• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Mother's Day 2021: कमला हैरिस की मां की कहानी, जिन्होंने कमला की रगों में क्रांति की चिंगारी भर दी...

|
Google Oneindia News

वॉशिंगटन, मई 09: मां से बड़ा दुनिया में कोई योद्धा नहीं। एक फिल्म का ये डॉयलॉग सिर्फ एक डॉयलॉग भर नहीं बल्कि एक मां की संघर्ष का विस्तृत व्याख्या है। एक मां जब अपने बच्चे को पालती है तो उस वक्त उससे ज्यादा मजबूत कोई नहीं होता है और इसका अंदाजा अमेरिका की उपराष्ट्रपति कमला हैरिस को देखकर आप आसानी से लगा सकते हैं। कमला हैरिस...अमेरिका की दूसरी सबसे शक्तिशाली शख्सियत, लेकिन उनके पीछे था मां का आशीर्वाद। और इस बात को कमला हैरिस हर मंच से स्वीकार करती हैं और कहती हैं कि आज वो जो कुछ भी है, उसके पीछे सिर्फ और सिर्फ उनकी मां का योगदान है।

सबसे शक्तिशाली मां

सबसे शक्तिशाली मां

20 जनवरी 2021, अमेरिका में नई सरकार का शपथ ग्रहण चल रहा था और राष्ट्रपति जो बाइडेन के बाद शपथ लेने आईं कमला हैरिस। उप-राष्ट्रपति पद की शपथ लेने के बाद कमला हैरिस ने जो कहा वो इतिहास में हमेशा हमेशा के लिए दर्ज हो गया। कमला हैरिस ने कहा कि सिर्फ 19 साल की उम्र में उनकी मां भारत से अमेरिका आ गईं और उस वक्त उन्होंने कल्पना भी नहीं किया होगा कि एक वक्त आएगा जब मेरी बेटी सबसे पुराने लोकतंत्र में दूसरी सबसे शक्तिशाली नेता होंगी। कमला हैरिस ने कहा कि 'मैं आज यहां हूं लेकिन यहां मेरी मौजूदगी के पीछे जिस महिला का सबसे बड़ा हाथ है, वो हाथ है मेरी मां का'।

कमला हैरिस की मां श्यामला गोपालन

कमला हैरिस की मां श्यामला गोपालन

कमला हैरिस की मां का नाम है श्यामला गोपालन। जो भारत के तामिलनाडु की रहने वाली थीं। श्यामला गोपालन महज 19 साल की उम्र में अमेरिका आ गईं, जहां उन्होंने जमैकन मूल के अश्वेत डोनाल्ड हैरिस से शादी कर ली। जिसकी वजह से कमला हैरिस का बचपन भारत और जमैका, दोनों जगह बीता है। कमला हैरिस उन नेताओं में से एक हैं, जो तीन अलग अलग कल्चर, भारत, अमेरिका और जमैकन में पली बढ़ीं। कमला हैरिस की मां ने अमेरिका में काफी ज्यादा संघर्ष किया। कमला हैरिस की मां श्यामला गोपालन का संघर्ष, उनकी लव स्टोरी और लाइफ किसी रोमांचक कहानी से कम नहीं है।

कमला हैरिस की मां की जिंदगी

कमला हैरिस की मां की जिंदगी

कमला हैरिस की मां श्यामला गोपालन तामिलनाडु के तिरूवूरूर जिले के मन्नारगुड़ी के पास पिंगनाडु की रहने वाली थीं। हालांकि, अब कमला हैरिस की मां का कोई भी रिश्तेदार इस गांव में नहीं रहता है। कमला हैरिस की मां हायर एजुकेशन के लिए दिल्ली चली गईं और बाद में आगे की पढ़ाई के लिए कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी पहुंच गईं। कमला हैरिस की मां पढ़ाई पूरा करने के बाद वापस भारत लौटने वाली थीं, जहां वो अपने माता-पिता की मर्जी से शादी करने वाली थीं, लेकिन एक घटना ने उनकी पूरी जिंदगी बदल दिया और वो हमेशा के लिए अमेरिका की होकर ही रह गईं।

अमेरिका में सिविल संघर्ष

अमेरिका में सिविल संघर्ष

1950 के आसपास अमेरिका में सिविल संघर्ष शुरू हो गया। अमेरिका में ब्लैक मुवमेंट काफी ज्यादा जोर पकड़ चुका था और श्मामला गोपालन भी इस आंदोलन में कूद चुकी थीं। श्यामला गोपालन धीरे धीरे इस आंदोलन में काफी सक्रिय हो चुकी थीं और आंदोलन के दौरान ही उनकी मुलाकात डोनाल्ड हैरिस से हुई थी। डोनाल्ड हैरिस जमैका से अमेरिका पढ़ने आए थे। आंदोलन के दौरान ही दोनों में प्यार हो गया। कमला हैरिस की मां ब्राह्मण थीं, मगर उन्होंने सामाजिक रीति-रिवाज को तोड़ते हुए उस लड़के से शादी की जो ना ब्राह्मण था और ना ही भारतीय। उस जमाने के हिसाब से कमला हैरिस की मां ने बेहद बड़ा फैसला लिया था। हालांकि, कई रिपोर्ट्स में कहा गया है कि कमला हैरिस के पिता सांस्कृतिक तो थे मगर कट्टर नहीं थे। हालांकि, शादी के कई सालों के बाद दोनों का तलाक हो गया। कमला हैरिस ने एक बार बताय था कि जब उनके माता-पिता का तलाक हुआ था तो वो किसी और बात पर नहीं, किताबों को लेकर झगड़े थे, कि किताब किसके हिस्से में आएगा।

कमला हैरिस के खून में है आंदोलन

कमला हैरिस की मां और पिता, दोनों एक आंदोलनकारी थे और कमला हैरिस के खून में भी आंदोलन भरा हुआ है। हर मुद्दे पर मुखर होकर अपनी बात रखना कमला हैरिस का सबसे बड़ा स्वभाव है और उसी की बदौलत अमेरिका की राजनीति में कमला हैरिस लगातार आगे बढ़ती गईं। कमला हैरिस के नाना पीवी गोपालन भारत में एक स्वतंत्रता सेनानी थे और उनकी मां ने अमेरिका में ब्लैक आंदोलन में काफी योगदान दिया था। इसका जिक्र खुद कमला हैरिस ने अपनी किताब स्मार्ट ऑन क्राइम में किया हुआ है। वहीं, कमला हैरिस की नानी भी कई आंदोलन में शामिल हो चुकी थीं।

कमला हैरिस पर मां का असर

कमला हैरिस पर मां का असर

कमला हैरिस ने अपनी किताब में कहा है कि उनके ऊपर उनके पिता से ज्यादा उनकी मां का असर है, क्योंकि उनकी मां ने शुरू से ही सामाजिक बंधनों को तोड़ा है और बेटियों को भी उन्होंने वही संस्कार दिए। अपनी एक इंस्टाग्राम पोस्ट में कमला हैरिस ने लिखा था कि 'मैं एक ऐसी मां की बेटी हूं, जिन्होंने सभी सामाजिक बंधनों को तोड़ा था।' 2009 में कमला हैरिस की मां श्मामला गोपालन का कैंसर की वजह से निधन हो गया। मगर, कमला हैरिस अपनी मां को भूली नहीं है। वो अपनी सफलता के पीछे सबसे ज्यादा हाथ अपनी मां का ही बताती हैं।

Mother's Day 2021: करीना ने शेयर की छोटे बेटे की तस्वीर, कही दिल छू लेने वाली बातMother's Day 2021: करीना ने शेयर की छोटे बेटे की तस्वीर, कही दिल छू लेने वाली बात

English summary
Learn the story of Shyamala Gopalan, mother of Kamala Harris, on Mother's Day, who helped Kamala Harris reach the position of Vice President of America.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X