• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

ईरान का नातान्ज परमाणु संयंत्र ब्लैकऑउट, न्यूक्लियर चीफ ने कहा ‘परमाणु आतंकवाद’

|

दुबई: ईरान ने अपनी भूमिगत नातान्ज परमाणु संयंत्र में इलेक्ट्रिक सप्लाई रूकने को परमाणु आतंकवाद की कार्रवाई करार दिया है। हालांकि, ईरान के परमाणु ऊर्जा संगठन के प्रमुख अली अकबर सालेही ने इस घटना के लिए किसी को अभी तक जिम्मेदार नहीं ठहराया है और ना ही उन्होंने किसी का नाम लिया है लेकिन माना जा रहा है कि इससे क्षेत्रीय तनाव में काफी इजाफा हो सकता है। ईरान के परमाणु संयंत्र में उस वक्त बिजली सप्लाई बाधित हुई है जब ईरान के साथ परमाणु समझौते को लेकर बातचीत होने के आसार हैं।

पश्चिम एशिया में बढ़ेगा तनाव

पश्चिम एशिया में बढ़ेगा तनाव

परमाणु ऊर्जा संगठन के प्रमुख अली अकबर सालेही की टिप्पणी के बाद तनाव बढ़ने की आशंका जताई जा रही है। कई इजरायली मीडिया ने नातान्ज परमाणु संयंत्र में इलेक्ट्रिक सप्लाई रूकने के पीछे साइबर हमले की बात कही है। रिपोर्ट के मुताबिक नातान्ज परमाणु संयंत्र में इस इकाई को नुकसान हुआ है, जहां काफी संवेदनशील सेंन्ट्रीफ्यूज स्थित है। हालांकि, इजरायली मीडिया में साइबर हमले होने के पीछे ना ही किसी स्रोत की बात कही गई है ना ही किसी तरह के कोई सबूत पेश किए हैं। लेकिन, जिन मीडिया एजेंसीज ने साइबर हमले की बात कही है, उनकी देश की सैन्य एजेंसियों के साथ साथ खुफिया एजेंसियों के साथ भी नजदीकी संबंध हैं।

ईरान ने कहा ‘परमाणु आतंकवाद’

ईरान ने कहा ‘परमाणु आतंकवाद’

ईरान की सरकारी टेलीविजन के मुताबिक परमाणु ऊर्जा संगठन के प्रमुख अली अकबर सालेही ने कहा कि ‘इस आतंकवादी घटना के लक्ष्य को नाकामयाब बनाने के लिए ईरान अपनी परमाणु तकनीक में गंभीरता से सुधार करेगा साथ ही ईरान पर लगाए गये प्रतिबंधों को हटाने के लिए भी कोशिश करेगा'। इसके साथ ही सालेही ने इसे हताशा में उठाया गया कदम करार दिया है। उन्होंने कहा कि ‘ये एक हताशा में उठाया गया कदम है, जिसकी ईरान निंदा करता है जिसकी आलोचना अंतर्राष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी को करनी चाहिए'। रविवार को हुई इस घटना के बाद अमेरिका द्वारा ईरान के साथ बातचीत के लिए किए जा रहे प्रयासों को गहरा धक्का लगेगा। इस बातचीत में इजरायल भी शामिल है। लिहाजा, नातान्ज परमाणु संयंत्र के ब्लैकऑउट होते ही अमेरिका के रक्षामंत्री लॉयड ऑस्टिन फौरन इजरायल पहुंच गये जहां वो इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू और रक्षा मंत्री बेनी गैंट्ज के साथ बातचीत करेंगे।

परमाणु संयंत्र नें क्या हुआ?

परमाणु संयंत्र नें क्या हुआ?

नातान्ज परमाणु संयंत्र एक असैन्य परमाणु ऊर्जा संयंत्र है, जहां बिजली पैदा की जाती है। लेकिन ईरान पर शक ये जताया जाता है कि वो यहां से अपने परमाणु कार्यक्रम को बढ़ा रहा है। हालांकि, ईरान की तरफ से अभी तक ये साफ नहीं किया गया है कि असल में नातान्ज परमाणु संयंत्र में हुआ क्या है और संयंत्र के अंदर क्या नुकसान हुआ है। रिपोर्ट के मुताबिक असैन्य न्यूक्लियर प्रोग्राम के प्रवक्ता बेहरोज कमलबादी ने कहा है कि नातान्ज परमाणु संयंत्र के अलग अलग हिस्सों में बिजली आपूर्ति बाधित हुई है, जिसमें कार्यशालाएं और भूमिगत संवर्धन हॉल भी शामिल है। (प्रतीकात्मक तस्वीर)

Special Report: क्या आर्मी चीफ जनरल बाजवा खत्म कर पाएंगे पाकिस्तान में भारत विरोधी माहौल?

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Iran has termed electric supply stop at its underground Natanz nuclear plant as an act of nuclear terrorism.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X