• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

पेगासस जासूसी कांड की जांच कराएगा इजराइल, गठित की मंत्रियों की टीम

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली, 22 जुलाई। दुनिया के 17 मीडिया संस्थानों ने मिलकर पेगासस प्रोजेक्ट का खुलासा किया है, जिसमे दावा किया गया है कि दुनियाभर के 50 हजार फोन को टैप किया गया है, भारत में भी 300 लोगों के फोन को टैप किए जाने का दावा किया गया है। इस रिपोर्ट के सामने आने के बाद भारत में सियासी पारा काफी बढ़ गया है और विपक्ष लगातार सरकार को इस मसले पर घेर रहा है और इसकी जांच की मांग कर रहा है। हालांकि भारत सरकार की ओर से कहा गया है कि यह रिपोर्ट पूरी तरह से निराधार है और इसमे कोई तथ्य नहीं है। लेकिन अब पूरे मामले की इजराइल जांच करने की योजना बना रहा है।

    Pegasus Scandal: Israel कराएगा Probe, गठित की मंत्रियों की टीम | Pegasus Spyware | वनइंडिया हिंदी
    pegasus

    बता दें कि पेगासस एनएसओ कंपनी का स्पाइवेयर है जिसका इस्तेमाल फोन को टैप करने के लिए किया जाता है। यह इजराइल की कंपनी है। कंपनी का दावा है कि हम यह स्पाइवेयर सिर्फ देश की सरकार को देते हैं जिसका इस्तेमाल आतंकवाद के खिलाफ और मनी लॉन्ड्रिंग जैसी गतिविधियों को रोकने के लिए किया जाता है। लेकिन जिस तरह के सनसनीखेज आरोप लगे हैं उसके बाद माना जा रहा है कि इजराइल वरिष्ठ मंत्रियों की टीम का गठन इन आरोपों की जांच के लिए करने जा रहा है।

    इसे भी पढ़ें- राजस्थान में भूकंप: बीकानेर के पास दूसरे दिन भी धरती हिली, जानिए कितनी थी रिक्टर स्केल पर तीव्रताइसे भी पढ़ें- राजस्थान में भूकंप: बीकानेर के पास दूसरे दिन भी धरती हिली, जानिए कितनी थी रिक्टर स्केल पर तीव्रता

    वहीं भारत में सूचना और तकनीक की संसद की स्टैंडिंग कमेटी के नेता शशि थरूर भी इस मामले की जांच कर सकते हैं। सूत्र के अनुसार शशि थरूर की अगुवाई में इस मामले की जांच हो सकती है कि आखिर इन नंबर को टैप करने का आदेश किसने दिया। रिपोर्ट के अनुसार इजराइल की नेशनल सिक्योरिटी काउंसिल को यह जिम्मेदारी दी गई है कि वह पेगासस जांच टीम की अगुवाई करे।

    माना जा रहा है कि इजराइल की सरकार इसलिए यह जांच कराने जा रही है ताकि जासूसी कांड के खुलासे के बाद अन्य देशों के साथ उसके कूटनीतिक रिश्तों पर असर नहीं पड़े। पेगासस के गलत इस्तेमाल की खबर भारत, फ्रांस, मेक्सिको, मोरक्को और इराक जैसे देशों में भी सामने आई है। अहम बात है कि इस स्पाइवेयर के जरिए 10 प्रधानमंत्री, तीन राष्ट्रपति और एक किंग तक को निशाना बनाया गया है।

    English summary
    Israel to probe Pegasus snooping case sets up a panel of ministers.
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X