• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

भारत ने गेहूं निर्यात पर लगाया प्रतिबंध तो नाराज हुआ G-7, पीएम मोदी से की ये अपील

|
Google Oneindia News

बर्लिन, 14 मईः जी-7 देशों के समूह के कृषि मंत्रियों ने भारत के गेहूं निर्यात पर प्रतिबंध लगाने के फैसले की आलोचना की है। जर्मन कृषि मंत्री केम ओजडेमिर ने स्टटगार्ट में एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, "अगर हर कोई निर्यात प्रतिबंध या बाजार बंद करना शुरू कर देता है, तो इससे संकट और खराब हो जाएगा।" इससे पहले भारत ने स्थानीय कीमतों पर काबू पाने के लिए एक अधिसूचना जारी कर गेहूं के निर्यात पर रोक लगा दिया था।

Modi Government ने Wheat के Export पर क्यों लगाई तत्काल रोक ? समझिए इनसाइड स्टोरी | वनइंडिया हिंदी
जी-7 ने निर्यात रोके जाने की आलोचना की

जी-7 ने निर्यात रोके जाने की आलोचना की

यह निर्णय तब आया जब रूस के यूक्रेन पर आक्रमण के कारण वैश्विक कृषि बाजार गंभीर समस्या में है। इस महत्वपूर्ण मोड़ पर G7 औद्योगिक देशों के मंत्रियों ने दुनिया भर के देशों से प्रतिबंधात्मक कार्रवाई नहीं करने का आग्रह किया। जर्मन कृषि मंत्री केम ओजडेमिर ने कहा कि ऐसे प्रतिबंधात्मक कार्रवाई से उपज बाजारों पर और दबाव बढ़ सकता है। उन्होंने निर्यात रोके जाने की आलोचना की और बाजारों को खुला रखने का आह्वान किया। केम ओजडेमिर ने ने कहा, "हम भारत से G20 सदस्य के रूप में अपनी जिम्मेदारी संभालने का आह्वान करते हैं।"

भारत दूसरा सबसे बड़ा गेहूं उत्पादक देश

भारत दूसरा सबसे बड़ा गेहूं उत्पादक देश

भारत, यूक्रेन के बाद दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा गेहूं उत्पादक है। रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध से गेहूं की अंतर्राष्ट्रीय कीमतों में लगभग 40 फीसदी वृद्धि देखने को मिली है। इस कारण तेजी से भारत से गेहूं का एक्सपोर्ट हो रहा था। जिसकी वजह से स्थानीय स्तर पर आटे और गेहूं की कीमतों में काफी बढोतरी देखने को मिल रही है। आम जनता महंगाई से पहले से ही त्रस्त है अब आटे की कीमतों से लोगों पर आर्थिक बोझ बढ़ गया है।

महंगाई 8 साल के उच्चतम स्तर पर

महंगाई 8 साल के उच्चतम स्तर पर

विदेश व्यापार महानिदेशालय के अनुमान के अनुसार, भारत ने साल 2021-22 में 7 मिलियन टन गेहूं का निर्यात किया, जिसका मूल्य 2.05 अरब अमरीकी डॉलर है। पिछले वित्त वर्ष में कुल शिपमेंट में से लगभग 50 प्रतिशत गेहूं बांग्लादेश को निर्यात किया गया था। कई लोग यूक्रेन पर रूस के आक्रमण के कारण पैदा हुए अंतर को भरने के लिए भारत की तरफ देख रहे थे। लेकिन अप्रैल महीने में जारी हुए वार्षिक महंगाई के आंकड़े पिछले 8 सालों के उच्चतम स्तर पर है और भारत में खुदरा महंगाई दर बढ़कर 8.38 प्रतिशत हो गई है, लिहाजा, नरेंद्र मोदी सरकार ने देश से सभी गेहूं के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया है।

शुक्रवार देर रात जारी हुआ नोटिफिकेशन

शुक्रवार देर रात जारी हुआ नोटिफिकेशन

भारतीय वाणिज्य मंत्रालय की तरफ से जारी एक नोटिफिकेशन में बताया गया था कि देश की समग्र खाद्य सुरक्षा को मैनेज करने और पड़ोसी व कमजोर देशों की जरूरतों का समर्थन करने के लिए केंद्र सरकार ने तत्काल प्रभाव से गेहूं के निर्यात पर रोक लगा दिया है। इसके साथ ही सरकार ने कहा कि पहले से जारी किए गए क्रेडिट के लिए गेहूं के शिपमेंट को ही आगे बढ़ने की अनुमति दी जाएगी।

Comments
English summary
Agriculture ministers from the Group of Seven industrialised nations on Saturday condemned India's decision to ban unapproved wheat exports after the country was hit by a punishing heatwave.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X