• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

लंदन: 9 जुलाई तक हिरासत में भेजा गया नीरव मोदी, सुनवाई के दौरान साधे रहा चुप्पी

|

ई दिल्ली: भगोड़े हीरा व्यापारी नीरव मोदी के मामले में गुरुवार को ब्रिटेन की अदालत में सुनवाई हुई। इस दौरान कोर्ट ने नीरव मोदी को 9 जुलाई तक हिरासत में भेज दिया है। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए लंदन स्थित वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट की अदालत में नीरव मोदी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पेश हुआ। इस दौरान नीरव कागज पर कुछ लिखता हुआ नजर आया। साथ ही सुनवाई के दौरान चुप्पी साधे रहा। नीरव मोदी पर पंजाब नेशनल बैंक के साथ करीब दो अरब डॉलर की धोखाधड़ी करने का आरोप है।

britain

रिपोर्ट के मुताबिक अभी कोर्ट ने नीरव मोदी को 28 दिनों की रिमांड पर भेजा है। अगली सुनवाई भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए होगी, इस दौरान उसके प्रत्यर्पण को लेकर अदालत भारत सरकार और नीरव के वकील का पक्ष सुनेगी। सुनवाई के दौरान जज सैमुअल गूजी ने नीरव से कहा कि सात सितंबर को आपके प्रत्यर्पण की प्रक्रिया के संबंध में हो रही सुनवाई से पहले वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए आपकी पेशी होगी। पूरी सुनवाई के दौरान नीरव ने मुंह नहीं खोला, कोर्ट को सिर्फ उसने अपना नाम और राष्ट्रीयता बताई।

नीरव मोदी-मेहुल चोकसी की 1350 करोड़ रुपए की ज्वेलरी हॉन्गकॉन्ग से लेकर आई ED

मानसिक बीमारी का हवाला दे रहे वकील

भगोड़े नीरव मोदी को मार्च 2019 में लंदन में गिरफ्तार किया गया था, तब से वो ब्रिटेन की जेल में बंद है। भारत उसके खिलाफ वहां की अदालत में प्रत्यपर्ण की कानूनी लड़ाई लड़ रहा है। पिछले दिनों सुनवाई के दौरान नीरव मोदी के वकील ने कहा था कि वो वर्तमान समय में गंभीर मानसिक बीमारी से ग्रसित है, उसका भारत की जेल में विशेषकर आर्थर रोड जेल में उचित इलाज नहीं हो सकता हैं। जेल की स्थितियों पर भारतीय सरकार का आश्वासन अपर्याप्त हैं। ऐसे में उनका भारत को प्रत्‍यार्पण करना उचित नहीं होगा।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
London court sent nirav modi to custody till 9 july
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X