• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Israel vs Philistine Row: हमास ने इजरायल पर दागे 130 Rocket, भारतीय महिला समेत 32 लोगों की मौत

|
Google Oneindia News

येरुशलम, 12 मई। इजरायल और फिलीस्तीन के बीच जंग जैसे हालात पैदा हो गए हैं। मंगलवार को फिलिस्तीन के हमास संगठन ने तेल अवीव, एश्केलोन और होलोन शहर पर 130 रॉकेट हमले किए हैं और येरुशलम में भारी हिंसा फैलाई है, जिसमें एक भारतीय महिला समेत 32 लोगों की मौत हो गई है। इस बारे में जानकारी इजरायल के विदेश मंत्रालय की ओर से दी गई है। इस हिंसा में सैकड़ों लोगों के घायल होने की भी खबर है। हमास के इस हमले के जवाब में इजराइली एयरफोर्स ने भी करारा जवाब दिया है उसने उसके कब्जे वाली गाजा पट्टी पर हमला बोला है।

    Hamas का Israel पर सबसे बड़ा हमला, Jerusalem में दागे 130 Rocket, जानिए क्यों? | वनइंडिया हिंदी
    हमास ने इजरायल पर दागे 130 Rocket, भारतीय महिला की मौत

    बता दें कि रॉकेट हमले में जिस भारतीय महिला की मौत हुई है, वो केरल की रहने वाली थी और उसका नाम सौम्या संतोष था, जो कि 7 साल से इजरायल में रह रही थी और एक घरेलू सहायिका के तौर पर वहां काम करती थी। उसके परिवार के सदस्यों ने बताया कि अश्केलोन शहर में 31 वर्षीय सौम्या के घर पर जिस वक्त रॉकेट गिरा उस वक्त वो वीडियो कॉल पर केरल में अपने पति संतोष से बात कर रही थी। भारत में इजरायल के राजदूत डॉ रॉन मलका ने ट्वीट करके सौम्या संतोष की मौत पर गहरा दुख प्रकट किया है।

    हमास ने इजरायल पर दागे 130 Rocket, भारतीय महिला की मौत

    आपको बता दें कि रॉकेट हमले का एक वीडियो इजरायली डिफेंस फोर्स की तरफ से भी सोशल मीडिया पर शेयर किया है, जिसमें आप देख सकते हैं कि हमास की ओर से किस तरह से हमले किए जा रहे थे। इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने इस हमले पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि 'हमास ने अपनी सारी हदें पार कर दी हैं, अब उन्हें किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जा सकता है। उनके खिलाफ कड़ा एक्शन लेने का वक्त आ गया है, उन्हें इसकी भारी कीमत चुकानी ही पड़ेगी।'

    यह पढ़ें: इजरायल और फिलिस्तीन के बीच युद्ध छिड़ने की आशंका बढ़ी, मुस्लिम देश हुए एकजुटयह पढ़ें: इजरायल और फिलिस्तीन के बीच युद्ध छिड़ने की आशंका बढ़ी, मुस्लिम देश हुए एकजुट

    क्यों मचा है बवाल, क्यों हो रहे हैं हमला?

    मालूम हो कि येरुशलम स्थित अल-अक्सा मस्जिद में फिलिस्तीनियों और इजरायली सुरक्षा बलों के बीच सोमवार को झड़प हुई थी। दरअसल इजरायल के यहूदी नेशनलिस्ट साल 1967 में मिली एक जीत का जश्न मनाने की तैयारी कर रहे थे और इसलिए उन्होंने एक मार्च निकाला था। मालूम कि साल 1967 में इजरायल ने येरूशलम के कई हिस्सों पर अपना कब्जा जमाया था। अपनी इसी खुशी को वो मार्च के माध्यम से सेलिब्रेट कर रहे थे लेकिन फिलिस्तीनी चरमपंथियों को ये रास नहीं आया और उन्होंने इस मार्च पर हमला कर दिया। जिसके बाद वहां हिंसा भड़क गई। रिपोर्ट के मुताबिक फिलिस्तीनी चरमपंथियों को जवाब देने के लिए इजरायली सुरक्षाबलों ने रबर बुलेट का इस्तेमाल किया था, जिसमें कई चरमपंथी घायल हुए और इस बाद हालात और खराब होते गए हैं, जिसने मंगलवार को विकराल रूप धारण कर लिया है।

    English summary
    Indian among 2 women killed in Gaza in rocket aggression,Israel’s Prime Minister Benjamin Netanyahu,issued a stern warning against Hamas saying that it had crossed a red line by directing missiles into the Israeli territory.
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X