• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

जम्मू-कश्मीर में फिर बड़े बदलाव करेगी सरकार? जम्मू को अलग राज्य बनाने पर आई प्रतिक्रिया, बौखलाया पाकिस्तान

|

नई दिल्ली/इस्लामाबाद, जून 08: जम्मू-कश्मीर को लेकर भारत सरकार एक और बड़ा बदलाव करने जा रही है और माना जा रहा है कि एक बार फिर से देश की राजनीति में उबाल आ सकता है। जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा और केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह के बीच हुई बेहद अहम मुलाकात के बाद अब इस बात की सुगबुगाहट तेज हो गई है कि केन्द्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर में फिर से बड़ा राजनीतिक होने जा रहा है।

जम्मू-कश्मीर में बड़ा राजनीतिक बदलाव?

जम्मू-कश्मीर में बड़ा राजनीतिक बदलाव?

अमित शाह और मनोज सिन्हा के बीच मुलाकात के बाद अंदाजा लगाया जा रहा है कि जम्मू-कश्मीर को दोबारा बांटा जाएगा और जम्मू को एक अलग राज्य बनाया जाएगा, जबकि कश्मीर एक अलग केन्द्र शासित प्रदेश रहेगा। इसके अलावा भी जम्मू-कश्मीर को लेकर कई और बदलाव केन्द्र सरकार करने जा रही है, जिसको लेकर पाकिस्तान बुरी तरह से भड़क गया है। पाकिस्तान के विदेश मंत्रायल के प्रवक्ता जाहिद हाफिज ने कहा है कि भारत को जम्मू-कश्मीर की भौगोलिक स्थिति में परिवर्तन करने का कोई हक नहीं है। पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि 'जम्मू-कश्मीर की भौगोलिक स्थिति में परिवर्तन कर भारत अंतर्राष्ट्रीय कानून को उल्लंघन कर रहा है, जिसका पाकिस्तान कड़ा विरोध करेगा।'

कश्मीर पर बातचीत के लिए रोडमैप

कश्मीर पर बातचीत के लिए रोडमैप

पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा है कि 'भारत विवादित प्रदेश जम्मू-कश्मीर की भौगोलिक स्थिति के साथ परिवर्तन नहीं कर सकता है और भारत पाकिस्तान और जम्मू-कश्मीर के लोगों को अवैध बात मानने के लिए बाध्य नहीं कर सकता है'। पाकिस्तान ने कहा कि 'भारत द्वारा जम्मू-कश्मीर की भौगोलिक स्थिति में किए जाने वाले किसी भी परिवर्तन का कड़े स्वर में विरोध करेगा'। पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय की तरफ से ये बयान तब आया है, जब पिछले हफ्ते पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा था कि पाकिस्तान भारत से बातचीत करने के लिए तैयार है लेकिन उससे पहले भारत को जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद-370 हटाने को लेकर रोडमैप देना होगा। लेकिन, रोडमैप देना तो दूर की बात है, जम्मू-कश्मीर की भौगोलिक स्थिति में भारत एक बार फिर से परिवर्तन करने जा रहा है।

इमरान की हर बात में कश्मीर

इमरान की हर बात में कश्मीर

देखा जाए तो पिछले दो सालों से इमरान खान जहां भी जाते हैं, जो भी बोलते हैं, जिस देश में भी जाते हैं, वहां कश्मीर कश्मीर करते रहते हैं। यहां तक कि तजाकिस्तान के राष्ट्रपति जब दो दिनों के पाकिस्तान दौरे पर इस्लामाबाद आए, तब भी इमरान खान कश्मीर का मुद्दा उठाने से नहीं चूके थे और उन्होंने भारत से झगड़े का मुद्दा उठाया था। इमरान खान ने समाचार एजेंसी रॉयटर्स से बात करते हुए कहा कि 'पाकिस्तान भारत से बात करने के लिए तैयार है लेकिन पहले भारत को जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 बहाली को लेकर रोडमैप देना होगा।' लेकिन, भारत ने पाकिस्तान को दो टूक कह दिया कि जबतक पाकिस्तान आतंकवाद को नहीं रोकता है, तबतब भारत पाकिस्तान से बात नहीं करेगा।

आर्टिकिल 370 की वापसी चाहते हैं इमरान

आर्टिकिल 370 की वापसी चाहते हैं इमरान

पाकिस्तान विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता जाहिद हाफिज ने कहा कि जम्मू-कश्मीर एक विवादित हिस्सा है और उसे बदलने का भारत को कोई हक नहीं है और पाकिस्तान भारत के द्वारा उठाए गये किसी भी कदम का पुरजोर विरोध करेगा। लेकिन सूत्रों की मानें तो भारत सरकार बहुत जल्द जम्मू-कश्मीर से जम्मू को अलग कर सकती है और उसे एक अलग राज्य बना सकती है। वहीं कश्मीर एक केन्द्र शासित प्रदेश ही रहेगा। माना जा रहा है कि मोदी सरकार के इस कदम से देश की राजनीति भी एक बार फिर से गर्म होने वाली है।

भारत ने बताया अफवाह

भारत ने बताया अफवाह

पाकिस्तान की तरफ से भले ही प्रतिक्रिया आ गई हो लेकिन जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने कहा है कि जम्मू कश्मीर की स्थिति में कोई परिवर्तन नहीं होने जा रहा है और ये खबर सिर्फ अफवाह है। किसी भी राजनीतिक परिवर्तन को जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने अफवाह बता दिया है। रिपोर्ट के मुताबिक अमित शाह और मनोज सिन्हा के बीच हुई मुलाकात के बाद पूरे जम्मू-कश्मीर में ये बात काफी फैली हुई है कि जम्मू एक अलग राज्य बन सकता है। खासकर कश्मीर के अंदर काफी सुगबुगाहट है कि मोदी सरकार जम्मू को अलग राज्य बना सकती है। वहीं, कश्मीर ऑब्जर्वर से जम्मू-कश्मीर के अधिकारियों ने कहा है कि अमित शाह और मनोज सिन्हा की मुलाकात रूटीन मुलाकात थी और हालिया मीटिंग में सिर्फ जम्मू-कश्मीर के मौजूदा हालात को लेकर दोनों नेताओं के बीच चर्चा की गई है। हालांकि, जम्मू-कश्मीर प्रशासन के अधिकारी इस बात से भी इनकार नहीं कर रहे हैं कि क्या प्रशासन में फेर बदल हो सकता है? वहीं, अमरनाथ यात्रा पर क्यों रोक लगी हुई है, इसको लेकर भी अधिकारियों की तरफ से कुछ भी ठोस जवाब नहीं दिया जा रहा है।

इजरायली प्रधानमंत्री नेतन्याहू के बगावती तेवर, चुनाव को बताया फ्रॉड, सत्ता कब्जाने की आशंकाइजरायली प्रधानमंत्री नेतन्याहू के बगावती तेवर, चुनाव को बताया फ्रॉड, सत्ता कब्जाने की आशंका

English summary
Modi government's big action plan again on Jammu and Kashmir, the situation will change completely, Pakistan's sharp reaction
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X