• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

छह दिनों में चुनाव की घोषणा करे सरकार, इमरान ने पीएम शहबाज को दी चेतावनी

|
Google Oneindia News

इस्लामाबाद, 26 मई : पाकिस्तान में सत्ता परिवर्तन के बाद वहां के हालात सुधरने के बजाय और बिगड़ते ही जा रहे हैं। पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने विरोध मार्च वापस ले लिया है। हालांकि, उन्होंने पाकिस्तान की शहबाज शरीफ सरकार को चेतावनी देते हुए कहा है कि, अगर 6 दिनों में चुनाव की घोषणा नहीं की जाती है तो वे देश की जनता को इस्लामाबाद में इकट्ठा कर विरोध प्रदर्शन करेंगे। जानकारी के मुताबिक, पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान चुनाव की मांग करते हुए अपने समर्थकों के साथ इस्लामाबाद दाखिल हो चुके हैं।

इमरान ने पाकिस्तान सरकार की निंदा की

इमरान ने पाकिस्तान सरकार की निंदा की

डॉन की रिपोर्ट के अनुसार इमरान खान ने विरोध प्रदर्शन को रोकने के लिए सरकार की तरफ से की गई कार्रवाई की उन्होंने घोर निंदा की और मामले पर संज्ञान लेने के लिए सुप्रीम कोर्ट को धन्यवाद दिया। इमरान खान ने चेतावनी देते हुए पाकिस्तान सरकार से कहा है कि, अगर 6 दिन में चुनाव की तारीखों का ऐलान नहीं होता है तो वे पूरे लाव लश्कर के साथ इस्लामाबाद लौटेंगे।

आखिर सत्ता से बेदखल क्यों हुए इमरान खान ?

आखिर सत्ता से बेदखल क्यों हुए इमरान खान ?

बता दें कि, देश के 75 साल के इतिहास में आधे समय से ज्यादा तक सेना सत्ता में रही है और सुरक्षा तथा विदेश नीति के मामलों में उसकी महत्वपूर्ण भूमिका होती है। पिछले महीने अविश्वास प्रस्ताव के जरिए सत्ता से बेदखल किए गए खान ने स्पष्ट तौर पर सेना का समर्थन खो दिया था क्योंकि उन्होंने पिछले साल खुफिया एजेंसी इंटर सर्विसेज इंटेलिजेंस (आईएसआई) के प्रमुख की नियुक्ति का समर्थन करने से इनकार कर दिया था।

आजादी मार्च के दौरान हिंसक झड़पें भी हुईं

आजादी मार्च के दौरान हिंसक झड़पें भी हुईं

इमरान खान की पार्टी तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) ने फ्रेश चुनाव की मांग करते हुए बुधवार को बड़ा विरोध प्रदर्शन 'आजादी मार्च' निकाला। इससे देश में काफी तनाव बढ़ गया। लाहौर, कराची और देश के अन्य हिस्सों में पीटीआई नेताओं, कार्यकर्ताओ, समर्थकों पर पुलिस की कार्रवाई के वीडियो और तस्वीरें सामने आईं हैं। जानकारी के मुताबिक पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले दागे। इसके साथ ही पुलिस और समर्थकों के बीच झड़पे होने की खबरें भी प्राप्त हुईं। पुलिस ने इस दौरान कई लोगों को गिरफ्तार भी किया। पाकिस्तान नें फ्रेश इलेक्शन की मांग तेज हो गई है। इमरान की नेता यास्मीन राशिद ने एक बयान में कहा कि इस्लामाबाद जाते समय पुलिस ने उनके वाहन का शीशा तोड़ दिया।

संसद भंग होने तक वह राजधानी नहीं छोड़ेंगे

संसद भंग होने तक वह राजधानी नहीं छोड़ेंगे

हाल ही में पाकिस्तान की सरकार से बाहर हुए इमरान खान देश भर में रैलियों का नेतृत्व कर रहे हैं। उन्होंने अपनी सरकार के गिरने पर इसके लिए विदेशी ताकतों को जिम्मेदार बताया था। इसी के साथ उन्होंने सरकार को चेतावनी देते हुए कहा था कि, नए चुनाव कराने के लिए संसद भंग होने तक वह राजधानी नहीं छोड़ेंगे।

फ्रेश इलेक्शन की मांग कर रहे हैं इमरान खान

फ्रेश इलेक्शन की मांग कर रहे हैं इमरान खान

बता दें कि 24 मई को इमरान खान ने अपनी पार्टी के सभी कार्यकर्ताओं और समर्थकों से अपील की थी कि वह बड़ी संख्या में इस्लामाबाद के डी चौक पहुंचे। गौर करने वाली बात है कि इमरान खान सत्ता से बाहर होने के बाद फिर से नए सिरे से चुनाव की मांग कर रहे हैं। अपनी इसी मांग को लेकर वह लगातार रैलियां और मार्च कर रहे हैं। इमरान खान ने देश की महिलाओं और बच्चों से भी अपील की है कि वह अपने घर से बाहर निकले और असल आजादी की लड़ाई मे शामिल हों।

ये भी पढ़ें : इमरान खान का आजादी मार्च पहुंचा इस्लामाबाद, भारी पुलिसबल तैनातये भी पढ़ें : इमरान खान का आजादी मार्च पहुंचा इस्लामाबाद, भारी पुलिसबल तैनात

Comments
English summary
Announce election in six days, or will return to Islamabad with the 'entire nation', former Pakistan Prime Minister and PTI Chairman Imran Khan warned the government as he addressed the protestors in Islamabad.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X