• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

इराक के बगदाद में हुए बम धमाके की IS ने ली जिम्मेदारी, बीमारी का बहाना कर आतंकी ने फोड़ा बम, 32 की मौत

|
Google Oneindia News

Twin Bomb blast in Bagdad: इराक की राजधानी बगदाद में हुए बम धमाके की जिम्मेजारी इस्लामिक स्टेट यानि IS ने ली है। गुरुवार को हुए बम धमाके के बाद अब तक 32 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है, वहीं 100 से ज्यादा घायलों को इलाज अस्पताल में किया जा रहा है। इस्मालिक स्टेट की न्यूज एजेंसी अमाक के मुताबिक, IS ने ये हमला शिया मुसलमानों को टार्गेट कर किया था।

ISIS

शिया मुसलमान थे IS के टार्गेट

दरअसल, इस्मालिक स्टेट जिसका चीफ अबु बक्र अल-बगदादी था, उस आतंकी संगठन ने मैसेजिंग एप टेलीग्राम पर दोहरे बम ब्लास्ट करने की जिम्मेदारी लेते हुए कहा कि हमले का मुख्य उद्येश्य शिया मुसलमानों को मारना था। आपको बता दें कि इस्लामिक स्टेट सुन्नी मुसलमानों द्वारा बनाया गया आतंकी संगठन है, जिसने पिछले कुछ सालों में इराक में कई बड़े बम धमाके किए हैं, जिसमें हजारों बेगुनाह लोगों की मौत हो चुकी है। पिछले तीन सालों में इस्लामिक स्टेट के आतंकियों द्वारा किया गया ये सबसे बड़ा हमला है, जिसकी निंदा पुरी दुनिया के देशों ने की है। 2017 में इराक की सेना से हारने के बाद इराक की राजधानी बगदाद में बम धमाके होने करीब करीब बंद हो गये थे लेकिन गुरुवार को हुए हमले के बाद आशंका जताई जा रही है, कि बगदाद में फिर से इस्लामिक स्टेट के आतंकी अपना पैर पसारने की कोशिश कर रहे हैं।

नरसंहार करने वाला आतंकी संगठन

इस्लामिक स्टेट के आतंकियों ने पिछले कुछ सालों में हजारों बेगुनाह लोगों की जिंदगियां छीन ली हैं। इस आतंकी संगठन में विश्व के कई देशों से हजारों जिहादी तत्व शामिल हो चुके हैं। कभी इराक के करीब 88 हजार वर्ग किलोमीटर में इस आतंकी संगठन के क्रूर साम्राज्य चलता था, मगर सेना की कार्रवाई में इस आतंकी संगठन की सत्ता अब कमजोर पड़ चुकी है। जिसे हासिल करने की कोशिश में एक बार फिर से इस्लामिक स्टेट के आतंकी लगे हुए हैं। यूनाइटेड नेशंस के अनुमान के मुताबिक कमजोर होने के बावजूद आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट के पास करीब 10 हजार से ज्यादा आतंकी हैं, जो इराक और सीरिया में अब भी सक्रिय तौर पर आतंकी वारदातों को अंजाम दे रहे हैं। इस्लामिक स्टेट के आतंकी छोटे इलाकों में ज्यादातर सुरक्षाबलों के जवानों को टार्गेट करते हैं, और बेगुनाहों की जान लेते हैं।

बीमारी का बहाना कर बम ब्लास्ट

इराकी गृहमंत्रालय के मुताबिक सबसे पहले इस्लामिक स्टेट का आत्मघाती आतंकी बाजार में घुसा और फिर बीमारी का बहाना कर सैकड़ों लोगों की भीड़ जुटा ली। जैसे ही लोग उसकी मदद के लिए उसके पास जमा हुए, उसने अपने आपको उड़ा लिया। आतंकी ने अपने हाथ से डेटोनेटर को दबाकर बम ब्लास्ट किया, जिसमें पास खड़े लोगों के चीथड़े उड़ गये। इराकी गृहमंत्रालय के मुताबिक, पहले बम धमाके के बाद पूरे इलाके में चीख-पुकार मच गई, लोग घायलों की मदद करने लगे ठीक तभी दूसरे आत्मघाती आतंकी ने भी खुद को उड़ा लिया। पिछले तीन सालों में बगदाद के तायरान स्क्वायर पर हुआ ये दूसरा बड़ा हमला है। इससे पहले जनवरी 2018 में भी इस्लामिक स्टेट के आतंकियों ने बम फोड़ा था जिसमें 35 लोगों की मौत हो गई थी।

बगदाद में दो आत्मघाती हमलावरों ने खुद को उड़ाया, 20 की मौत, 40 घायलबगदाद में दो आत्मघाती हमलावरों ने खुद को उड़ाया, 20 की मौत, 40 घायल

English summary
IS takes responsibility for bomb blast in Baghdad, Iraq; terrorist blasts bomb, pretending disease, 32 killed, 100 injured
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X