• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

हॉन्ग कॉन्ग पर चीन के दबदबे का असर ? कोविड के नाम पर इस छोटे से जीव पर आई आफत, 2,200 से अधिक का सफाया

|
Google Oneindia News

हॉन्ग कॉन्ग, 23 जनवरी: हॉन्ग कॉन्ग के अधिकारियों ने रविवार को बताया है कि एक पेट ओनर ने उनके हवाले जो एक हम्सटर (चूहे की तरह का एक जीव) किया है, वह भी कोविड-19 पॉजिटिव पाया गया है। बता दें कि हॉन्ग कॉन्ग में अब तक कोरोना के प्रकोप को कंट्रोल करने के नाम पर ऐसे 2,200 से ज्यादा हम्सटरों का सफाया किया जा चुका है। बीते मंगलवार को एक पेट शॉप में एक वर्कर कोविड पॉजिटिव पाया गया था, उसके बाद वहां के प्रशासन ने दर्जनों दुकानों में मौजूद हमस्टरों को मार डालने का आदेश जारी कर दिया था। यही नहीं लोगों को भी यह हिदायत दी गई थी कि जिन लोगों ने भी 22 दिसंबर के बाद एक बे हम्सटर खरीदें हैं, उसे प्रशासन के हवाले कर दें। गौरतलब है कि हॉन्ग कॉन्ग भी चीन की तरह जीरो कोविड पॉलिसी के नाम पर बेहद सख्त पाबंदियां लगा रहा है।

छोटे से जीव पर आई आफत

छोटे से जीव पर आई आफत

हॉन्ग कॉन्ग में हम्सटर की इस तरह से की जा रही हत्या को लेकर जनता में भारी विरोध है, लेकिन प्रशासन की ओर से लगातार कहा जा रहा है कि ये छोटे से जीव स्वास्थ्य के लिए जोखिम से भरे हैं, इसलिए उन्हें सौंप दें। सरकारी बयान के मुताबिक 22 जनवरी तक वहां कोविड कंट्रोल के लिए कुल 2,512 जानवरों की हत्या की जा चुकी है, जिनमें अकेले हम्सटर की संख्या 2,229 है। हॉन्ग कॉन्ग की नेता कैरी लैम पहले संवाददाताओं से कह चुकी हैं कि वह समझती हैं कि हत्याओं की वजह से 'पेट ओनर्स इससे नाखुश हैं' लेकिन, सबसे बड़ी प्राथमिकता इस प्रकोप को नियंत्रित करना है। वहां की सरकार ने इसको लेकर हो रहे हंगामे को 'तर्कहीन' करार दिया है। जबकि, जिस तरह से छोटे से जीवों को मारा जा रहा है, उसपर ही सवाल उठ रहे हैं।

हम्सटर के आयात पर लग चुकी है पाबंदी

हम्सटर के आयात पर लग चुकी है पाबंदी

जबकि कुछ वैज्ञानिकों और पशुचिकित्सों का कहना है कि ऐसा कोई साक्ष्य नहीं है कि जानवर कोरोना वायरस से इंसानों को संक्रमित करने में कोई अहम रोल निभाते हैं। बता दें कि हॉन्ग कॉन्ग में एक ही पेट शॉप में 11 हम्सटर के कोविड पॉजिटिव पाए जाने के बाद 18 जनवरी को वहां की सरकार ने इन दुकान मालिकों और हम्सटर ओनर से कहा था कि वे 2,000 से अधिक हम्सटर उसके हवाले कर दें। ये हम्सटर दिसंबर के आखिर में नीदरलैंड से आयात करके लाए गए थे, जिसपर सरकार पहले ही बैन लगा चुकी है। सरकार ने तभी ऐलान किया था कि 22 दिसंबर के बाद जितने भी हमस्टर आए होंगे, उन सबको वह मार डालेगी।

सरकारी फरमान के खिलाफ सख्त है नाराजगी

सरकारी फरमान के खिलाफ सख्त है नाराजगी

तीसरे साल सख्त कोविड पाबंदियां झेल रहे हॉन्ग कॉन्ग के कुछ निवासियों का सरकार का यह फरमान 'सनकी' फैसले की तरह लग रहा। एक हम्सटर ओनर ने हॉन्ग कॉन्ग की एक मीडिया स्टैंडर्ड से कहा कि वह सिर्फ एक कोविड टेस्ट करवाएगी और 'अगर टेस्ट से पता चलेगा कि मैं संक्रमित नहीं हूं, मुझसे मेरा हम्सटर कोई नहीं छीन सकता, जब तक कि मेरी हत्या न कर दे।' इसके बाद सरकार ने ऐसे लोगों के खिलाफ पुलिस कार्रवाई की धमकी दे डाली।

इसे भी पढ़ें- Stealth Omicron: RT-PCR टेस्ट को भी धोखा देने वाला 'गुप्त' वायरस क्या है? भारत में भी फैलाइसे भी पढ़ें- Stealth Omicron: RT-PCR टेस्ट को भी धोखा देने वाला 'गुप्त' वायरस क्या है? भारत में भी फैला

हॉन्ग कॉन्ग पर चीन के दबदबे का असर ?

हॉन्ग कॉन्ग पर चीन के दबदबे का असर ?

दरअसल, दुनिया अब कोरोना के साथ जीना सीख रही है। लेकिन, ऐसे समय में एक ऐसे शहर में जहां पहले पूरे विश्व की झलक देखने को मिलती थी, इस तरह की नीति लोगों को हजम नहीं हो पा रही है। माना जा रहा है कि जीरो कोविड वाली यह नीति एक तरह से चीन के प्रभाव में है, जो हॉन्ग कॉन्ग के लोकतांत्रिक आंदोलन को दबाकर अपना दबदबा बढ़ाने में लगा हुआ है। क्योंकि,सख्त आदेश के बावजूद शुरू में हजारों लोग हम्सटरों की जान बचाने के लिए घरों से निकल गए और पेट शॉप और डर के मारे छोड़े गए हम्सटर को अपनाने के लिए आगे बढ़ निकले। लेकिन, सरकार ने मनमानी करते हुए कितने ही जानवरों को मिटाकर ही दम लिया है। (तस्वीरें- रॉयटर्स के ट्विटर वीडियो से)

Comments
English summary
In Hong Kong, more than 2,200 hamsters were wiped out, the government did not agree in the name of Covid, despite the huge opposition of the people
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X