India
  • search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts
Oneindia App Download

US में भारतीय स्टार्टअप सेक्टर में भूचाल, हजारों की गई नौकरी, दर्जनों कंपनियों की हालत खराब

|
Google Oneindia News

वॉशिंगटन, जुलाई 04: अमेरिका में भारतीय स्टार्टअप सेक्टर में भूचाल मच गया है और पिछले 6 महीने में हजारों भारतीय इंजीनियर्स और अलग अलग कर्मचारी अपनी नौकरी गंवा चुके हैं। क्रंचबेस के अनुसार, टेक और स्टार्टअप सेक्टर में लगभग 22,000 कर्मचारियों की नौकरी गई है, जिनमें से अकेले 12 हजार से ज्यादा नौकरियां भारतीय स्टार्टअप इकोसिस्टम से गईं हैं।

स्टार्टअप सेक्टर में आया भूचाल

स्टार्टअप सेक्टर में आया भूचाल

क्रंचबेस की रिपोर्ट के मुताबिक, कोविड महामारी के दौरान इन कंपनियों ने काफी कमाई की थीस, लेकिन महामारी के बाद स्टार्टअप सेक्टर में बड़ा भूकंप आया है और अभी तक 12 हजार से ज्यादा लोगों की नौकरी जा चुकी है। इसके पीछे सबसे बड़ी वजह आर्थिक मंदी बताई जा रही है, जिससे स्टार्टअप्स को भारी आर्थिक नुकसान पहुंचा है। लिहाजा, स्टार्टअप सेक्टर के लिए बाजार से पैसे निकालना काफी ज्यादा मुश्किल हो गया है और मजबूरन कंपनियों को लोगों को नौकरी से निकालना पड़ रहा है।

किन कंपनियों की हालत पतली

किन कंपनियों की हालत पतली

क्रंचबेस ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि, कई बड़ी कंपनियां, जैसे ओला, अनएकेडमी, वेदांतु, कार्स24 और मोबाइल प्रीमियर लीग (एमपीएल) जैसे कई यूनिकॉर्न को भारी आर्थिक परेशानी उठाना पड़ रहा है, जिसकी वजह से "पुनर्गठन और लागत में कटौती" के नाम पर कर्मचारियों की छंटनी की जा रही है। इन कंपनियों के अलावा Blinkit, BYJU's White Hat Jr, Toppr, FarEye, Trell जैसी स्टार्टअप कंपनियां ने अपने हजारों कर्मचारियों को दरवाजा दिखाया है।

60 हजार नौकरियां और जाने का खतरा

60 हजार नौकरियां और जाने का खतरा

रिपोर्ट के अनुसार, भारतीय स्टार्टअप सेक्टर में "फंडिंग विंटर" के माध्यम से नेविगेट करने के लिए 60,000 से अधिक नौकरियों का नुकसान हो सकता है। उद्योग के विशेषज्ञों का हवाला देते हुए क्रंचब्रेस की रिपोर्ट में बताया गया है कि, साल 2022 में "पुनर्गठन और लागत में कटौती" के नाम पर कम से कम 50,000 स्टार्टअप कर्मचारियों को निकाल दिए जाने की संभावना है, जबकि कुछ स्टार्टअप को लाखों की धनराशि प्राप्त होती रहती है। इनके साथ ही वैश्विक कंपनियां, जैसे नेटफ्लिक्स, वित्तीय सेवा कंपनी रॉबिनहुड और कई क्रिप्टो प्लेटफॉर्म भारी आर्थिक संकट से जूझ रहे हैं और उन्होंने भी अपने कर्मचारियों को नौकरी से निकाला है।

शेयर बाजार में हो सकती है ऐतिहासिक गिरावट

शेयर बाजार में हो सकती है ऐतिहासिक गिरावट

ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के अनुसार, यूएस-आधारित वेंचर कैपिटल फर्म सैफायर वेंचर्स के एक पार्टनर ने कहा कि, निवेशकों को अगली कुछ तिमाहियों में स्टार्टअप के माध्यम से फ़िल्टर करना शुरू करने के लिए शेयर बाजार में ऐतिहासिक गिरावट के लिए तैयार रहना चाहिए। कैथी गाओ ने ब्लूमबर्ग टेलीविजन के साथ एक इंटरव्यू में कहा कि, "आने वाले वक्त में हम काफी कठिन समय में फंसने वाले हैं और मुझे नहीं पता कि यह एक चौथाई, दो चौथाई, तीन चौथाई या फिर उससे भी ज्यादा समय के लिए होगा।" उन्होंने कहा कि, "सभी के लिए मेरा संदेश यह है कि, कि आने वाले वक्त में अपने भविष्य को लेकर तैयार और सतर्क रहें'। गाओ ने कहा कि, 'साल 2021 में बहुत सारी कंपनियों ने भारी कमाई की है और उनके पास कम से कम अगले 30 महीने के लिए कंपनी चलाने के काफी पैसा है, लेकिन दिक्कत ये है, कि निवेशकों को अभी नहीं पता है, कि उनका मूल्यांकन कहां से तय होने वाला है'।

भारत एक ग्लोबल सुपरपॉवर कभी नहीं बन पाएगा, अगर मोदी सरकार ने जल्द ये काम नहीं किया!भारत एक ग्लोबल सुपरपॉवर कभी नहीं बन पाएगा, अगर मोदी सरकार ने जल्द ये काम नहीं किया!

Comments
English summary
In the US, the Indian startup sector has been rocked by the economic slowdown and thousands of engineers have lost their jobs.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X