• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

अमेरिकी एयरस्ट्राइक में मारा गया IS का नंबर-2 लीडर अल इसावी, बगदादी की मौत के बाद संभाल रहा था इस्लामिक स्टेट

|
Google Oneindia News

बगदाद: अमेरिकी सेना(American airstrike) ने इराक (Iraq) की राजधानी में पिछले हफ्ते बम धमाके करने वाले कई आतंकियों के साथ ISIS के टॉप लीडर को भी एयरस्ट्राइक में मार गिराया है। अमेरिकी सेना ने ये एयरस्ट्राइक पिछले हफ्ते राजधानी बगदाद में हुए बम धमाके में शामिल आतंकियों को निशाना बनाते हुए किया था। जिसमें इस्लामिक स्टेट का ग्रुप कमांडर जब्बार सलमान अली फरहान अल इसावी (Jabbar Salman Ali Farhan al-Issawi) मारा गया है।

isis

इस आतंकी को इस्लामिक स्टेट में अबू यासिर के नाम से भी जाना जाता था। जब्बार सलमान अली फरहान अल इसावी इस्लामिक स्टेट में नंबर दो के ओहदे पर था। माना जाता है कि अल इसावी, अबु बकर अल बगदादी की मौत के बाद ये नये सिरे से ISIS को संभालने का काम कर रहा था। इसी कड़ी में इसने फिर से आतंक का राज कायम करने के लिए पिछले हफ्ते इस्लामिक स्टेट के आतंकियों ने राजधानी बगदाद में एक बाजार में दो आत्मघाती धमाके किए थे जिसमें 32 लोगों की मौत और 100 से ज्यादा बेगुनाह घायल हो गये थे।

बगदाद बम धमाके का बदला

पिछले हफ्ते हुए धमाके के बाद से ही अमेरिकी सेना इराकी सेना के साथ मिलकर ज्वाइंट ऑपरेशन चला रही थी। जिसमें इस्लामिक स्टेट का ग्रुप कमांडर जब्बार सलमान अली फरहान मारा गया है। अब इराक में इस्लामिक स्टेट की ताकत बेहद कम हो गई है, लेकिन फिर भी दावा किया जाता है कि अभी भी ISIS के पास करीब 4 हजार आतंकी मौजूद हैं। ये आतंवादी मौका मिलते ही कहीं ना कहीं बमब्लास्ट कर ही देते हैं। हालांकि, अब इराक से अमेरिकी फौज लगातार कम हो रहे हैं, लेकिन पिछले हफ्ते बगदाद में बम धमाके और अब आतंकियों के खात्मे के बाद सवाल उठ रहे हैं कि क्या वास्तव में वक्त आ गया है जब इराक से अमेरिकी सैनिक निकल जाएं?

ISIS

अमेरिकी सेना के मुताबिक इस्लामिक स्टेट का ग्रुप कमांडर जब्बार सलमान अली फरहान मारा जाना इराक के लिए बड़ी कामयाबी है। ये आतंकवादी इराक में ISIS का ग्रुप कमांडर था, जो अलग अलग इलाके में फैले आतंकियों को निर्देश देता था। बगदादी की मौत के बाद ये इस्लामिक स्टेट आतंकियों के बीच नंबर दो का आतंकवादी था। इस्लामिक स्टेट के आतंकवादियों को क्या करना है, कहां हमला करना है, यही आतंकवादी तय करता था। अमेरिकी सेना के मुताबिक जब्बार सलमान अली फरहान के साथ साथ 9 और आतंकवादी एयरस्ट्राइक में मारे गये हैं।

यूएस एयरक्राफ्ट कैरियर से आतंकियों पर हमला

एक इराकी सैन्य अधिकारी ने नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया कि इस्लामिक स्टेट के आतंकवादियोंको यूएस एयरक्राफ्ट कैरियर से निशाना बनाया गया है। इराकी सैन्य अधिकारी के मुताबिक, अमेरिकी नेतृत्व वाला गठबंधन किस तरह आतंकियों को निशाना बनाता है, इसकी जानकारी नहीं दी जाती है। लिहाजा, उन्होंने नाम ना छापने की शर्त पर इस अमेरिकी ऑपरेशन की जानकारी दी। इराकी सैन्य अधिकारी के मुताबिकि अमेरिकी सेना का ये ऑपरेशन पिछले हफ्ते बगदाद में अंजाम दी गई आतंकी घटना के बाद किया गया है, जिसमें दर्जनों लोग मारे गये थे और जिसकी जिम्मेदारी इस्लामिक स्टेट ने ली थी।

आतंकियों को मिला करारा जवाब

अमेरिकी एयरस्ट्राइक के बाद इराकी के प्रधानमंत्री मुस्तफा-अल-कादिमी ने ट्वीट कर कहा कि 'हमने इराक के लोगों से बदला लेने का वादा किया था और हमने आतंकवादियों के सिर पर बिजली का प्रहार किया है'। पिछले हफ्ते हुए बम धमाके के बाद प्रधानमंत्री जो खुद पूर्व जासूस रह चुके हैं, उन्होंने कई इंटेलीजेंस और सिक्योरिटी अधिकारियों की चूक मानते हुए इस्तीफा ले लिया था। हालांकि, अब अमेरिकी फोर्स ने इराक में इस्लामिक स्टेट के आतंकियों की कमर तोड़ कर रख दी है। अब इस्लामिक स्टेट के आतंकी पहाड़ों में छिपकर अपनी रणनीति तैयार करते हैं। पिछले हफ्ते का बम धमाका करीब चार सालों बाद अंजाम दिया गया था।

ट्रंप की राह पर बाइडेन: अफगानिस्तान में तालिबानी नेताओं से बातचीत करेगा अमेरिका, भारत पर विपरीत असरट्रंप की राह पर बाइडेन: अफगानिस्तान में तालिबानी नेताओं से बातचीत करेगा अमेरिका, भारत पर विपरीत असर

English summary
In Iraq, the US military has killed the top leader of ISIS by air strike. The US military has taken this action after the bomb blast in Baghdad last week.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X