• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Shocking! गधे के पेट पर विस्‍फोटक बांधकर ISIS ने दिया हमले को अंजाम!

|

लंदन। पिछले छह सालों से दुनिया के एक हिस्‍से में अपनी क्रूरता के लिए मशहूर हो चुके आईएसआईएस ने अब आत्‍मघाती हमले के लिए एक नए तरीके को अपनाना शुरू किया है। रविवार को नाइजीरिया में एक आत्‍मघाती हमला हुआ। इस हमले में गर्वनर बाबागाना जालुम को निशाना बनाने की कोशिश की गई। आप जानकर चौंक जाएंगे। नाइजीरिया में आईएसआईएसने एक गधे के पेट पर विस्‍फोटक बांधकर उसे हमले के लिए प्रयोग किया है। नाइजीरिया में सक्रिय बोको हराम से अलग हुए संगठन इस्‍लामिक स्‍टेट वेस्‍ट अफ्रीका प्रोविंस (इस्‍वाप) ने इस हमले को अंजाम दिया है।

यह भी पढ़ें-अजरबैजान में युद्ध लड़ रही है पाकिस्‍तान की आर्मी!

गर्वनर के काफिले में घुसा गधा

गर्वनर के काफिले में घुसा गधा

अधिकारियों की तरफ से बताया गया है कि हमला उस समय हुआ जब नॉर्थ-ईस्‍ट के बोरनो स्‍टेट के गर्वनर जालुम का काफिला बीच रास्‍ते में था। गधा काफिले के बीच में आ गया। इसे हटाने के लिए गार्ड्स की तरफ से गोलीबारी हुई और फायरिंग होते ही विस्‍फोटक में ब्‍लास्‍ट हो गया। ब्‍लास्‍ट होते ही आतंकी अपने ठिकानों से निकल आए और फिर काफिले को निशाना बनाने लगे। आतंकियों की तरफ से काफिले पर जोरदार फायरिंग की गई। गर्वनर जालुम नाइजीरिया की राजधानी अबुजा से 120 मील दूर स्थित टाउन बागा से वापस लौट रहे थे। उनके साथ उन सैंकड़ों लोगों का काफिला भी था जिन्‍हें आतंकी हमलों की वजह से साल 2014 में घर छोड़ने को मजबूर होना पड़ा था।

दो दिन पहले भी हुआ था एक हमला

दो दिन पहले भी हुआ था एक हमला

इस्‍वाप की तरफ से जारी हिंसा अब पड़ोसी देशों की तरफ बढ़ रही है। यह संगठन अब आईएसआईएस का दायां हाथ और देश में आतंकी वारदातों को खुलकर अंजाम दे रहा है। यूनाइटेड नेशंस (यूएन) के आंकड़ों की तरफ से बताया गया है कि अब तक 36,000 लोगों की मौत हो चुकी है। रविवार को हुए हमले में एक अच्‍छी बात रही कि गर्वनर के काफिले में किसी को भी चोट नहीं आई है। दो दिन पहले हुए उस हमले में 30 लोगों की मौत हो गई थी जिसमें पुलिस ऑफिसर्स, सैनिक और नागरिकों की भी मौत हो गई थी। इस हमले से पहले भी गर्वनर के काफिले को निशाना बनाने की कोशिश की गई थी। शनिवार को मृतकों का अंतिम संस्‍कार किया गया है।

आतंकवाद की वजह से 20 लाख लोग बेघर

आतंकवाद की वजह से 20 लाख लोग बेघर

इस्‍वाप ने लेक चाद में स्थित द्वीपों पर अपने कैंप्‍स बना लिए हैं। अब इस क्षेत्र को आतंकियों के लिए जाना जाता है। हाल ही में आतंकी संगठन ने यहां अपने हमले तेज किए हैं। लगातार मिलिट्री और नागरिकों को निशाना बनाया जा रहा है। जुलाई में भी गर्वनर जालुम के काफिले को बागा के बाहर इस्‍वाप ने निशाना बनाने की कोशिश की थी। इस्‍वाप ने तब ताबड़तोड़ गोलियां बरसाई थीं और इसकी वजह से उन्‍हें अपना दौरान कैंसिल करना पड़ था। उत्‍तर-पूर्वी नाइजीरिया पिछले एक दशक से आतंकवाद का दर्द झेल रहा है और 20 लाख लोगों को अपना घर छोड़ने को मजबूर होना पड़ा है।

कैंप्‍स में रह रहे हैं नागरिक

कैंप्‍स में रह रहे हैं नागरिक

कई नागरिक जो कैंप्‍स में रह रहे हैं उन्‍हें अंतरराष्‍ट्रीय स्‍तर पर मिलने वाली खाद्य सहायता पर निर्भर रहना पड़ रहा है। अथॉरिटीज इन नागरिकों को उनके घरों की तरफ लौटने के लिए कह रही हैं जबकि कई एजेंसियों की तरफ से इनकी सुरक्षा पर चिंता जताई जा चुकी है। जालुम ने पिछले हफ्ते कहा था कि बागा में रिफ्यूजी कैंप्‍स में रह रहे लोगों को हमेशा खाना मुहैया संभव नहीं हैं। ऐसे में इन लोगों को अपने घर लौटकर एक सम्‍मानित जिंदगी बितानी चाहिए। साल 2016 में इस्‍वाप, बोको हरम से अलग हो गया था। इसके बाद वह इस क्षेत्र में मजबूत आतंकी संगठन बन गया है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
ISIS dispatches bomb-strapped donkey for attack in Nigeria.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X