• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

भारत से बातचीत के लिए अमेरिका के सामने गिड़गिड़ाया पाकिस्तान, कहा- मध्यस्थता करवाएं जो बाइडेन

|

इस्लामाबाद/वाशिंगटन: भारत के साथ बातचीत के लिए अब पाकिस्तान अमेरिका के सामने गिड़गिड़ा रहा है। पाकिस्तान ने अमेरिका से फिर विनती की है कि वो भारत को पाकिस्तान के साथ बातचीत के लिए मनाने की कोशिश करे जबकि भारत का पाकिस्तान से बातचीत पर रूख कायम है कि जबतक पाकिस्तान आतंकवादी गतिविधियों को रोकता नहीं है, भारत किसी भी हाल में पाकिस्तान से बातचीत नहीं करेगा।

imrankhan

अमेरिका के सामने रोया पाकिस्तान

पाकिस्तान ने अमेरिका से विनती की है कि वो अपनी भूमिका निभाते हुए भारत को पाकिस्तान के साथ बातचीत के लिए राजी करे ताकि एशिया में शांति की स्थापना हो सके। अमेरिका में जो बाइडेन की सरकार बनने के बाद से पाकिस्तान कई बार भारत से बातचीत करने को लेकर बयान दे चुका है। माना जा रहा है कि पाकिस्तान बार बार शांति का राग इसलिए अलाप रहा है कि वो बाइडेन प्रशासन के सामने यह जता सके कि पाकिस्तान शांति चाहता है जबकि भारत बातचीत भी नहीं कर रहा है।

पाकिस्तान राजनयिक असद मजीद खान ने अमेरिका से कहा है कि 'पाकिस्तान एक शांत पड़ोसी देश बनने के लिए प्रतिबद्ध है और अब भारत की जिम्मेदारी है कि वो शांति के लिए वातावरण तैयार करे और हम अमेरिका से चाहते हैं कि वो अपनी भूमिका अदा करे'। वाशिंगटन थिंक टैंक को ऑनलाइन कार्यक्रम में संबोधित करते हुए अमेरिका में पाकिस्तानी राजदूद असद मजीज खान ने अफगानिस्तान का भी मुद्दा उठाया और कहा कि अफगानिस्तान की शांति के लिए अमेरिका को तालिबान से बातचीत करनी चाहिए। यानि, एक तरफ FATF से निकलने के लिए बैचेन पाकिस्तान का तालिबान प्रेम यहां भी छलक ही गया।

पुलवामा पर पाकिस्तान का झूठ

वाशिंगटन कॉन्फ्रेंस के दौरान पाकिस्तानी एंबेसडर असद मजीद खान से पूछा गया कि वो भारत के साथ अच्छे संबंध बनाने के लिए क्या कर रहे हैं तो उन्होंने वही पुराना झूठा राग उगलना शुरू कर दिया। पाकिस्तान ने पुलवामा हमले की जिम्मेदारी लेने से एकबार फिर बना कर दिया। पाकिस्तानी एंबेसडर ने कहा कि भारत में लोकसभा चुनाव होने थे और राजनीतिक महत्वाकांक्षा के लिए पुलिवामा में भारतीय जवानों पर हमला कराया गया था। जबकि भारत पुलवामा हमले में पाकिस्तानी आतंकियों के शामिल होने के सबूत अंतर्राष्ट्रीय मंच पर रखते हुए बालाकोट में एयरस्ट्राइक कर चुका है जिसमें 300 से ज्यादा आतंकी मारे गये थे। वहीं, कॉन्फ्रेंस में पाकिस्तानी एंबेसडर ने कहा कि 'हम भारत के साथ सामान्य व्यापारिक समझौता, सामान्य राजनीतिक समझौता और भारत के साथ सामान्य संबंध बहाल करना चाहते हैं लेकिन उसके लिए भारत को पहले कश्मीर में एकतरफा एक्शन लेना बंद करना पड़ेगा और बातचीत के जरिए कश्मीर के साथ साथ हर समस्या का समाधान करने की दिशा में काम करे। जब इन मुद्दों पर हमारा भारत के साथ समझौता हो जाएगा फिर हम व्यापार, आर्थिक और इनवेस्टमेंट को लेकर भारत से समझौता करेंगे'

अमेरिका से पाकिस्तान की गुहार

पाकिस्तानी एंबेसडर ने एक बार फिर अमेरिका के नये राष्ट्रपति जो बाइडेन से गुहार लगाते हुए कहा कि 'अब पाकिस्तान बदल चुका है लिहाजा बाइडेन प्रशासन को नये नजरिए से पाकिस्तान को देखना चाहिए'

आपको बता दें कि पिछले दो हफ्तो के दौरान पाकिस्तान की तरफ से भारत के सामने की बार बातचीत का प्रस्ताव रखा गया है। पाकिस्तान सेना प्रमुख कश्मीर मसले पर पाकिस्तान के रूख में नरमी लाते हुए भारत से बातचीती करने की गुहार लगा चुके हैं तो पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान खुद ट्वीट कर भारत को बातचीत के लिए सामने आने की बात कह चुके हैं। दरअसल, जानकारों का मानना है कि जो बाइडेन प्रशासन के सामने पाकिस्तान यह दिखाना चाहता है कि पाकिस्तान तो शांति चाहता है मगर भारत ही बातचीत के लिए तैयार नहीं है। जबकि हकीकत ये है कि जब जब भारत ने पाकिस्तान की बात मानते हुए बातचीत की दिशा में कदम बढ़ाया है, पाकिस्तानी आतंकियों ने भारत पर हमला कर दिया है लिहाजा भारत का कहना है जबतक पाकिस्तान अपनी जमीन से आतंकवादी तत्वों का खात्मा नहीं करता है, तबतक भारत पाकिस्तान से बातचीत नहीं करेगा।

ईरान ने अमेरिका से मांगा 10 खरब डॉलर का हर्जाना, 1600 प्रतिबंधों से टूट चुकी है ईरानी अर्थव्यवस्था

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Pakistan urged America to play role between India and Pakistan for peace and dialogue
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X