India
  • search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts
Oneindia App Download

उन्नत अर्थव्यवस्थाओं में मंदी से भारत को हो सकता है फायदा

|
Google Oneindia News

न्यूयॉर्क/नई दिल्ली, 27 जून : वैश्विक मंदी (recession) की आशंकाओं ने सभी बाजारों में सामान रूप से बनी हुई है। हालांकि, विश्लेषकों का मानना ​​है कि उन्नत अर्थव्यवस्थाओं में मंदी से भारतीय अर्थव्यवस्था को लाभ हो सकता है। इस विषय पर सिटीग्रुप में भारत के प्रबंध निदेशक और मुख्य अर्थशास्त्री समीरन चक्रवर्ती ने सोमवार को ब्लूमबर्ग टेलीविजन के साथ एक साक्षात्कार में कहा, 'भारत को वस्तुओं का शुद्ध आयातक होने के नाते मुद्रास्फीति के मोर्चे पर लाभ होना चाहिए।' उन्होंने कहा कि भारत को अभी भी वैश्विक मंदी के दबाव का सामना करना पड़ेगा क्योंकि इससे निर्यात और आर्थिक विकास में कमी आएगी।

photo

नीति निर्माण पूरी तरह से मुद्रास्फीति नियंत्रण पर केंद्रित
समीरन चक्रवर्ती ने आगे कहा, 'चूंकि, इस समय, नीति निर्माण पूरी तरह से मुद्रास्फीति नियंत्रण पर केंद्रित है, ऐसा प्रतीत होता है कि इससे भारत को कुछ हद तक लाभ हो सकता है।'रूस और यूक्रेन में चल रहे युद्ध और महामारी-युग के उपायों के रोल-बैक के बीच बढ़ती मुद्रास्फीति के दबाव को रोकने के लिए यूएस फेडरल रिजर्व, ईसीबी जैसे प्रमुख केंद्रीय बैंकों के रूप में मंदी के आसपास की चिंताएं दुनिया भर में प्रमुख केंद्रीय बैंकों के रूप में उभरी हैं।

क्या कहते हैं विशेषज्ञ
मुद्रास्फीति के दबाव के कारण भारतीय रिजर्व बैंक ने मई से अपनी Benchmark lending rate में 90 आधार अंकों की वृद्धि की है। विश्लेषकों का मानना ​​है कि और बढ़ोतरी की घोषणा की जा सकती है क्योंकि हेडलाइन मुद्रास्फीति केंद्रीय बैंक की मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) की सीमा से ऊपर बनी हुई है और आने वाले कुछ महीनों में ऐसा ही रहने की उम्मीद है।

माइकल पात्रा ने कहा...
मौद्रिक नीति के प्रभारी डिप्टी गवर्नर माइकल पात्रा ने हाल ही में कहा था कि उपभोक्ता मूल्य सूचकांक पर आधारित मुद्रास्फीति अगली तीन तिमाहियों के लिए आरबीआई के 2 फीसदी से 6 फीसदी के लक्ष्य सीमा से ऊपर रहेगी।

ये भी पढ़ें : G7 में दिखी PM मोदी की हैसियत, हाथ मिलाने के लिए ऐसे बेचैन दिखे राष्ट्रपति बाइडेनये भी पढ़ें : G7 में दिखी PM मोदी की हैसियत, हाथ मिलाने के लिए ऐसे बेचैन दिखे राष्ट्रपति बाइडेन

Comments
English summary
India may benefit from a recession in the advanced economies as some amount of moderation in global commodities prices may help cool domestic inflation, analysts have said.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X