• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

इस जगह पर मास्‍क न पहनने वाले लोगों से खुदवाई जा रही कोरोना मृतकों के लिए कब्र

|

नई दिल्‍ली। कोरोना महामारी का प्रकोप थमने का नाम ही नहीं ले रहा। इस महामारी की शुरुआत से ही लोगों को कोरोना से बचाव के लिए दो उपाय ही महत्‍वपूर्ण बताए जा रहे जिसमें पहला सोशल डिस्‍टेसिंग और दूसरा मास्‍क पहनना। इसके बावजूद अभी भी लोग लापरवाही कर रहे हैं। यहीं कारण है कि अनेक देशों ने कोरोना से बचाव के लिए निर्धारित नियमों का सख्‍ती से पालन करवाने के लिए कड़ी सजा का प्रवाधान लागू किया हैं। ऐसा ही एक देश इंडोनेशिया है जहां मास्‍क नहीं पहनने वालों के लिए बड़ी ही सख्‍त सजा निर्धारित की गई है। इसके पीछे यहां की सरकार की मंशा फेस मास्क नियम का उल्लंघन करने वाले को संभावित खतरे का एहसास कराना है।

इंडोनेसिया में मास्‍क न पहनने वालों से खुदवाई जा रही कब्र

इंडोनेसिया में मास्‍क न पहनने वालों से खुदवाई जा रही कब्र

इंडोनेसिया में मास्‍क न पहनने और इसे पहनने से इंकार करने वाले ग्रामीणों को सजा के तौर पर उनसे कोविड 19 से मरने वालों को दफन करने के लिए कब्र खुदवाई जा रही है। सीएएन न्‍यूज के अनुसार मास्‍क न पहनने वाले लोगों से इंडोनेशियाई की सरकार के अधिकारी ऐसी कड़ी मेहनत करवाकर मास्‍क पहनने की सीख दे रहे हैं। मास्‍क पहनने वालों से कोविड -19 के मृतको के लिए कब्र खोदने के लिए मजबूर किया जा रहा है ताकि वे दूसरों को सबक देने और समझाने मदद कर सकें कि वे महामारी को रोकने में मदद करें।

इससे पहले मास्‍क न पहनने वालों को ताबूत में लिटाने की दी जा चुकी सजा

इससे पहले मास्‍क न पहनने वालों को ताबूत में लिटाने की दी जा चुकी सजा

बता दें इससे पहले इंडोनेसिया में ही ताबूत जो मृतकों के लिए होता है , लेकिन जकार्ता में उसका इस्तेमाल जीवित लोगों के लिए किया गया। दरअसल, सजा के तौर पर पिछले दिनों यहां फेस मास्क नहीं पहनने पर लोगों को ताबूत में लिटाया गया। तभी पूर्वी जकार्ता के पसर रेबो में बिना मास्क के कई लोगों को पकड़ा गया और उन्हें एक मिनट तक ताबूत में रहने को कहा गया। ताबूत में लेटने की सजा की नियम का विचार पहली बार दुनिया के सामने आया था। जिसके जरिए फेस मास्क के प्रति लोगों के जागरुक बनाया जाना था। इंडोनेशिया में ताबूत में रहने की सजा का नियम अगले कुछ दिनों तक लागू रखा गया।

सुरक्षा उपायों के प्रति जागरुकता फैलाने के लिए ये भी दी गई सजा

सुरक्षा उपायों के प्रति जागरुकता फैलाने के लिए ये भी दी गई सजा

सरकार ने कहा है कि सुरक्षा उपायों के प्रति जागरुकता फैलाने के लिए उसे ये कदम उठाना था। इंडोनेशिया में नियमों का उल्लंघन करनेवालों को सजा के तौर पर ताबूत में लेटना, आर्थिक दंड या सामाजिक सेवा करने का विकल्प दिया गया है। सजा की रकम अदा नहीं करनेवालों को या तो ताबूत में लेटना होगा या फिर सामुदायिक सेवा करवाई गई। सामुदायिक सेवा के तहत उन्हें एक घंटे का काम करवाया गया।

इंडोनेशिया में 4,071 नए मामले सामने आए

इंडोनेशिया में 4,071 नए मामले सामने आए

बता दें कोरोना महामारी के वल्डोमीटर के आंकड़ों के अनुसार, दुनिया भर में अभी तक 31,481,681 लोग कोरोना संक्रमित हो चुके है। जबकि इस खतरनाक वायरस के कारण 969,292 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं राहत की बात है कि 23,109,715 लोग इस संक्रमण से ठीक भी हुए हैं। दुनिया में कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित देश अमेरिका है, जहां अबतक 7,046,216 मामले हैं, वहीं 204,506 लोगों ने अपनी जान गवा दी और 4,299,525 लोग इस वायरस को हराने में कामयाब हुए हैं। इंडोनेशिया में 4,071 नए मामले और 160 लोगों की हाल ही में मौतें हुई।

ड्रग्स केस में नाम आने पर भड़की दीया मिर्जा बोलीं- मेहनत से बनाए मेरे करियर को पहुंच रहा नुकसान

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Indonesians Punishment who didn't wear mask, Graves for Deadbody of those who died due to corona"
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X