• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

राज्य बनने के लिए वॉशिंगटन ने पहला टेस्ट किया पास, हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव में बिल पास, आगे की राह मुश्किल

|
Google Oneindia News

वॉशिंगटन, अप्रैल 23: अमेरिका की राजधानी को अमेरिका का 51वां राज्य बनाने की कवायद जारी है। वॉशिंगटन डीसी को अमेरिका का 51वां राज्य बनाने के बिल पर बृहस्पतिवार को हाउस ऑफ रिप्रजेंटिव के सदस्यों ने वोट किया जिसमें इस बिल को पास कर दिया। हालांकि, इस दौरान रिपब्लिकन पार्टी के सदस्यों ने बिल के खिलाफ मत डाला, लेकिन चूंकी हाउस ऑफ रिप्रजेंटिव में डेमोक्रेट के सदस्य ज्यादा हैं, लिहाजा ये बिल पूर्ण बहुमत से पास हो गया। हालांकि, अभी भी वॉशिंगटन को राज्य का दर्जा मिलने के लिए कई कवायद होने बाकी हैं।

वॉशिंगटन बनेगा राज्य!

वॉशिंगटन बनेगा राज्य!

अमेरिका की हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव ने वॉशिंगटन को राज्य बनाने वाला बिल पास कर दिया है और अगर आगे भी इस बिल ने तमाम कानूनी और संवैधानिक अड़चनों को पार कर लिया तो फिर वॉशिंगटन अमेरिका का 51वां राज्य बन जाएगा। हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव से पास होने के बाद अब इस बिल को सीनेट में पास होने के लिए भेजा जाएगा। हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव में मतदान के दौरान इस बिल के समर्थन में 216 वोट डाले गये वहीं इस बिल के विरोध में 208 वोट डाले गये। हालांकि, सीनेट में इस बिल के पास होने पर शंका जताई जा रही है। डेमोक्रेटिक पार्टी इस वॉशिंगटन जिले को राज्य बनाना चाहती है लेकिन रिपब्लिकन को इस बिल को लेकर एतराज है, लिहाजा माना जा रहा है कि 100 सीट वाले सीनेट में इस बिल का पास होना बेहद मुश्किल है। अमेरिकी इतिहास में ये दूसरा मौका है जब किसी बिल के समर्थन में पूरे देश के डेमोक्रेटिक ने बिल के समर्थन में मतदान किया हो। वहीं, व्हाइट हाउस ने भी इस बिल का समर्थन किया है।

रिपब्लिकन पार्टी का विरोध

रिपब्लिकन पार्टी का विरोध

हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव में पास होने के बाद सीनेटर पॉल स्ट्रॉस ने भारतीय न्यूज एजेंसी एएनआई से कहा कि 'मैं काफी खुश हूं कि वॉशिंगटन को राज्य बनाने वाला बिल हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव में पास हो गया है। इस बिल को लेकर डेमोक्रेटिक पार्टी के सांसद पूरी तरह से एक जुट हुए, ये सबसे ज्यादा उत्साहित करने वाली बात है, हालांकि रिपब्लिकन पार्टी के उम्मीदवारों का बिल के पक्ष में वोट नहीं देना निराशा की बात है।' वहीं, इलेनॉर हॉल्म्स नॉर्टन ने हाउस ऑफ रिप्रजेंटिव से बिल पास होने के बाद कहा कि 'हाउस ऑफ रिप्रजेंटिव से वॉशिंगटन को राज्य बनाने का दर्जा बनाने वाले बिल का पास होना ऐतिहासक है और ये वॉशिंगटन में रहने वाले लोगों के लिए बड़ा दिन है'। नॉर्टन कांग्रेस में वॉशिंगटन का प्रतिनिधित्व करते हैं लेकिन उनके पास वोट देने का अधिकार नहीं है।

वॉशिंगटन को वोटिंग का अधिकार नहीं

वॉशिंगटन को वोटिंग का अधिकार नहीं

अमेरिका की राजधानी वॉशिंगटन के लोगों के पास कांग्रेस के लिए अपना प्रतिनिधि चुनने का अधिकार नहीं है, बावजूद इसके कि वो टैक्स भरते हैं और अपने कर्तव्यों का पालन करते हैं। वॉशिंगटन को राज्य बनाने की मांग काफी लंबे अर्से से की जा रही है और पिछले साल इस बिल को हाउस ऑफ रिप्रजेंटिव के सामने लाया गया था। पिछले साल अमेरिके का राष्ट्रपति चुनाव के दौरान वॉशिंगटन को राज्य बनाने का मुद्दा काफी छाया रहा। वॉशिंगटन को राज्य बनाने का समर्थन अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन, उपराष्ट्रपति कमला हैरिस समेत अमेरिका के कई सेलिब्रिटी वॉशिंगटन को राज्य बनाने की मांग का समर्थन करते हैं लेकिन सीनेट में इस बिल का पास होना काफी मुश्किल माना जा रहा है। क्योंकि, सीनेट में सिर्फ 45 वोट ही इस बिल के समर्थन में है, जबकि बिल को पास होने के लिए 50 सीनेटर्स के समर्थन की जरूरत है।

सीनेट में बिल पास होना मुश्किल

सीनेट में बिल पास होना मुश्किल

हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव से पास होने के बाद इस बिल को सीनेट में भेजा जाएगा लेकिन वहां इस बिल का पास होना काफी मुश्किल माना जा रहा है। सीनेट में बिल के पास होने के लिए कम से कम 10 रिपब्लिकन सीनेटर्स का समर्थन चाहिए जो काफी मुश्किल है। अगर वॉशिंगटन को राज्य बनाया जाता है तो यहां 2 सीनेटर्स और एक हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव होंगे। अभी तक वॉशिंगटन सिर्फ एक जिला था और यहां के नागरिकों के पास कांग्रेस में वोट डालने का अधिकार नहीं था। रिपब्लिकन पार्टी का कहना है कि वॉशिंगटन जिले को राज्य में बदलना डेमोक्रेटिक पार्टी की एक राजनीतिक चाल है और इसके लिए अमेरिकी संविधान में संशोधन की जरूरत होगी। रिपब्लिकन पार्टी के सीनेटर्स ने कहा है कि वो सीनेट के अंदर इस बिल का विरोध करेंगे।

'धार्मिक आजादी' को लेकर US ने भारत पर की कड़ी टिप्पणी, इंडिया के लिए की ये मांग'धार्मिक आजादी' को लेकर US ने भारत पर की कड़ी टिप्पणी, इंडिया के लिए की ये मांग

English summary
The bill to make Washington a state has passed in the House of Representatives, although it is unlikely to pass the bill in the Senate.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X