• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

कंठ तक कर्ज में डूबा पाकिस्तान, जल्द होगा चीन का आर्थिक गुलाम, 600 अरब का टैक्स लगाएंगे इमरान खान- IMF रिपोर्ट

|

इस्लामाबाद: पाकिस्तान की आर्थिक स्थिति कितनी खराब हो चुकी है ये तो पूरी दुनिया जानती है और चीन की गोद में बैठने वाला पाकिस्तान बहुत जल्द चीन का आर्थिक गुलाम होगा। वो दिन दूर नहीं जब पाकिस्तान पूरी तरह से चीन के अधीन होगा। इसकी भविष्यवाणियां भी अब शुरू हो गई हैं। आईएमएफ ने इसके लिए बकायता इमरान खान और पाकिस्तान को इशारा भी कर दिया है, अब ये पाकिस्तान और इमरान खान पर निर्भर करता है, कि वो आईएमएफ के इशारे को कितना सीरियस लेते हैं। रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान सरकार को अपनी जनता पर 600 अरब का नया टैक्स लगना पड़ेगा।

कर्ज के बोझ में दबा पाकिस्तान

कर्ज के बोझ में दबा पाकिस्तान

मार्च के आखिरी दिनों में पाकिस्तान को आईएमएफ और वर्ल्ड बैंक की तरफ से 130 अरब रुपये का लोन मिला है। जिसमें आईएमएफ ने पाकिस्तान को 500 मिलियन डॉलर यानि 36 अरब 22 करोड़ 37 लाख रुपये का लोन दिया है। यानि, पाकिस्तान पूरी तरह से कर्ज के बोझ में धंसा हुआ है और रिपोर्ट के मुताबिक हर पाकिस्तानी नागरिक के सिर पर 2 लाख रुपये का कर्ज हो चुका है। ऐसे में आईएमएफ ने कहा है कि पाकिस्तान की जो स्थिति है, वो बेहद खराब है। आईएमएफ से कर्ज लेने के लिए पाकिस्तान को आईएमएफ की कई शर्तों को पूरा करना पड़ा है। जिसके बाद पाकिस्तान में बिजली की कीमतों में करीब 6 रुपये से ज्यादा का इजाफा होने वाला है, ऐसे में पाकिस्तान में महंगाई की क्या स्थिति होगी, इसका अंदाजा आप लगा सकते हैं।

पाकिस्तान बनेगा चीन का ‘गुलाम’

पाकिस्तान बनेगा चीन का ‘गुलाम’

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान झूठ बोलने में माहिर हैं। सत्ता में आने से पहले उन्होंने कहा था कि अगर उनकी सरकार बनेगी तो वो विदेशी कर्ज नहीं लेंगे, लेकिन इमरान खान जब से प्रधानमंत्री बने हैं, पाकिस्तान ने आईएमएफ और वर्ल्ड बैंक के अलावा चीन से भी अरबों रुपये का कर्ज ले लिया है। पिछले साल जब सऊदी अरब ने पाकिस्तान को 3 अरब रुपये फौरन चुकाने को कहा था, उस वक्त भी पाकिस्तान ने चीन के सामने ही अपनी झोली फैलाई थी। रिपोर्ट के मुताबिक नकदी संकट से जूझ रहे पाकिस्तान की आर्थिक स्थिरता चीन से मिलने वाली 11 अरब अमेरिकी डॉलर के कर्ज पर टिकी हुई है।

600 अरब का टैक्स लगाएगी सरकार

600 अरब का टैक्स लगाएगी सरकार

आईएमएफ की शर्तों को अगर पाकिस्तान नहीं पूरा करता तो उसे आईएमएफ से कर्ज नहीं मिलता। ऐसे में अब ऋण प्रबंधन योजना के तहत पाकिस्तान की सरकार अपनी जनता पर अलग अलग टैक्स लगाकर 600 अरब रुपये वसूल करेगी। यानि, इमरान खान अपनी जनता को पूरी तरह से चूस लेंगें। रिपोर्ट के मुताबिक जून 2023 तक सिर्फ बिजली उपभोक्ताओं पर 884 अरब रुपये का अतिरिक्ति बोझ पड़ेगा। इसके अलावा पाकिस्तान की सरकार आईएमएफ की शर्तों को पूरा करने के लिए अपनी जीडीपी का 1.1 प्रतिशत यानि करीब 600 अरब रुपये का नया टैक्स अपनी जनता पर लगाएगी। इमरान खान को इस साल सितंबर तक पाकिस्तानी जनता पर कई और तरह की टैक्स लगाना है जिसके बाद माना जा रहा है कि पाकिस्तान में महंगाई आसमान पर पहुंच जाएगी और पाकिस्तान की जनता दो वक्त की रोटी के लिए भी तड़पेगी।

चीन का आर्थिक गुलाम

चीन का आर्थिक गुलाम

रिपोर्ट के मुताबिक आईएमएफ और वर्ल्ड बैंक से अरबों रुपये का कर्ज लेने के बाद भी पाकिस्तान को अपनी आर्थिक जरूरतों को पूरा करने के लिए चीनी कर्ज पर निर्भर रहना पड़ेगा। यानि, पाकिस्तान को अपनी आर्थिक जरूरतों को पूरा करने के लिए चीन से मिलने वाली 10.8 अरब डॉलर के साथ साथ संयुक्त अरब अमीरात से 2 अरब डॉलर, विश्व बैंक के 2.8 अरब डॉलर, जी-20 देशों से 1.8 अरब डॉलर, एशियाई विकास बैंक से 1.1 अरब डॉलर तो लेना ही होगा, इसके साथ ही साथ पाकिस्तान को इस्लामिक डेवलपमेंट बैंक से एक अरब डॉलर की सहायता लेनी पड़ेगी।

चीनी आयात करने पर पाकिस्तान ने भारत को 'ब्लैकलिस्ट' में डाला, जानिए अमेरिका ने क्या कहाचीनी आयात करने पर पाकिस्तान ने भारत को 'ब्लैकलिस्ट' में डाला, जानिए अमेरिका ने क्या कहा

English summary
Pakistan will become China's economic slave in a few years. The IMF has said that even after taking billions of loans,
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X