• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

सबसे अधिक टीकाकरण करने के बाद भी इस देश में तेजी से बढ़ रहे कोरोना के मामले, विशेषज्ञों की बढ़ी चिंता

|

विक्टोरिया, 11 मई। सेशेल्स, जिसने किसी भी अन्य देश की तुलना में कोविड-19 के खिलाफ अपनी जनसंख्या का अधिक टीकाकरण किया है, इसके बावजूद वहां 7 मई तक एक सप्ताह के अंदर कोरोना के सक्रिय मामले दोगुने से अधिक हो गए हैं, जो कि बेहद चिंता का विषय है। इससे स्वस्थ्य विशेषज्ञों में यह चिंता होने लगी है कि क्या टीकाकरण कोरोना को फैलने से रोकने में मदद कर रहा है या नहीं।

corona

हालांकि इस घटना को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा है कि मामले का विस्तृत मूल्यांकन किए बिना अभी कुछ भी नहीं कहा जा सकता है और हम स्थिति का मूल्यांकन करने के लिए काम कर रहे हैं। डब्ल्यूएचओ के टीकाकरण, टीके और जैविक विभाग की निदेशक केट ओ'ब्रायन ने कहा सोमवार को कहा कि संस्था स्थिति का आकलन करने के लिए सेशेल्स से लगातार संपर्क बनाए हुए है। उन्होंने कहा कि हम यह देखने की कोशिश कर रहे है कि ऐसा वायरस के नए स्ट्रेन के कारण तो नहीं हुआ। इस मामले को गंभीरता से लिया जा रहा है। अफ्रीका के पूर्वी तट से दूर द्वीपसमूह के स्वास्थ्य मंत्रालय ने सोमवार को कहा कि पिछले सप्ताह से कोरोना के सक्रिय मामले दोगुने से भी ज्यादा (2,486) हो गए हैं और गंभीर बात ये है कि इनमें से 37% लोगों ने कोरोना की दोनों डोज ले ली थीं। एक अन्य हिंद महासागर द्वीप राष्ट्र मालदीव में भी कोरोना के मामले बढ़ रहे है। मालदीव एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल है।

यह भी पढ़ें: IIT कानपुर के सहायक कुलसचिव ने फांसी लगाकर जान दी, बेटे के कोरोना पॉजिट‍िव होने से थे परेशान

सेशेल्स ने कहा कि जिन लोगों को कोरोना के दोनों टीके लगे हैं उनमें से 57% लोगों को सिनोफॉर्म वैक्सीन दी गई है जबकि अन्य को कोविशील्ड का टीका दिया गया है। मालूम हो कि कोविशील्ड भारत में निर्मित वैक्सीन है जिसे ऐस्ट्राजेनेका के लाइसेंस के तहत बनाया गया है। सेशेल्स समाचार एजेंसी ने विदेश मामलों और पर्यटन के लिए मंत्री का हवाला देते हुए कहा कि 8 मई तक कोविड का टीकाकरण करने वाले किसी भी व्यक्ति की मृत्यु नहीं हुई थी।

पिछले हफ्ते जैसे ही कोरोना के मामलों में वृद्धि हुई सेशेल्स ने तमाम स्कूल, खेल कार्यक्रमों पर पाबंदी लगा दी।
सेशेल्स की आबादी 1 लाख से भी कम है और उसने अपनी पूरी आबादी का टीकाकरण करने के लिए तेजी से अभियान चलाया, ताकि सभी पर्यटन स्थलों को दोबारा खोला जा सके और देश की अर्थव्यवस्था को गति मिल सके।

डार्टमाउथ जिसेल स्कूल ऑफ मेडिसिन में दवा की क्लीनिकल ​​प्रोफेसर डैनियल लूसी ने पिछले सप्ताह एक ब्लॉग में कहा था कि अप्रैल में सेशेल्स में संक्रमण के लिए डिजिटल सीक्वेंसिंग पर डेटा अभी तक उपलब्ध नहीं हैं।

उन्होंने आगे कहा कि कोरोनावायरस का B.1.351 वेरिएंट पिछले साल सबसे पहले दक्षिण अफ्रीका में मिला था। यह फरवरी में सेशेल्स में भी पाया गया और इस वेरिएंट के खिलाफ एस्ट्राजेनेका की कोविशील्ड वेक्सीन को कम प्रभावी पाकर दक्षिण अफ्रीका ने इसका उपयोग रोक दिया था। उन्होंने आगे कहा कि संक्रमण की गंभीरता के डेटा और जेनेटिक सीक्वेंसिंग के जरिए सिनोफार्म, कोविशील्ड और कोरोना से संक्रमित व्यक्ति जिनका अभी टीकाकरण नहीं हुआ है, उनमें तुलना की जा सकती है।

वहीं मालदीव में भी प्रति 1 लाख लोगों में पिछले कुछ दिनों में कोरोना के मामले काफी तेजी से बढ़े हैं। वहां 9 मई तक सक्रिय मामले 4,978 से बढ़कर 9,423 हो गए हैं। 8 मई तक मालदीव में 3 लाख लोगों को कम से कम कोरोना की पहली डोज दी जा चुकी है जबकि 35% आबादी को दोनों टीके लग चुके हैं। मालदीव में टीकाकरण के लिए सिनोफार्म और कोविशील्ड वैक्सीन का उपयोग हो रहा है।

English summary
Even after vaccination, cases of corona are increasing rapidly in Seychelles
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X