• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

ग्राउंड रिपोर्ट: उत्तर कोरिया बॉर्डर की सुरंगे, बंकर और लैंडमाइन

By Bbc Hindi

परमाणु एटैक प्रूफ़ बंकर
BBC
परमाणु एटैक प्रूफ़ बंकर

दक्षिण कोरिया के एक गाँव में सुबह के साढ़े दस बजे हैं. सीमा पर बसे इस आख़िरी गाँव में सन्नाटा पसरा हुआ है जिसे एक-आधा बख़्तरबंद गाड़ियों कभी-कभार तोड़ देती हैं.

योंगाम री गाँव के बाद से ही उत्तर और दक्षिण के बीच का डिमिलिट्राइज़्ड ज़ोन (विसैन्यीकृत क्षेत्र) शुरू हो जाता है.

अनुमान है कि इस ज़ोन में दस लाख से भी ज़्यादा लैंडमाइन्स का जाल बिछा हुआ है.

दक्षिण कोरिया में खेलेगा उत्तर कोरिया

द. कोरिया पर नरम क्यों हुए किम जोंग?

ली सुन जा
BBC
ली सुन जा

गाँव के चेहरों पर आज भी दहशत

इधर गाँव के ओल्ड-एज होम (वृद्धाश्रम) में क़रीब एक दर्जन महिलाएं खाना परोसे जाने के इंतज़ार में हैं.

कई किस्म की सूखी मछलियां, पोर्क-चावल, किमची सलाद और कोरिया की 'राष्ट्रीय शराब' सोजू आज मेज़ पर है.

ये वो लोग हैं जिन्होंने देश के हिंसक बंटवारे को देखा है और इनके चेहरों पर आज भी दहशत की छाप है.

90 साल की ली सुन जा ने 1950 में इसी गाँव में लोगों का क़त्ले-आम देखा था.

अब भी कई देश हैं उत्तर कोरिया के मददगार

उ. कोरिया के सामने इतना बेबस क्यों अमरीका?

योंगाम री गाँव
BBC
योंगाम री गाँव

डर लगता है कि जंग दोबारा न छिड़ जाए

"मेरे पति अब नहीं रहे और बच्चे बड़े होकर दूसरी जगहों पर जाकर बस चुके हैं. पिछले वर्षों में तनाव भी बढ़ा है. अब मैं अपनी जगह तो नहीं छोडूंगी लेकिन हाँ, रोज़ दिमाग में ये बात ज़रूर उठती रहती है कि जंग दोबारा न छिड़ जाए. ज़ाहिर है, डर भी लगता है".

ली सुन जा इस वृद्धाश्रम में अकेली महिला थीं जो हमसे बात करने को तैयार हुईं.

दूसरों ने उत्तर कोरिया के बारे में कोई भी टिप्पणी करने से साफ़ मना कर दिया क्योंकि इनमें से कई वहीँ से आए हैं और कुछ के रिश्तेदार अभी भी वहीँ हैं.

लेकिन ली सुन जा इस बात से बिल्कुल अनजान हैं कि उत्तर कोरिया के शासक किम जोंग-उन मिसाइल पर मिसाइल टेस्ट करते जा रहे हैं.

'उत्तर कोरियाई मिसाइल की रेंज में आया अमरीका'

क्या उत्तर कोरिया में चिट्ठी भेजी जा सकती है?

कंक्रीट
BBC
कंक्रीट

किम के बारे में बातें कम

उन्होंने कहा, "मैं टेलीविज़न तो देखती हूँ, लेकिन किम के बारे में बहुत कम ही बात होती है. वैसे उत्तर कोरिया हमेशा से जंग-पसंद रहा है. चिंता भी इसी बात की ही है".

योंगाम री जैसे दर्जनों गाँव उत्तर कोरिया सीमा के नज़दीक बसे हुए हैं.

हर गाँव में बड़े-बड़े बंकर तैयार हैं और बताया जाता है कि इनमें चले जाने पर परमाणु या रसायन हमले से भी बचा जा सकता है.

काफ़ी मिन्नतों के बाद हमें एक बंकर में जाने और फ़िल्म करने की इजाज़त मिली.

उ.कोरिया- द. कोरिया के बीच हॉटलाइन चालू

आख़िरकार उत्तर कोरिया चाहता क्या है?

उत्तर कोरिया बॉर्डर
BBC
उत्तर कोरिया बॉर्डर

बर्फ़ीली सर्द हवाओं से जूझना पड़ता है

लोहे और कंक्रीट की बनी दीवारें चार फ़ीट से ज़्यादा मोटी हैं और इन अंडरग्राउंड बंकरों में मोमबत्तियों और टॉर्च के अलावा बिजली और जेनरेटर भी हैं.

बड़े-बड़े फ्रिजों में तीन महीने तक के खाने का सामान, कम्बल और बैटरी से चलने वाले शॉर्टवेव रेडियो भी मौजूद हैं जिससे जंग के हालात में बाहरी दुनिया से संपर्क बना रहे.

हर गाँव में डिजिटल स्क्रीन और विशालकाय लाउडस्पीकर अलार्म भी हमेशा तैयार रहते हैं.

दक्षिण कोरिया की राजधानी से चार घंटे दूर बसे इस इलाके में पहुँचने के लिए बर्फ़ीली हवाएं, ख़त्म न होने वाली सुरंगें और -10 डिग्री तक के तापमान से निपटना पड़ता है.

दक्षिण कोरिया से 'कीचड़' खरीदने पर बवाल

अपने परमाणु परीक्षण से ही ख़तरे में उत्तर कोरिया?

उत्तर कोरिया बॉर्डर
BBC
उत्तर कोरिया बॉर्डर

तोप के सामने, फिर भी एक इंच हिलना नापसंद

इन सभी गांवों का निकटतम शहर है चुनचियों.

जैसे-जैसे शहर क़रीब आता है आम नागरिक कम और फ़ौजी ज़्यादा दिखाई पड़ने लगते हैं.

पांच लाख से ज़्यादा दक्षिण कोरियाई सैनिक इस बॉर्डर पर दिन रात तैनात रहते हैं.

बॉर्डर के दूसरी ओर उत्तर कोरिया की तोपों के मुहाने भी इसी ओर मुड़े हुए हैं.

इसके बावजूद जो सीमा पर रहते रहे हैं, वे एक इंच भी हिलना नापसंद करते हैं.

BBC Hindi
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Ground Report North Korea border tunnels bunkers and landmines
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X