India
  • search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts
Oneindia App Download

जल्द चुनाव के लिए पाक सेना के खिलाफ रणनीति बना रहे इमरान खान: रिपोर्ट

|
Google Oneindia News

इस्लामाबाद, 02 जून : पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान सैन्य प्रतिष्ठान को बदनाम करने और राजनीतिक नेतृत्व को चुनाव कराने के लिए मजबूर करने की रणनीति बनाने में लगे हुए हैं। द न्यूज इंटरनेशनल की रिपोर्ट के अनुसार, अंदरूनी सूत्रों ने कहा कि पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के अध्यक्ष इमरान खान 25 मई को इस्लामाबाद मार्च के लिए भीड़ खींचने में विफल रहने के बाद अपनी पार्टी के वरिष्ठ सदस्यों से नाराज हैं और जल्द चुनाव के लिए एक खतरनाक कहानी को आगे बढ़ाने पर विचार कर रहे हैं।

imran khan

ये क्या कर रहे हैं इमरान?
अंदरूनी सूत्रों का कहना है कि जिन विकल्पों पर चर्चा हो रही है, उनमें खान की सरकार के खिलाफ साजिश के मुख्य स्रोत के रूप में एक शक्तिशाली संस्थान के प्रमुख का नाम लेने की संभावना है। द न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, खान को उम्मीद है कि नई कहानी शक्तिशाली व्यक्तित्व पर चुनाव को मजबूर करने के लिए पर्याप्त दबाव पैदा कर सकती है।

एक निराधार दावे को हवा दे रहे हैं इमरान
'द न्यूज' के अनुसार, सूत्रों का कहना है कि इस आंतरिक बहस में दो परस्पर विरोधी स्थितियां हैं... एक पक्ष इमरान खान को यह कदम उठाने से हतोत्साहित कर रहा है क्योंकि इससे उल्टा असर पड़ सकता है। जबकि, दूसरा पक्ष यह तर्क दे रहा है कि इस शक्तिशाली व्यक्तित्व का नाम लेकर, इमरान जल्द चुनाव कराए जाने को लेकर बड़े लोगों पर दबाव बना सकते हैं। जानकारी के मुताबिक जब अविश्वास प्रस्ताव (VNC) होने वाला था, तब भी इमरान खान ने अमेरिका के समर्थन में सत्ता परिवर्तन की साजिश का राग अलाप कर एक निराधार दावे को हवा दी। उन्होंने इस दावे के माध्यम से वीएनसी और आने वाली सरकार को बदनाम करने का प्रयास किया।

सत्ता परिवर्तन की साजिश
रिपोर्ट के मुताबिक इमरान खान ने 27 मार्च को एक सार्वजनिक रैली में अमेरिका की मिली भगत में सत्ता परिवर्तन की साजिश के बारे में अपने निराधार दावे को दोहराना जारी रखा। द न्यूज के मुताबिक, यहां यह उल्लेख करना महत्वपूर्ण है कि इमरान खान ने 11 मार्च को प्रधान मंत्री के रूप में कामरा एयरबेस का दौरा करने पर अमेरिका में पाकिस्तान के राजदूत द्वारा लिखे गए पत्र को महत्वहीन बताते हुए खारिज कर दिया था और इसके बारे में सूचित किया गया था।

नई रणनीति बना रहे हैं इमरान खान
जब इमरान खान सरकार से बाहर हो गए, तो देश भर में बड़े सार्वजनिक प्रदर्शनों के माध्यम से शक्तिशाली संस्थानों पर दबाव बनाने का प्रयास किया। लेकिन खान के लिए, 25 मई के लंबे मार्च की विफलता और इस्लामाबाद में जल्द चुनाव कराने को लेकर किया गया धरना उनके लिए निराशा और शर्मिंदगी का सबसे बड़ा स्रोत बन गया। इस बीच, अपना धरना खत्म करते हुए, खान ने देश में जल्द चुनाव कराने के लिए सरकार को छह दिन की समय सीमा दी। लेकिन समय बीत जाने के बाद इमरान खान के पास जल्द चुनाव कराने की अपनी मांग पर जोर देने के लिए कोई नई रणनीति नहीं बची थी और इसी के साथ उनकी रणनीति पूरी तरह से ध्वस्त हो गई।

उम्मीद अब भी बाकी
अब, खान की नज़र सुप्रीम कोर्ट के साथ-साथ पाकिस्तान के चुनाव आयोग पर टिक गई है। उन्हें लगता है कि, उनके पक्ष में कोई निर्णय आ सकता है। इन सबके बीच, देश के बड़े व्यापारी मलिक रियाज और पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) के आसिफ अली जरदारी के बीच हाल ही में लीक हुए ऑडियो ने खान की विश्वसनीयता को सबसे ज्यादा नुकसान पहुंचाया। ऑडियो में रियाज को जरदारी को यह कहते हुए सुना जा सकता है कि इमरान ने उन्हें पीपीपी के साथ समझौता करने के लिए कई संदेश भेजे हैं। इस पर जरदारी ने जवाब दिया, 'अब बहुत देर हो चुकी है।'

अपनी ही पार्टी के लोग इमरान को लेकर चिंता में हैं..
पीटीआई के अंदरूनी सूत्रों का कहना है कि पार्टी नेतृत्व अधिक ऑडियो और वीडियो लीक के बारे में चिंतित है जो विश्वसनीयता को और नुकसान पहुंचा सकता है और इमरान खान के लिए शर्मिंदगी का कारण बन सकता है। उनका मानना ​​​​है कि उनके विश्वासपात्रों के साथ उनकी कॉल के ज्यादा ऑडियो हैं, जो उनसे अमेरिकी प्रशासन को साजिश का हिस्सा बनाने के लिए एक झूठी कहानी बनाने की बात कर रहे हैं।

ये भी पढ़ें : रूस पर प्रतिबंधों की स्थिति क्या सऊदी अरब बढ़ा सकता है तेल का उत्पादन ?ये भी पढ़ें : रूस पर प्रतिबंधों की स्थिति क्या सऊदी अरब बढ़ा सकता है तेल का उत्पादन ?

Comments
English summary
Former prime minister Imran Khan is engaged in chalking out strategies to malign the military establishment and compel the political leadership to conduct elections.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X