस्तान को अंतरराष्ट्रीय संस्थाओं से कर्ज मिलना भी मुश्किल हो गया है।

    इस लिस्ट की समीक्षा करने के लिए इसी जनवरी-फरवरी में एफएटीएफ की बैठक होने वाली है। ऐसे में पाकिस्तान ग्रे लिस्ट से निकलने के लिए छटपटा रहा है। यही वजह है कि लखवी को 2 जनवरी को पाकिस्तान ने गिरफ्तार किया और अब 7 दिन बाद उसे कोर्ट ने सजा सुना दी है।

    अमेरिका ने किया था गिरफ्तारी का स्वागत

    अमेरिका ने किया था गिरफ्तारी का स्वागत

    ऐसा लगता है कि पाकिस्तान की छवि सुधारने की कोशिश का असर होता भी अब दूसरे देशों पर पड़ने लगा है। दो दिन पहले ही अमेरिका ने लश्कर-ए-तैयबा के आतंकी लखवी की गिरफ्तारी का स्वागत किया था। जाहिर है कि अब सज़ा सुनाए जाने के बाद पाकिस्तान ये दावा कर सकेगा कि वह आतंकियों पर कार्रवाई कर रहा है।

    मुंबई में हुए नृशंस आतंकी हमले में नाम आने के बाद जकीउर रहमान लखवी पूरी दुनिया की नजर में आया था। संयुक्त राष्ट्र ने भी उसे आतंकी घोषित किया था। दबाव बढ़ता देख उस समय पाकिस्तान की सरकार ने लखवी को गिरफ्तार भी किया था लेकिन 2015 में उसे जेल से छोड़ दिया गया था जिसके बाद उसे इस साल 2 जनवरी को गिरफ्तार किया गया। आज शुक्रवार को लाहौर की एंटी टेररिस्ट कोर्ट ने उसे सज़ा सुनाई है।

    Mumbai Terror Attack का मास्टरमाइंड जकीउर रहमान लखवी पाकिस्तान में गिरफ्तार

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Mumbai Terror Attack zaki ur rehman lakhvi sent to jail for 15 years
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X