• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

इंडोनेशिया : सुनामी आने के पहले ही मिल जाएगी चेतावनी

By Bbc Hindi
इंडोनेशिया
EPA
इंडोनेशिया

इंडोनेशिया में शनिवार को अचानक आई सुनामी ने एक बड़े इलाक़े को प्रभावित किया है. यहां मरने वालों की संख्या चार सौ से ज़्यादा हो चुकी है.

सैकड़ों लोग घायल हुए हैं और बड़ी संख्या में लोग लापता हैं. इमारतें बुरी तरह प्रभावित हुई हैं. लेकिन ख़तरा अभी टला नहीं है. मौसम विभाग ने तटीय इलाक़ों के आस-पास रहने वाले को सुरक्षित स्थान पर जाने की हिदायत दी है क्योंकि समुद्री लहरें आगे भी ताडंव मचा सकती हैं.

इस सुनामी का ज़्यादा असर इसलिए भी हुआ है क्योंकि इसकी कोई पूर्व सूचना नहीं थी. लेकिन संभव है कि आने वाले समय में इस तरह की आपदा के नुकसान को सीमित किया जा सके.

इंडोनेशिया का कहना है कि उसने एक ऐसी नई वॉर्निंग मशीन (चेतावनी देने वाली मशीन) तैयार कर ली है जो समुद्र के नीचे भूस्खलन की वजह से आने वाली सुनामी को पहले ही भांप लेगी.

एक सरकारी एजेंसी ने बीबीसी को बताया कि इन नए उपकरणों को अगले साल से लगाया जाने लगेगा. ऐसा माना जा रहा क्रेकाटोआ ज्वालामुखी के फटने से समुद्र में हलचल हुई जिससे तेज़ लहरें उठीं और सुनामी आई.

इंडोनेशिया में बिना भूकंप के ही कैसे आई सुनामी

इंडोनेशिया : प्रकृति बचाने को लड़ती अकेली औरत

अधिकारियों का कहना है कि क़रीब 150 लोग अब भी लापता हैं और 16 हज़ार लोग अपना घर छोड़ दूसरी जगहों पर रहने को मजबूर हैं.

इंडोनेशिया
Reuters
इंडोनेशिया

राहत और बचावकार्य लगातार जारी है. मलबे में फंसे लोगों को सुरक्षित निकालने के लिए बड़े-बड़े उपकरणों का इस्तेमाल भी किया जा रहा है.

नया सिस्टम काम कैसे करेगा?

ये नया सिस्टम समुद्र में उठने वाली लहरों को मापने के आधार पर काम करेगा. असेसमेंट एंड एप्लीकेशन ऑफ टेक्नॉलजी के प्रवक्ता इयान तुरयाना ने बीबीसी इंडोनेशिया सेवा को बताया कि इस उपकरण की मशीनरी ऐसी है कि ये समुद्र में उठने वाली लहरों के आधार पर सुनामी आने की पूर्व सूचना दे देगा.

इंडोनेशिया
AFP
इंडोनेशिया

हालांकि ये कोई पहली मशीनरी नहीं है जिसका इस्तेमाल प्राकृतिक आपदा की पूर्व सूचना के लिए किया जाएगा. इससे पहले भी भविष्यवाणी के लिए उपकरण का इस्तेमाल होता रहा है लेकिन इस बार ये फ़ेल हो गया जिसकी वजह से जावा-सुमात्रा इलाकों में लोगों को भारी तबाही झेलनी पड़ी.

मौजूदा समय में जो सिस्टम है वो सिर्फ़ भूकंप मापने के लिए है. उससे समुद्र के अंदर होने वाले भू-स्खलन और ज्वालामुखी के फटने से आनी वाली सुनामी का अंदाज़ा नहीं लगाया जा सकता है.

प्रभावित क्षेत्र की मौजूदा स्थिति कैसी है?

राहत और बचाव कार्य लगातार जारी है लेकिन सड़कों पर मलबा पसरा है जिससे सड़कें बंद हो गई हैं और इन इलाक़ों में तेज़ बारिश भी हो रही है.

इंडोनेशिया में सुनामी से अब तक 429 की मौत

इंडोनेशिया: ज्वालामुखी से सुनामी कैसे आती है

कई इलाक़ों में पानी भर गया है. जल जमाव से संक्रामक बीमारियों का ख़तरा भी बढ़ गया है. प्रभावित इलाक़ों में पानी, खाना, दवाएं और कंबल बांटने का काम किया जा रहा है लेकिन ये अब भी बहुत धीमा है. सैकड़ों लोग तंबुओं में रह रहे हैं और बहुत से लोग मस्जिदों-स्कूलों में रहने को मजबूर हैं.

इंडोनेशिया
AFP
इंडोनेशिया

समाचार एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक, लोग अब भी डरे-सहमे और घबराए हुए हैं.

लाबुआन शहर के एक अधिकारी अत्माद्जा सुहर ने रॉयटर्स को बताया "इंडोनेशिया में अक्सर प्राकृतिक आपदाएं आती रहती हैं लेकिन इतनी भयानक नहीं...अगर भगवान ने चाहा तो हम जल्दी सबकुछ दोबारा बना लेंगे."

BBC Hindi
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Indonesia Warning before tsunami arrives

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X