India
  • search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts
Oneindia App Download

मंकीपॉक्स को 'कोरोना' बनने से रोका जा सकता है, लेकिन... WHO ने बताए सुरक्षा के नये नियम

|
Google Oneindia News

न्यूयॉर्क, 28 मई : दुनिया के कई देशों में मंकीपॉक्स का खतरा बढ़ता जा रहा है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इसे चुनौती मानते हुए चिंता प्रकट की है। डब्ल्यूएचओ ने कहा है कि अगर समय रहते कार्रवाई की जाती है तो हम मंकीपॉक्स पर काबू पा सकते हैं। बता दें कि, अभी तक दुनिया भर में मंकीपॉक्स के कई सारे मामले सामने आ चुके हैं। ये सारे केस ब्रिटेन, यूरोपीय देश, उत्तरी अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया समेत 12 देशों में मिले हैं। वहीं, नेशनल सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल और इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च को अलर्ट रहने को कहा है।

monkeypox
कैसे बचा जाए मंकीपॉक्स से
    MonkeyPox News: दुनियाभर में बढ़ा MonkeyPox का खतरा, WHO ने किया बड़ा खुलासा

    विश्व स्वास्थ्य संगठन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि दुनिया के देशों को मंकीपॉक्स को फैलने से को रोकने के लिए त्वरित कदम उठाने चाहिए और अपने टीके के भंडार के बारे में डेटा साझा करना चाहिए। ग्लोबल इंफेक्शियस हैज़र्ड प्रिपेयरनेस के लिए डब्ल्यूएचओ के निदेशक सिल्वी ब्रायंड, ने यूएन. एजेंसी की वार्षिक सभा में कहा कि, अगर समय रहते सही से उपाय किए जाते हैं तो मंकीपॉक्स को फैलने से रोका जा सकता है। बता दें कि, पश्चिम और मध्य अफ्रीकी देश के कुछ हिस्सों में मंकीपॉक्स बीमारी लोगों में देखने को मिली हैं। यह बीमारी एक हल्का वायरल संक्रमण है।

    जानकारी के मुताबिक अब तक दुनिया के 20 देशों से मंकीपॉक्स के 300 पुष्ट या संदिग्ध मामले सामने आए हैं। ये वैसे देश हैं जहां इससे पहले मंकीपॉक्स वायरस का संक्रमण नहीं फैला है।

    मंकीपॉक्स क्या है?
    मंकीपॉक्स चेचक फैमिली से रिलेटेड एक दुर्लभ वायरल पॉक्स जैसी बीमारी है, लेकिन यह मामूली है। यह सांस की बूंदों, शरीर के तरल पदार्थ के संपर्क में आने या किसी संक्रमित जानवर या पशु उत्पादों के संपर्क में आने से फैल सकता है। इस बीमारी को मंकीपॉक्स कहा जाता है क्योंकि इसकी पहचान सबसे पहले प्रयोगशाला के बंदरों में की गई थी इसलिए इसे मंकीपॉक्‍स नाम दिया गया। मंकीपॉक्स ज्यादातर मध्य और पश्चिमी अफ्रीका में होता है।

    मंकीपॉक्स का मनुष्‍य में पहला केस
    1970 में कांगो लोकतांत्रिक गणराज्य में दर्ज किया गया था। 2003 में आयातित अफ्रीकी कृन्तकों से पालतू प्रैरी कुत्तों में वायरस फैलने के बाद संयुक्त राज्य अमेरिका ने मनुष्यों के बीच एक बड़ा प्रकोप देखा। हालांकि, डलास काउंटी के स्वास्थ्य अधिकारियों के अनुसार, टेक्सास निवासी में यह पहला मंकीपॉक्स वायरस संक्रमण माना जाता है।

    मंकीपॉक्स के लक्षण और उपचार
    सीडीसी के अनुसार, मंकीपॉक्स के लक्षण आमतौर पर फ्लू जैसी बीमारी और लिम्फ नोड्स की सूजन से शुरू होते हैं, फिर चेहरे और शरीर पर एक व्यापक दाने। अधिकांश संक्रमण 2-4 सप्ताह तक चलते हैं। मंकीपॉक्स संक्रमण के लिए कोई विशिष्ट विशेष ट्रीटमेंट नहीं पता है। हालांकि, अमेरिका में मंकीपॉक्स और चेचक के खिलाफ एक वैक्सीन को लाइसेंस दिया गया है।

    कैसे फैलता है मंकीपॉक्स?
    शारीरिक तरल पदार्थ, घाव, या शारीरिक तरल पदार्थ से संक्रमित किसी भी चीज़ के माध्यम से वायरस को एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में पारित किया जा सकता है, हालांकि यह आमतौर पर बड़ी श्वसन बूंदों के माध्यम से स्थानांतरित होता है जो केवल कुछ फीट तक ही ये जीविज रहते हैं। नतीजतन, सीसीडी का दावा है कि वायरस के प्रसार के लिए लगातार आमने-सामने संपर्क की आवश्यकता होती है। न्यू यॉर्क टाइम्स ने यूसीएलए फील्डिंग स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ में महामारी विज्ञान के प्रोफेसर ऐनी रिमोइन के हवाले से कहा कि मंकीपॉक्स कोरोनवायरस या इन्फ्लूएंजा के रूप में संक्रामक नहीं था।

    ये भी पढ़ें : MONKEYPOX बीमारी क्या है? जानिए कारण, लक्षण और इलाजये भी पढ़ें : MONKEYPOX बीमारी क्या है? जानिए कारण, लक्षण और इलाज

    Comments
    English summary
    Countries should take quick steps to contain the spread of monkeypox and share data about their vaccine stockpiles, a senior World Health Organization official said...
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X