• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

कोरोना वायरस का कोहराम, इस शहर में हर आधे घंटे में दफनाई जा रही है एक लाश, चर्च में लगा लाशों का ढेर

|

रोम। चीन के बाद कोरोना वायरस ने सबसे ज्‍यादा कहर फैशन और स्‍टाइल के लिए मशहूर देश इटली पर ढाया है। इटली में अब तक 1800 लोगों की मौत हो चुकी है और करीब 25,000 लोग संक्रमित हैं। यहां के एक कस्‍बे की हालत इतनी खराब है कि चर्च में हर आधे घंटे में एक लाश पहुंच रही है। इस इटैलियन टाउन के चर्चों में लाशों का ढेर लग चुका है और हर एक घंटे में दो लाशें दफनाई जा रही हैं। आपको बता दें कि नार्थ इटली पर कोरोना वायरस ने हाहाकार मचाकर रख दिया है।

यह भी पढ़ें-मरीजों का इलाज कर रही नर्सों के चेहरे पर मास्‍क की वजह से पड़ गए निशान

इटली के एक शहर में 900 लोगों की मौत

इटली के एक शहर में 900 लोगों की मौत

इटली के लोम्‍बार्डी ने कोरोना वायरस का सबसे खतरनाक रूप देखा है। मिलान से बस 63 किलोमीटर की दूरी पर स्थित लोम्‍बार्डी में ही करीब 900 लोगों की मौत हो चुकी है। लोम्‍बार्डी, इटली का वह कस्‍बा है जहां पर सबसे ज्‍यादा पर्यटक आते हैं। लेकिन पिछले एक हफ्ते से ही यह जगह किसी मरघट से कम नहीं नजर आ रही है। एक हफ्ते में ही यहां पर 150 लोगों की मौत हो गई है। यहां के मुर्दाघर पूरी रह से फुल हो चुके है और अंतिम संस्‍कार होने तक लाशों का ढेर चर्चों में लगा हुआ है। लोम्‍बार्डी में कब्रिस्‍तानों का जिम्‍मा संभालने वाले जियोकोमो एंजेलोनी ने कहा, 'हमें एक आपातकाल का सामना करना पड़ रहा है और किसी को भी इस बात में कोई शक नहीं होना चाहिए। हमें हर आधे घंटे मे यहां पर लाश दफनाने के लिए आना पड़ रहा है।'

थम नहीं रहा लाशों के आने का सिलसिला

थम नहीं रहा लाशों के आने का सिलसिला

उन्‍होंने आगे कहा कि शनिवार को 18, 44 रविवार और सोमवार को 33 मंगलवार को और बुधवार को 51 लाशों का अंतिम संस्‍कार किया गया है। उन्‍होंने आगे बताया कि हालात इतने बिगड़ गए हैं कि कुछ समय के बेरगामो सीमेट्री को बंद करना पड़ गया है। एंजेलोनी ने कहा कि चर्चों को कुछ समय के लिए मुर्दाघर के तौर पर प्रयोग किया जा रहा है। जियोकोमो एंजेलोनी ने अपने स्‍टाफ का शुक्रिया भी अदा किया है कि सभी लोग इस दुखद हालातों के बीच भी एकजुट होकर काम कर रहे हैं। उन्‍होंने कहा कि कोरोना वायरस की वजह से जो दिन उन्‍हें आज देखना पड़ रहा है, उसकी कल्‍पना भी उन्‍होंने कभी नहीं की थी।

पूरे इटली में लॉकडाउन

पूरे इटली में लॉकडाउन

इटली में इस समय लॉकडाउन की स्थिति है। प्रधानमंत्री ग्‍यूसेपे कोंटे ने सात मार्च को ही देश भर में लॉकडाउन के आदेश दे दिए थे। सरकार ने यह कदम इसलिए उठाया ताकि वायरस देश के दूसरे हिस्‍से में न फैलने पाए। इटली में सार्वजनिक सभाओं को बैन कर दिया गया है, सभी फुटबॉल मैचों और बार्स को भी बंद कर दिया गया है। दुकानें और रेस्‍टोरेंट्स भी अगले आदेश तक बंद रहेंगे। चर्च, आर्ट गै‍लेरियों और म्‍यूजियम्‍स पर भी यह आदेश है। सुपरमार्केट्स, मेडिकल स्‍टोर्स और न्‍यूज आउटलेट्स को खुला रखा गया है और सिर्फ जरूरी कामों के लिए के लिए ही लोगों को घर से बाहर निकलने की मंजूरी दी गई है।

पुलिस से साइन कराना होगा डॉक्‍यूमेंट

पुलिस से साइन कराना होगा डॉक्‍यूमेंट

अगर लोगों को स्‍वास्‍थ्‍य कारणों से बाहर निक‍लना है तो फिर उन्‍हें गृह मंत्रालय की तरफ से दिए गए एक स्‍पेशल फॉर्म को वेबसाइट से डाउनलोड करना होगा। साथ ही इस पर पुलिस के साइन भी होने चाहिए। अगर ऐसा नहीं हुआ तो फिर पुलिस को अधिकार दिए गए हैं कि वो लोगों को गिरफ्तार कर उनसे जुर्माना वसूले। इटली में शुक्रवार को पुलिस ने 7,000 से ज्‍यादा लोगों को गिरफ्तार किया है। इन सभी लोगों के पास बाहर आने के लिए जरूरी पेपर नहीं होने की वजह से गिरफ्तार किया गया है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Funeral is taking place in Coronavirus hit Italian town after every 30 minutes.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X