• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

येरूशलम में आर पार की जंग! इजरायल की तरफ से मोसाद ने संभाला मोर्चा, फिलिस्तीन के खिलाफ उतारे टैंक

|

येरूशलम, मई 12: इजरायल और फिलिस्तीन के बीच जंग के हालात बन चुके हैं। फिलिस्तीन का कट्टरपंथी संगठन हमास इस लड़ाई के जरिए फिर से अपनी सार्थकता साबित करना चाहता है और इसके लिए कट्टरपंथी संगठन हमास पर युद्ध को बढ़वा देने के आरोप लग रहे हैं। रिपोर्ट के मुताबिक कट्टरपंथी संगठन हमास ने इजरायल के ऊपर कई रॉकेट छोड़े हैं, जिससे इजरायल को काफी नुकसान होने की आशंका है। वहीं, इजरायल ने भी हमास के खिलाफ जवाबी कार्रवाई की है और रिपोर्ट के मुताबिक इजरायल ने गाजा पट्टी पर एयरस्ट्राइक किए हैं। रिपोर्ट के मुताबिक आज सुबह इजरायल ने गाजा पट्टी पर जमकर बम बरसाए हैं, जिससे काफी नुकसान होने की संभावना जताई गई है। रिपोर्ट के मुताबिक हमास के खिलाफ इजरायल ने अब तक का सबसे बड़े ऑपरेशन को अंजाम दिया है। हमास ने बयान में कहा है कि इजरायली हमले में उसे काफी नुकसान हुआ है और उसके कई पुलिस स्टेशन पूरी तरह से बर्बाद हो चुके हैं। इसी बीच खबर ये है कि दुनिया के सबसे शक्तिशाली खुफिया एजेंसी मोसाद ने इजरायल की तरफ से मोर्चा संभाल लिया है।

    Hamas का Israel पर सबसे बड़ा हमला, Jerusalem में दागे 130 Rocket, जानिए क्यों? | वनइंडिया हिंदी

    मोसाद ने संभाला मोर्चा

    माना जाता है कि इजरायल की तरफ से लड़ी जाने वाली हर जंग का रूप रेखा मोसाद ही तय करता है। दुनिया की सबसे खौफनाक खुफिया एजेंसी होने का पहचान मोसाद के पास है। और इस बार भी माना जा रहा है कि मोसाद ने मोर्चा संभाल लिया है और मोसाद का साथ इजरायल की दूसरी रक्षा एजेंसियों ने देना शुरू कर दिया है। हालांकि, मोसाद किस तरह से ऑपरेशन को अंजाम दे रहा है, इसका खुलासा अभी तक नहीं हो पाया है। माना यही जाता है कि मोसाद जिन ऑपरेशंस को अंजाम देता है, उसका खुलासा कई कई सालों के बाद होता है। वहीं दोनों तरफ से दर्जनों रॉकेट दागे जा रहे हैं और अब सिविलियंस को निशाना बनाया जा रहा है।

    गाजा पर एयरस्ट्राइक

    रिपोर्ट के मुताबिक फिलिस्तीन की तरफ से इजरायल के आबादी वाले इलाके में एक साथ कई रॉकेट दागे गये हैं। जिसके बाद इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने कहा है कि फिलिस्तीन ने जो किया है, उसकी सजा उसे मिलकर रहेगी। वहीं, रिपोर्ट के मुताबिक इजरायल के हमले में हमास के कई नेता मारे गये हैं और दर्जनों नेता बुरी तरह से घायल हैं। इजरायल की आर्मी ने कहा है कि 'उसने गाजा में एक नौ मंजिला इमारत को पूरी तरह से बर्बाद कर दिया है, जिसमें हमास के नेताओं के ऑफिस थे।' इजरायल ने ये भी कहा है कि उसने हमास के इंटेलिजेंस सेंटर को भी बर्बाद कर दिया है। अलजजीरा की रिपोर्ट के मुताबिक इजरायल ने गाजा पर 2014 के बाद सबसे ज्यादा बम बरसाए हैं। स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा है कि अब तक इजरायल के हमले में 36 से ज्यादा फिलिस्तीनी नागरिक मारे जा चुके हैं।

    हमास की कार्रवाई का जवाब

    अलजजीरा की रिपोर्ट के मुताबिक पहले हमास ने इजरायल पर रॉकेट हमला किया था, जिससें करीब 250 इजरायली घायल हुए थे और पांच लोग मारे गये थे। जिसके बाद अब इजरायल रूकने का नाम नहीं ले रहा है। वहीं, तुर्की मीडिया ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि इजरायल को सीजफायर के लिए कई बार कहा गया है मगर वो रूकने का नाम नहीं ले रहा है। अलजजीरा की रिपोर्ट के मुताबिक इजरायल ने गाजा में फिलिस्तीन की सबसे बड़े पुलिस क्वार्टर को बर्बाद कर दिया है वहीं कई बड़े अधिकारियों के ऑफिस को भी ध्वस्त कर दिया गया है। अलजजीरा की रिपोर्ट के मुताबिक इजरायल काफी तेजी से गाजा पर हमला कर रहा है जिसकी वजह से हमास के कई बड़े लीडर जान बचाने के लिए गाजा से भाग गये हैं।

    इजरायल ने टैंक किया आगे

    अलजजीरा की रिपोर्ट में दावा किया गया है कि फिलिस्तीन के खिलाफ इजरायल ने अपनी टैंक को भी उतार दिया है। इजरायल डिफेंस फोर्स ने फिलिस्तीन के दक्षिणी बॉर्डर की तरफ टैंक को भेजना शुरू कर दिया है। माना जा रहा है कि इजरायल बहुत जल्द फिलिस्तीन के खिलाफ युद्ध का नया फ्रंट खोल सकता है। रिपोर्ट के मुताबिक इजरायल और फिलिस्तीन के अधिकारियों ने भी इसकी पुष्टि कर दी है कि इजरायल ने बॉर्डर की तरफ अपनी टैंकों को भेजना शुरू कर दिया है। हालांकि, अभी तक साफ नहीं हो पाया है कि क्या वास्तव में इजरायल फिलिस्तीन पर पूरी ताकत से हमला करने वाला है या फिर फिलिस्तीन को डराने के लिए ही टैंक को बॉर्डर पर भेजा गया है। कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर डव वक्समैन ने अलजजीरा से कहा कि 'मुझे नहीं लगता है कि इजरायल अभी जमीन पर फिलिस्तीन के खिलाफ युद्ध शुरू करेगा लेकिन डराने वाली बात ये है कि आखिर कब तक जमीनी हालात बिगड़ते नहीं हैं।'

    फिलिस्तीन ने भी खोला फ्रंट

    फिलिस्तीन ने भी इजरायल के खिलाफ कई मोर्चे खोल दिए हैं और रिपोर्ट यही है पहला रॉकेट इजरायल पर फिलिस्तीन ने ही दागा था और उसके बाद ही इजरायल ने 100 के करीब रॉकेट फिलिस्तीन पर दागे हैं। फिलिस्तीन में एक धार्मिक संगठन है, नाम है हमास। जो इजरायल को स्वतंत्र देश नहीं मानता है, जबकि इजरायल हमास को एक आतंकी संगठन कहता है। जबकि हमास खुद को एक राष्ट्रवादी संगठन बताता है। वहीं, फिलिस्तीन में एक और संगठन सक्रिय है, जो फिलिस्तीन की आजादी के लिए संघर्ष कर रहा है। इस संगठन का नाम है, लिबरेशन ऑफ फिलिस्तीन ऑर्गेनाइजेशन यानि पीएलओ। पीएलओ को प्रसिद्ध फिलिस्तीनी नेता यासीर अराफात चलाते थे लेकिन ये संगठन राजनीतिक तौर पर इजरायल का विरोध करता है ना कि हिंसक तरीके से। ये संगठन विश्व के अलग अलग देशों से संपर्क करता है और फिर राजनीतिक तरीके से इजरायल का विरोध करता है।

    येरुशलम को कब्जाने की कोशिश में लगे इजरायल को फिलिस्तीन और मुस्लिम देश रोक पाएंगे?येरुशलम को कब्जाने की कोशिश में लगे इजरायल को फिलिस्तीन और मुस्लिम देश रोक पाएंगे?

    English summary
    Israel has landed its tanks against Palestine, Mossad has taken a front against Palestine.
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X