• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

'आग के साथ खेल रहा है चीन', ताइवान पर हमले की प्लानिंग कर रहे चीन को बाइडेन ने धमकाया

|
Google Oneindia News

टोक्यो, 23 मई : चीन की विस्तारवादी नीति से हर कोई वाकिफ है। वह हर बार अपनी ताकत दिखाकर दुसरे देशों को डराने की कोशिश करता आ रहा है। हालांकि, अमेरिका ड्रैगन की इस चाल को समझ चुका है। उसने चीन को लेकर अपनी विदेश नीतियों में भी बदलाव किया है। क्वाड की बैठक में हिस्सा लेने जापान पहुंचे अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा कि अगर चीन ताइवान पर हमला करता है तो अमेरिका चुप नहीं बैठेगा। उसे करारा जवाब मिलेगा। यह पूछे जाने पर कि क्या आपका इशारा सेना की ओर है, तो इस पर बाइडेन ने 'हां' में जवाब दिया।

US ultimatum to China: Joe Biden ने क्यों कहा China पर हमला कर देगा America ! | वनइंडिया हिंदी
अमेरिका ताइवान की मदद करेगा

अमेरिका ताइवान की मदद करेगा

चीन के ताइवान पर हमले के बारे में बाइडन ने कहा, 'मेरा आकलन कहता है कि यह नहीं होगा, इसका प्रयास नहीं होगा।' बाइडेन ने कहा कि अगर ऐसा होता है तो अमेरिकी सैनिक मदद के जरिए ताइवान की रक्षा करेगा। बाइडन ने आगे कहा, 'यह प्रतिबद्धता जिसे हमने किया है।' बाइडन क्‍वाड देशों की बैठक में हिस्‍सा लेने के लिए जापान पहुंचे हैं। यहां पीएम मोदी, जापान और ऑस्‍ट्रेलिया के पीएम के साथ चीन की घेरेबंदी के लिए बाइडेन बैठक करेंगे।

हमला होगा तो मिलेगा करारा जवाब

हमला होगा तो मिलेगा करारा जवाब

जापान में आयोजित होने जा रहे क्वाड समिट से पहले अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने चीन को ताइवान के मसले पर कड़ा संदेश दिया है। जो बाइडेन ने कहा कि यदि ताइवान पर चीन हमला करता है तो फिर अमेरिका उसका माकूल जवाब देगा। उन्होंने कहा कि ऐसा होने की स्थिति में अमेरिका की ओर से ताइवान को सैन्य मदद दी जाएगी।

अमेरिका देगा चीन को जवाब

अमेरिका देगा चीन को जवाब

बाइडेन ने बेहद सख्त लहजे में कहा कि चीनी ड्रैगन खतरे से खेलने का प्रयास कर रहा है। मीडिया से बात करते हुए जो बाइडेन ने कहा कि अमेरिका ताइवान को रक्षा करने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि वन चाइना पॉलिसी को लेकर सहमत हैं, लेकिन किसी भी क्षेत्र पर यदि चीन की ओर से जबरन कब्जा किया जाता है तो फिर चीन को छोड़ेंगे नहीं, उसका जवाब दिया जाएगा।

ताइवान पर ड्रैगन की नजर

ताइवान पर ड्रैगन की नजर

विशेषज्ञों का मानना है कि अमेरिका ने पिछले कई दशकों में ताइवान के समर्थन में चीन के खिलाफ जोरदार बयान दिया है। बाइडेन ने साफ तौर पर कहा कि, रूस के यूक्रेन पर हमले के बाद ताइवान की रक्षा की जिम्मेदारी ज्यादा बढ़ गई है। पत्रकारों ने पूछा क्या चीन ताइवान पर कब्जा जमाने के लिए अपनी ताकत दिखाएगा। इसका जवाब देते हुए बाइडेन ने आगे कहा, यह पूरे इलाके को अव्यवस्थित कर देगा। यह रूस यूक्रेन युद्ध जैसा होगा।

 बाइडेन नए हिंद-प्रशांत व्यापार समझौते की शुरुआत करेंगे

बाइडेन नए हिंद-प्रशांत व्यापार समझौते की शुरुआत करेंगे

बता दें कि, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन आज नए हिंद-प्रशांत व्यापार समझौते की शुरुआत भी करेंगे, जिसे क्षेत्र के लिए अमेरिका की प्रतिबद्धता का संकेत देने और महामारी एवं यूक्रेन पर रूस के आक्रमण के कारण व्यापार में स्थिरता की आवश्यकता को संबोधित करने के उद्देश्य से तैयार किया गया है। अमेरिकी राष्‍ट्रपति कार्यालय वाइट हाउस ने कहा है कि नया हिंद-प्रशांत व्यापार समझौता आपूर्ति शृंखला, डिजिटल व्यापार, स्वच्छ ऊर्जा, कर्मचारी सुरक्षा और भ्रष्टाचार निरोधी प्रयासों सहित विभिन्न मुद्दों पर अमेरिका और एशियाई अर्थव्यवस्थाओं की अधिक निकटता से काम करने में सहायता करेगा।

ये भी पढ़ें :1.40 लाख सैनिक, 953 लड़ाकू जहाज... ताइवान को <strong>निगलने को तैयार ड्रैगन, चीन का ऑडियो लीक</strong>ये भी पढ़ें :1.40 लाख सैनिक, 953 लड़ाकू जहाज... ताइवान को निगलने को तैयार ड्रैगन, चीन का ऑडियो लीक

Comments
English summary
US President Joe Biden said on Monday he would be willing to use force to defend Taiwan, rallying support on his first trip to Asia since taking office for U.S. opposition to Chinas growing assertiveness across the region.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X