• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

भारतीय राजदूतों की तारीफ पर भड़का पाकिस्तानी विदेश विभाग, इमरान खान को बताया नासमझ प्रधानमंत्री

|

इस्लामाबाद, मई 07: इमरान खान को लेकर पाकिस्तानी राजदूतों में भारी गुस्सा भर गया है और ये गु्स्सा अब लगातार बढ़ता जा रहा है। ऐसा किसी भी देश के इतिहास में शायद पहली बार होगा जब अपने ही देश के प्रधानमंत्री को राजदूत नामसझ कह दें। अलग अलग देशों में मौजूद पाकिस्तानी राजदूतों ने प्रधानमंत्री इमरान खान को नासमझ प्रधानमंत्री कहा है। एक राजदूत ने ट्वीट कर ये भी कहा कि 'इमरान खान को किसी भी मुद्दे की समझ नहीं है और किसी भी मसले पर बोलने से पहले इमरान खान को पहले होमवर्क कर लेना चाहिए और मुद्दे पर पढ़ लेना चाहिए'। पाकिस्तानी राजदूत अपने ही प्रधानमंत्री पर इसलिए भड़क गये हैं क्योंकि इमरान खान ने 2 दिन पहले कहा था कि पाकिस्तानी राजदूतों को भारतीय राजदूतों से सीखना चाहिए।

इमरान पर भड़के राजदूत

पाकिस्तानी अखबार डॉन से बात करते हुए एक पाकिस्तानी राजदूत ने कहा कि 'प्रधानमंत्री का बयान उत्साह को तोड़ने वाला है। इसमें कोई शक नहीं कि प्रवासी पाकिस्तानियों को काफी दिक्कतें होती हैं लेकिन प्रधानमंत्री इमरान खान को जो दिखाया गया है उससे पता चलता है कि उन्हें मुद्दों की जानकारी ही नहीं है। इमरान खान मुद्दे को समझे बिना राजनयिकों को दोषी ठहराने लगे जबकि उन्हें बोलने से पहले मसले के बारे में पढ़ लेना चाहिए था।' डॉन ने लिखा है कि 'कई पाकिस्तानी राजनयिक सिर्फ अनुशासन की वजह से नहीं बोले लेकिन उनके अंदर प्रधानमंत्री को लेकर काफी गुस्सा है'।

पूर्व राजनयिकों ने निकाली भड़ास

इमरान खान के बयान पर ज्यादातर मौजूदा राजनयिक तो ऑफिसियल अनुशासन की वजह से चुप हैं लेकिन पूर्व राजनयिकों ने पाकिस्तानी प्रधानमंत्री को आड़े हाथों लेना शुरू कर दिया है। पूर्व राजनयिकों ने ट्वीटर पर इमरान खान को कोसना शुरू कर दिया है। पाकिस्तान के पूर्व राजनयिक तहमीना जंजुआ ने कहा कि 'विदेश मंत्रायल की अस्वाभाविक आलोचना को लेकर मन काफी व्यथित है जबकि असलियत ये है कि पाकिस्तानी दूतावासों को काम करने के संसाधनों की कमी से जूझना पड़ता है। बिना किसी की भूमिका को समझे उसपर टिप्पणी करना सही नहीं होता है और ये बात लोगों को समझनी चाहिए कि हर चीज आपके नियंत्रण में नहीं होता है'

सरकारों में खराबी

वहीं, पूर्व राजनयिक सलमान बसीर ने कहा कि 'पाकिस्तानी विदेश विभाग ने हमेशा अपना काम सही से किया है, जो तारीफ और उत्साहवर्धन के काबिल हैं। सार्वजनिक जीवन में शामिल लोगों द्वारा आलोचना से मनोबल टूटता है। ये पाकिस्तानी सरकार की सिस्टम में खराबी है, जिसे सही किए जाने की जरूरत है'। इसके साथ ही कई और पाकिस्तानी पूर्व राजदूतों ने प्रधानमंत्री के बयान पर घोर आपत्ति जताई है। वहीं, अखबार डॉन के मुताबिक, मौजूदा समय में काम कर रहे कई एंबेसडर ने प्रधानमंत्री के बयान पर आपत्ति जताई है। डॉन ने लिखा है कि 'पाकिस्तानी राजनयिकों और पाकिस्तान सरकार के बीच दूरी बढ़ती जा रही है और ऐसा पहली बार हुआ है जब देश का प्रधानमंत्री सार्वजनिक तौर पर अपने ही विदेश विभाग के अधिकारियों की आलोचना करना शुरू कर दे'

भारतीय राजदूतों की तारीफ

भारतीय राजदूतों की तारीफ

आपको बता दें कि इमरान खान ने भारतीय राजदूतों की तारीफ करते हुए पाकिस्तानी राजदूतों को काफी फटकार लगाई थी। इमरान खान ने अपने राजदूतों से कहा था कि पाकिस्तानी लोगों की मदद करने के लिए वो औपनिवेशिक मानसिकता को छोड़ें और विदेशों में रहने वाले पाकिस्तानियों के साथ अच्छा सलूक करें'। इमरान खान ने भारतीय दूतावासों की तारीफ करते हुए कहा था कि 'भारतीय दूतावास अपने लोगों की मदद के लिए काफी मेहनत करते हैं और दुनियाभर में मौजूद भारतीय दूतावास भारत में विदेश निवेश लाने में काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, जबकि पाकिस्तानी दूतावास के अधिकारी अपने ही लोगों के साथ दुर्वव्यहार करते हैं।

टीवी होस्ट से शादी करेंगी न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जेसिंडा अर्डन, 2 साल की है बेटीटीवी होस्ट से शादी करेंगी न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जेसिंडा अर्डन, 2 साल की है बेटी

English summary
Pakistan Foreign Department officials and ambassadors have flared up for his remarks on Pakistani Prime Minister Imran Khan. Imran Khan praised the Indian ambassadors.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X