• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts
Oneindia App Download

Elon Musk जैसी हस्तयों का मौत के बाद भी होगा वर्चस्व, कंपनी को दे सकेंगे सलाह, खास तकनीकी पर हो रहा काम

साइंस और टेक्नोलॉजी के नए युग में अब असंभव नाम के शब्द को निरर्थक साबित कर दिया है। अमेरिका की मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी के वैज्ञानिक एक खास तकनीकी पर काम कर रहे हैं।
Google Oneindia News

AI Digital Immorality: साइंस और टेक्नोलॉजी के नए युग में अब असंभव नाम के शब्द को निरर्थक साबित कर दिया है। अमेरिका की मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (Massachusetts Institute of Technology) के वैज्ञानिक एक खास तकनीकी पर काम कर रहे हैं। अगर नई टेक्नोलॉजी पर काम सफल हो जाता है दुनिया के टॉप रिच मैन्स यानी एलन मस्क (Elon Musk) या फिर सर एलेक्स फर्ग्यूसन जैसे दुनिया की सबसे बड़े मालिक मौत के बाद भी अपनी कंपनी की ग्रोथ में सहायक हो सकेंगे। यानी कि मरने के बाद भी कंपनी पर उनका वर्चस्व कायम रहेगा। चलिए जानते हैं कि वो कौन सी खास तकनीकी है जिस पर काम हो रहा है...

क्या है खास तकनीकी?

क्या है खास तकनीकी?

AI Digital Immorality मृत्यु के बाद एलोन मस्क जैसे मालिकों के दबदबा उनकी मौत के बाद भी कायम रख सकता है। मालिक मौत के बाद भी अपनी कंपनियों के नियंत्रण में रख सकेंगे। इसलिए साइंटिस्ट्स एआई तकनीकी की खोज कर रहे हैं। इस खास तकनीकी के लिये लोगों को फुटप्रिंट्स तैयार किए जा रहे हैं।

मौत के बाद लंबे समय तक रहेंगे जीवित

मौत के बाद लंबे समय तक रहेंगे जीवित

कंपनियों को आगे बढ़ाने में एक मालिक की क्या भूमिका होती है वो हर कोई जानता है। टॉप कंपनियों में इसका दायरा और अधिक बढ़ जाता है। कंपनियां किसी की कीमत पर नुकसान नहीं चाहतीं ऐसे में उन्हें अगर अपने दिवंगत मालिक के आइडिया का पता चलते जाए तो डूबती कंपनी को बचाने में काफी मदद मिल सकती है। अमेरिकी यूनिवर्सिटी मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (MIT) के साइंटिस्ट्स इसी बात को ध्यान में रखते हुए AI Digital Immorality तकनीकी के जरिए एक खास इनोवेशन पर कार्य कर रहे हैं। ये प्रयोग सफल होने पर कंपनी मृत प्रबंधकों या मालिकों का कंपनी पर उनकी मौत के बाद भी वर्चस्व कायम रह सकता है।

प्रोजेक्ट के लिए तैयार हो रहे फुटप्रिंट्स

प्रोजेक्ट के लिए तैयार हो रहे फुटप्रिंट्स

अमेरिका की मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (MIT) अपने खास प्रोजेक्ट पर कार्य कर रही है। साइंस्टिस्ट्स इस दिशा में काफी आगे बढ़ चुके हैं। प्रोजेक्ट के परीक्षण के लिए 25 लोगों के डिजिटल फुटप्रिंट्स के जरिए किया जा रहा है।

अमरिका की यूनिवर्सिटी कर रही रिसर्च

अमरिका की यूनिवर्सिटी कर रही रिसर्च

इससे पहले Techies ने अपने प्रियजनों के डिजिटल संस्करण बनाने की तकनीकी पर काम किया था। जिसके तहत मरने के बाद भी लोग लंबे समय तक जीवित रह सकते हैं है। इसके तहत एलोन मस्क या यहां तक ​​कि सर एलेक्स फर्ग्यूसन जैसे मालिकों को उनके मरने के बाद प्रमुख फैसलों पर सलाह लेने के लिए कहा जा सकता है। एमआईटी के साइंटिस्ट होसैन रहनामा ने सोशल मीडिया पर लोगों द्वारा छोड़ी जाने वाली बड़ी मात्रा में डेटा के आधार पर "Augmented Eternity" परियोजना शुरू है।

'भेड़िए की शक्ल' का इंसान! डर जाते हैं बच्चे, दुनिया के 50 लोगों में गिनती, जानिए क्यों बना ऐसा चेहरा'भेड़िए की शक्ल' का इंसान! डर जाते हैं बच्चे, दुनिया के 50 लोगों में गिनती, जानिए क्यों बना ऐसा चेहरा

Comments
English summary
Elon Musk like rich personality charge forever by AI Digital Immorality scientists works on
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X