• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

सोशल मीडिया के ज़रिए ग़ुलाम बेचे जाने पर कुवैत की कार्रवाई

By ओवेन पिनेल और जेस केली

ग़ुलाम
BBC
ग़ुलाम

कुवैत प्रशासन ने कहा है कि घरेलू नौकरों को ग़ुलाम के रूप में बेचने वाले कई सोशल मीडिया अकाउंट्स के होल्डर्स को उन्होंने आधिकारिक रूप से समन भेजा है.

बीबीसी न्यूज़ अरबी की एक जांच में यह बात सामने आई थी कि फ़ेसबुक के स्वामित्व वाली ऐप इंस्टाग्राम समेत गूगल और ऐपल स्टोर पर ऐसी ऐप चल रही हैं जो ग़ुलामों का ऑनलाइन बाज़ार चला रही हैं.

महिलाओं को कामगार के रूप में पेश किया जा रहा था जिनमें 'ट्रांसफ़र के लिए नौकरानी' या 'बिक्री के लिए नौकरानी' जैसे शब्दों के साथ हैशटैग इस्तेमाल किए गए थे.

प्रशासन ने कहा है कि इसमें जो शामिल हैं उन्हें विज्ञापन हटाने के लिए आदेश दिया है.

साथ ही उनसे क़ानूनी आश्वासन लिया गया है कि वह इस तरह की गतिविधियों में कभी भी शामिल नहीं होंगे.

महिला के साथ घरेलू सहायिका
BBC
महिला के साथ घरेलू सहायिका

फ़ेसबुक का कहना, उसने कार्रवाई की

वहीं, इंस्टाग्राम ने भी कहा है कि जब बीबीसी से उसने संपर्क किया तो उसने इस मामले में कार्रवाई की.

उसका कहना है कि उसने इस तरह की सामग्री को फ़ेसबुक और इंस्टाग्राम से हटा दिया है और ग़ुलामों के ऑनलाइन बाज़ार के लिए नए अकाउंट का इस्तेमाल न हो इसके लिए प्रतिबंधित किया जाएगा.

ऐसा लगता है कि घरेलू कर्मियों को ख़रीदने और बेचने वाले इस तरह के कई ऑनलाइन अकाउंट्स ने अब अपनी गतिविधियों को रोक दिया है.

कुवैत में मेनपावर के सार्वजनिक प्राधिकरण के प्रमुख डॉक्टर मुबारक अल-अज़ीमी ने कहा है कि बीबीसी की रिपोर्ट में दिखाई गई एक महिला की जांच की जा रही है. रिपोर्ट में दिखाया गया है कि यह महिला ऐप के ज़रिए गीनिया की एक 16 वर्षीय लड़की को बेच रही है.

इस रिपोर्ट में दिखाए गए पुलिस कर्मी की भी प्राधिकरण जांच कर रहा है.

अल-अज़ीमी का कहना है कि गिरफ़्तारियां और पीड़ितों को मुआवज़ा कार्रवाई के बाद आए निष्कर्षों के बाद ही हो पाएगा.

बीबीसी अरबी टीम ने घरेलू सहायकों के बेचने वालों से मुलाक़ात की
BBC
बीबीसी अरबी टीम ने घरेलू सहायकों के बेचने वालों से मुलाक़ात की

'फ़ेसबुक भी दे मुआवज़ा'

अमरीका के अंतरराष्ट्रीय वकील किम्बरली मॉटली ने इस मामले पर कहा, "मेरा मानना है कि ऐप डेवेलपर्स को महिला सहायिका को मुआवज़ा देना चाहिए. साथ ही संभवतः ऐपल और गूगल को भी देना चाहिए."

"ऐपल स्टोर पर दावा किया जाता है कि स्टोर पर सब कुछ डाले जाने के लिए वे ही ज़िम्मेदार है. तो हमारा सवाल यह है कि इस ज़िम्मेदारी का क्या मतलब है?"

मोटली ने कहा है कि इन महिला कर्मियों को जो तस्करी करके लाया है उनके ख़िलाफ़ भी कुवैत में आपराधिक मामला चलना चाहिए.

गूगल और ऐपल ने कहा है कि वे अपने प्लेटफ़ॉर्म पर अवैध गतिविधि रोकने के लिए ऐप डेवेलपर्स के साथ मिलकर काम कर रहे हैं.

बीबीसी न्यूज़ अरबी ने गुरुवार को अपनी अंडरकवर जांच को प्रकाशित किया था जिसमें पाया गया था कि अवैध रूप से घरेलू सहायकों को बेचने और ख़रीदने की तेज़ी से काला बाज़ारी बढ़ रही है.

BBC Hindi
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Kuwait action on slaves being sold through social media
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X