• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

फ्रांस के राष्ट्रपति मैक्रों का भारत ने किया समर्थन, व्यक्तिगत हमलों की कड़ी शब्दों में की निंदा, जानें पूरा विवाद

|

नई दिल्ली: भारत ने इस्लामी चरमपंथ पर फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों के कड़े रुख के बाद उन पर हुए व्यक्तिगत हमलों की कड़ी निंदा की है। भारत ने फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों को समर्थन देते हुए पर्सनल अटैक को अंतरराष्ट्रीय विमर्श के सबसे बुनियादी मानकों का उल्लंघन करार दिया है। इस बात की जानाकारी फ्रांस के राजदूत ने भी ट्वीट कर दी है। समर्थन पर फ्रांस ने आभार जताते हुए कहा है कि भारत और फ्रांस दोनों देशों ने मिलकर हमेशा आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई लड़ी है और एक-दूसरे पर भरोसा करते हैं।

Emmanuel Macron

आतंकवाद किसी भी परिस्थिति में सही नहीं ठहराया जा सकता: MEA

    France Knife Attack: फ्रांस में Church के बाहर 3 लोगों की चाकू मारकर हत्या | वनइंडिया हिंदी

    विदेश मंत्रालय ने कड़े शब्दों में जारी एक बयान में कहा है, हम उस क्रूर आतंकवादी हमले की भी निंदा करते हैं, जिसमें फ्रांसीसी शिक्षक की बेरहमी से हत्या कर दी गई थी और जिसने पूरे विश्व को स्तब्ध कर दिया। हम उनके परिवार और फ्रांस के लोगों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हैं। किसी भी कारण से या किसी भी परिस्थिति में आतंकवाद का कोई औचित्य नहीं है।

    इमैनुएल मैक्रों पर हुए व्यक्तिगत हमलों की निंदा करते है: MEA

    मंत्रालय ने कहा,आतंकवाद को किसी भी वजह से और किसी भी परिस्थिति में सही नहीं ठहराया जा सकता है। मंत्रालय ने कहा, हम राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों पर अस्वीकार्य भाषा में किए गए व्यक्तिगत हमलों की खुलकर विरोध करते हैं। यह अंतरराष्ट्रीय विमर्श के सबसे बुनियादी मानकों का उल्लंघन है।

    भारत में फ्रांस के राजदूत इमैनुएल लिनेन ने ट्वीट कर भारत का आभार जताया है। उन्होंने कहा कि दोनों देश भारत और फ्रांस आतंकवाद के खिलाफ जंग में एक-दूसरे की मदद कर सकते हैं।

    जानें पूरा विवाद

    फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों इन दिनों पैगंबर मोहम्मद के कार्टूनों का बचाव करने और इस्लामी चरमपंथ पर कड़े रुख को लेकर मुस्लिम बहुल देशों की आलोचना झेल रहे हैं। ईरानी मीडिया ने इमैनुएल मैक्रों को राक्षस के रूप में दिखाया है। इमैनुएल मैक्रों का एक कार्टून छापा गया है, जिसमें उनके लंबे कान हैं, पीली आंखें हैं और नुकीले दांत दिख रहे हैं। ईरान के वतन एमरोज में कहा गया है कि फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने दुनियाभर के मुस्लिमों को नाराज किया है।

    बता दें कि 16 अक्टूबर को पेरिस में एक फ्रांसीसी शिक्षक की सिर कलम करके हत्या कर दी गई थी, जो अपने छात्रों को पैगंबर मोहम्मद का कार्टून दिखा रहा था।

    ये भी पढ़ें- US Election 2020: जानिए क्‍यों अमेरिका में मंगलवार को ही डाला जाता है राष्‍ट्रपति के लिए वोट

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    We strongly deplore the personal attacks in unacceptable language on French President Emmanuel Macron in violation of most basic standards of international discourse: Ministry of External Affairs
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X